मंदिर को सांप्रदायिकता का केंद्र मानने वाले, आज मंदिरों के चक्कर लगा रहे हैं: योगी
Advertisement
trendingNow0/india/up-uttarakhand/uputtarakhand509823

मंदिर को सांप्रदायिकता का केंद्र मानने वाले, आज मंदिरों के चक्कर लगा रहे हैं: योगी

योगी आदित्यनाथ ने कहा, 'कांग्रेस पार्टी ही राम मंदिर निर्माण में सबसे बड़ी बाधक रही है. कांग्रेस नेता वकील के रूप में खड़ा होकर मामले की सुनवाई 2019 के बाद करने की पैरवी करते नजर आते हैं.' 

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो)

गोरखपुर/वराणसी: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को अपने गृह जनपद गोरखपुर में एक चुनावी जनसभा को संबोधित करने के बाद प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र वाराणसी पहुंचे. उन्होंने कहा कि जो लोग मंदिर को सांप्रदायिकता का केंद्र मानते थे. आज वह मंदिरों के चक्कर लगा रहे हैं.

योगी ने गोरखपुर के नुमाइश मैदान में कहा, 'कांग्रेस पार्टी ही राम मंदिर निर्माण में सबसे बड़ी बाधक रही है. कांग्रेस नेता वकील के रूप में खड़ा होकर मामले की सुनवाई 2019 के बाद करने की पैरवी करते नजर आते हैं.' उन्होंने कहा कि इनकी सरकारों में आतंकियों को बिरयानी खिलाई जाती रही है, जबकि मोदी सरकार ने एअर स्ट्राइक करके आतंकियों की कमर तोड़ दी है.

योगी ने वाराणसी में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधा. उन्होंने गरीबों को 72 हजार रुपये सलाना देने की कांग्रेस की योजना पर भी सवाल उठाया. उन्होंने कहा कि जो वादे पूरे नहीं हो सकते, वही कांग्रेस करती है. इंदिरा गांधी ने गरीबी हटाओ का नारा दिया था. गरीबी नहीं हटी. अब राहुल 72 हजार रुपये की बात कर रहे हैं."

उन्होंने कहा, 'समाजवादी पार्टी (सपा) सरकार के समय कितने गरीबों को आवास मिले, यह आप जानते हैं. हमने 23 लाख गरीबों को आवास दिया. हमने जाति नहीं देखी, हमने गरीब को, किसान को, सभी को बिना किसी भेदभाव के योजनाओं का लाभ दिया. 2012 में सपा सरकार बनी तो सबसे पहले राम मंदिर पर हमला करने वालों से मुकदमे हटाए गए.' 

Trending news