CM योगी बोले, '500 वर्ष पुराने अयोध्या विवाद को SC ने महज 45 मिनट में किया खत्म'

इससे पहले चार सौ करोड़ से बनी मुंडेरवा चीनी मिल का योगी आदित्यनाथ ने पूजा-अर्चना के बाद नए पेराई सत्र का शुभारंभ किया. 

CM योगी बोले, '500 वर्ष पुराने अयोध्या विवाद को SC ने महज 45 मिनट में किया खत्म'
सीएम योगी ने कहा कि 500 साल पुराने अयोध्या के रामजन्मभूमि विवाद का 45 मिनट में निर्णय देने के लिए सुप्रीम कोर्ट के आभारी है.

बस्ती: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) गुरुवार को बस्ती के दौरे पर गए. इस दौरान सीएम योगी आदित्यनाथ ने एक जनसभा को संबोधित करते हुए अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के फैसले का आभार जताया. सीएम योगी ने कहा कि 500 साल पुराने अयोध्या के रामजन्मभूमि विवाद (Ayodhya Case) का 45 मिनट में निर्णय देने के लिए सुप्रीम कोर्ट के आभारी है. सुप्रीम कोर्ट ने इतने बड़े विवाद को मात्र 45 मिनट में खत्म कर दिया. सीएम योगी ने कहा कि यह लोकतंत्र और न्यायपालिका की शक्ति को दर्शाता है. वहीं, इससे पहले चार सौ करोड़ से बनी मुंडेरवा चीनी मिल का योगी आदित्यनाथ ने पूजा-अर्चना के बाद नए पेराई सत्र का शुभारंभ किया. साथ ही 100 करोड़ की 100 परियोजनाओं का अनावरण किया.

सीएम योगी आदित्यनाथ ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले की तारीफ करते हुए कहा कि यह लोकतंत्र और न्यायपालिका की ही ताकत है, जो 500 वर्ष पुराने रामजन्मभूमि विवाद का 45 मिनट में निपटारा कर दिया. इस दौरान सीएम योगी ने पूर्ववर्ती राज्य सरकारों पर निशाना साधा. सीएम ने कहा कि पुलिस भर्ती पहले की सरकारों ने झोला लेकर पैसे बटोरने का काम करती थीं. बीजेपी सरकार में ट्रांसपेरेंसी के माध्यम से 49 हजार पुलिस जवानों की भर्ती हुई है. उन्होंने कहा कि चीनी मिल से यहां के लोगों को रोजगार मिलेगा और पलायन रुकेगा. 

उन्होंने कहा कि 70 वर्षों में केवल 12 मेडिकल कॉलेज देश में थे. बीजेपी सरकार ने 30 महीने में 14 नए मेडिकल कॉलेजों और 7 एम्स बनाने की योजना बनाई है. उन्होंने कहा कि 2007 से अब तक 21 चीनी मिल बंद हो चुकी थीं. हमारी सरकार 4 नई चीनी मिल का शुभारम्भ कर रही है. उन्होंने कहा कि हर दो जनपदों के बीच मेडिकल कॉलेज की स्थापना की हमारी योजना है. इसी के साथ उन्होंने कहा कि बस्ती में राम जानकी मार्ग का निर्माण होगा. इसके चलते जनकपुर का रास्ता 4 घंटे में तय होगा. उन्होंने कहा कि यह हमारी विरासत है.

(इनपुट-राघवेंद्र)