प्रियंका गांधी के ट्वीट पर योगी सरकार का पलटवार, आंकड़े जारी कर बताया घटा है अपराध

यूपी के सूचना सलाहकार शलभ मणि त्रिपाठी ने अपराध के आंकड़े जारी कर दावा किया कि जनवरी से दिसंबर 2016 के बीच पूरे साल में 4679 हत्याएं हुई, जबकि योगी सरकार में ये घटकर 3294 रह गई हैं. 

प्रियंका गांधी के ट्वीट पर योगी सरकार का पलटवार, आंकड़े जारी कर बताया घटा है अपराध
आंकड़ों के मुताबिक साल-दर साल योगी सरकार में अपराध घटे हैं.

लखनऊ: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) के सत्ता संभालने के बाद उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के अपराध में भारी कमी आई है. यूपी के सूचना सलाहकार शलभमणि त्रिपाठी ने अपराध के आंकड़े जारी कर दावा किया कि जनवरी से दिसंबर 2016 के बीच पूरे साल में 4679 हत्याएं हुई, जबकि योगी सरकार में ये घटकर 3294 रह गई हैं. आंकड़ों के मुताबिक साल-दर साल योगी सरकार में अपराध घटे हैं.

दरअसल, मंगलवार सुबह प्रयंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने एक ट्वीट कर यूपी में बढ़ते अपराध पर योगी सरकार को घेरा था. प्रियंका गांधी ने ट्वीट करते हुए लिखा ''उन्नाव मामले में सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने निर्देश दिया था कि 45 दिन में ट्रायल पूरा किया जाए. 80 दिन बीत चुके हैं. अभी तक ट्रायल पूरा नहीं हुआ''. प्रियंका गांधी ने आगे लिखा कि ''महिलाओं के खिलाफ अपराध के मामलों में यूपी सबसे ऊपर है. अपराधियों के खिलाफ मामले ही नहीं दर्ज होते, और अगर मामला रसूख वाले भाजपा विधायक का है तो पहले FIR में देरी होती है, फिर गिरफ्तारी में और अब ट्रायल लटका पड़ा है'' 

प्रियंका गांधी के इस ट्वीट का जवाब भी सीएम के सूचना सलाहकार ने ट्वीट कर दिया. साथ ही आंकड़े भी जारी किये गये. सरकार की तरफ से जारी आंकड़ों पर गौर करें तो योगी सरकार के आने के बाद यूपी में क्राइम लगातार कम हुए हैं. समाजवादी पार्टी की सरकार के वक्त एक साल में (वर्ष 2016) हत्या, डकैती, लूट, बलात्कार और दहेज मृत्यु के 14,980 मामले दर्ज किए गए थे. जबकि योगी सरकार में जनवरी से लेकर 15 नवंबर 2019 तक 10,064 मामले दर्ज हुए हैं. सपा सरकार की तुलना में भाजपा सरकार में करीब 5 हजार मामले कम हुए हैं.

इन आंकड़ों के जरिए सरकार ने प्रियंका को आईना दिखाने की कोशिश की है, लेकिन सच ये भी है कि यूपी की योगी सरकार प्रियंका के ट्वीट को लेकर कितनी गंभीर है. इससे पहले प्रियंका गांधी ने मैनपुरी नवोदय विद्यालय मामले पर भी सरकार को घेरा था. पहले प्रियंका गांधी वाड्रा ने सीएम योगी आदित्यनाथ को कार्रवाई के लिए पत्र लिखा था. पत्र के बाद सीएम योगी ने ताबड़तोड़ कार्रवाई की और मैनपुरी के डीएम व एसपी को हटा दिया.