मरीज बेड तो हॉस्पिटल ऑक्सीजन को लेकर हो रहे परेशान, शिकायतों पर सख्त हुई योगी सरकार

कोरोना संक्रमण के मामले बड़ी तेजी से बढ़ रहे हैं, जिससे कि अस्पतालों में अव्यवस्थाओं की शिकायतें भी सामने आ रही हैं. इन शिकायतों पर योगी सरकार ने सख्ती दिखाई है.

मरीज बेड तो हॉस्पिटल ऑक्सीजन को लेकर हो रहे परेशान, शिकायतों पर सख्त हुई योगी सरकार
फाइल फोटो.

राहुल मिश्रा/गाजियाबाद: अस्पतालों में बेड ना मिलने की वजह से लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है, लोग अपने मरीज को लेकर एक अस्पताल से दूसरे अस्पताल की दौड़ लगा रहे हैं. जहां भी उन्हें आस जगती है वहीं अपने मरीज को लेकर पहुंच जाते हैं. गाजियाबाद के इंदिरापुरम के गुरुद्वारे में जब लोगों को जानकारी मिली कि यहां पर ऑक्सीजन सिलेंडर मिलता है तो लोग दूर-दूर से यहां पहुंच रहे हैं.

गाजियाबाद के वैशाली के रहने वाले विनोद की बेटी कोरोना पॉजिटिव हो गई हैं. उन्होंने सभी अस्पतालों को फोन कर लिया लेकिन कहीं पर भी बेड नहीं मिला. उनकी बेटी का ऑक्सीजन लेवल कम हो गया है, इसलिए वह भागकर इंदिरापुरम के गुरुद्वारे पर पहुंचे. जहां उन्हें गुरुद्वारे की तरफ से ऑक्सीजन दिया गया है, विनोद अकेले नहीं है. 

किसी अस्पताल ने मरीज को लौटाया तो खैर नहीं, योगी सरकार के ये हैं सख्त आदेश

गाजियाबाद के ही रहने वाले राहुल अपने दोस्त को लेकर तमाम अस्पतालों के चक्कर काटे लेकिन कहीं पर भी बेड नहीं मिला. जब दोस्त की हालत ज्यादा गंभीर होने लगी और उसका ऑक्सीजन लेवल कम होने लगा तो वे गुरुद्वारे पर पहुंचे जहां उन्हें गुरुद्वारे की तरफ से ऑक्सीजन दिया गया. ऐसे ही कई लोग हैं जो अलग-अलग जगह से यहां पहुंच रहे हैं. इस आस में की उन्हें ऑक्सीजन सिलेंडर मिल जाए और उनके मरीज की जान बच जाए.

हर जिले में लगेंगे ऑक्‍सीजन प्‍लांट, ये है यूपी समेत देशभर के लिए 'मेगा प्लान'

इंदिरापुरम के गुरुद्वारे की  पहल
गुरुद्वारे के द्वारा यहां पर डॉक्टरों और सेवादारों की टीम रखी गई है यह टीम जो भी लोग यहां पहुंचते हैं उनका जांच करती है जिन मरीजों के ऑक्सीजन लेवल कम होता है उनको ऑक्सीजन सिलेंडर के जरिए ऑक्सीजन दी जाती है , गंभीर मरीजों को अस्पतालों के लिए रेफर कर दिया जाता है.

किसी अस्पताल ने मरीज को लौटाया तो खैर नहीं, योगी सरकार के ये हैं सख्त आदेश

ऑक्सीजन सप्लाई करने वाली कंपनी पर लगे आरोप
एक ओर जहां मरीज ऑक्सीजन को लेकर परेशान हैं. वहीं दूसरी ओर ऑक्सीजन सप्लाई करने वाली कई कंपनियों पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं. नोएडा सेक्टर 30 स्थित चाइल्ड पीजीआई ने ऑक्सीजन सप्लाई करने वाली कंपनी के खिलाफ  सेक्टर 20 थाने में तहरीर दी है. जिसके बाद जिला कलेक्टर सुहास एलवाई ने संबंधित कंपनी के द्वारा करार के तहत ऑक्सीजन सप्लाई नहीं किए जाने के कारण डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट के उल्लंघन के तहत नोटिस जारी किया गया. वहीं पुलिस ने जांच कर कार्रवाई का आश्वासन दिया है. 
आगरा 

आगरा में निजी अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी का नोटिस चस्पा
वहीं आगरा में एक निजी अस्पताल ने ऑक्सीजन की कमी के बाद नोटिस चस्पा किए. और प्रशासन से जल्द मदद की गुहार लगाई है. नोटिस में कहा गया कि बिना ऑक्सीजन मरीजों का इलाज कैसे किया जाए. 

शिकायतों पर सख्त हुई योगी सरकार
कोरोना संक्रमण के मामले बड़ी तेजी से बढ़ रहे हैं, जिससे कि अस्पतालों में अव्यवस्थाओं की शिकायतें भी सामने आ रही हैं. इन शिकायतों पर योगी सरकार ने सख्ती दिखाई है. अस्पतालों को सरकार ने सख्त आदेश दिए हैं कि किसी भी मरीज को कोई भी सरकारी अस्पताल वापस नहीं लौटा सकता, अगर सरकारी अस्पताल में बेड नहीं है तो निजी अस्पताल में भेजा जाएगा और निजी अस्पताल में उसका सारा खर्च आयुष्मान भारत के दर पर उत्तर प्रदेश सरकार वहन करेगी.

WATCH LIVE TV