इंडोनेशिया के रामलीला दल के कलाकारों से मिले योगी, कहा, 'भगवान राम सारी दुनिया में पूजनीय'

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने सरकारी आवास पर इण्डोनेशिया से आए हुए रामलीला दल के कलाकारों से भेंट के दौरान कहा, 'पांच प्रतिशत हिन्दू आबादी और 86 प्रतिशत मुस्लिम आबादी का देश इण्डोनेशिया धर्म के रूप में इस्लामिक है परन्तु उसकी संस्कृति रामायण पर आधारित है क्योंकि इण्डोनेशिया के सभी लोग अपना पूर्वज भगवान श्रीराम को ही मानते हैं.'

इंडोनेशिया के रामलीला दल के कलाकारों से मिले योगी, कहा, 'भगवान राम सारी दुनिया में पूजनीय'
योगी आदित्यनाथ ने कहा, 'हम देख रहे हैं कि आज इण्डोनेशिया सभी क्षेत्रों में नई ऊचाईयां प्राप्त कर रहा है.' (file)

लखनऊ : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को कहा कि भगवान राम सारी दुनिया में पूजनीय हैं और ये संदेश हमें इण्डोनेशिया, मलेशिया जैसे मुस्लिम देशों से स्पष्ट रूप से प्राप्त होता है. योगी ने अपने सरकारी आवास पर इण्डोनेशिया से आए हुए रामलीला दल के कलाकारों से भेंट के दौरान कहा, 'पांच प्रतिशत हिन्दू आबादी और 86 प्रतिशत मुस्लिम आबादी का देश इण्डोनेशिया धर्म के रूप में इस्लामिक है परन्तु उसकी संस्कृति रामायण पर आधारित है क्योंकि इण्डोनेशिया के सभी लोग अपना पूर्वज भगवान श्रीराम को ही मानते हैं.'

और क्या कहा सीएम ने...
उन्होंने कहा, 'हम देख रहे हैं कि आज इण्डोनेशिया सभी क्षेत्रों में नई ऊचाईयां प्राप्त कर रहा है. धार्मिक असहिष्णुता से ऊपर उठकर विश्व को इस मॉडल को अपनाना होगा, जिससे सारी दुनिया में शन्ति स्थापित हो सकती है. भगवान राम सारी दुनिया में पूजनीय हैं. यह संदेश हमें इण्डोनेशिया, मलेशिया जैसे मुस्लिम बहुल तथा थाईलैण्ड, कम्बोडिया जैसे बौद्ध धर्म बाहुल्य देशों से स्पष्ट रूप से प्राप्त होता है.' 

इण्डोनेशिया का पांच सदस्यीय दल भारत आया है
उल्लेखनीय है कि भारतीय सांस्कृतिक सम्बन्ध परिषद, भारत सरकार द्वारा विगत तीन वर्षों से अन्तरराष्ट्रीय रामलीला का मंचन दिल्ली में कराए जाने के बाद इन दलों को अन्य प्रदेशों में भी भेजा जाता है. वर्ष 2015 में फीजी और कम्बोडिया के रामलीला दलों को लखनऊ और अयोध्या भेजा गया था.

वर्ष 2016 में थाईलैण्ड के रामलीला दल ने लखनऊ और अयोध्या में अपनी कला का प्रदर्शन किया था. इस वर्ष इण्डोनेशिया का पांच सदस्यीय दल 13 से 15 सितम्बर, 2017 तक रामलीला मंचन के लिए लखनऊ और अयोध्या आया है. जकार्ता बाली से आए दल के मुखिया अगुंग राई के साथ केतुक सुपर्णा, अपितु अस्थाना, वयम अनरवा, हिर अशुभ तथा मो. इक्संग के साथ इण्डोनेशियाई दूतावास के सोशल कल्चरल डिविजन के अधिकारी भी मुलाकात के दौरान उपस्थित थे.