ZEE जानकारीः हमारे देश में चमत्कार के नाम पर लोगों का धर्म बदला जा रहा है

पूर्वांचल में बहुत तेज़ी से लोग, अपना धर्म बदल रहे हैं. उत्तर प्रदेश के करीब 15 ज़िलों में बहुत संगठित तरीके से झूठ, चमत्कार और अंधविश्वास के हथियार का इस्तेमाल करके गांव वालों को ईसाई बनाया जा रहा है .

ZEE जानकारीः हमारे देश में चमत्कार के नाम पर लोगों का धर्म बदला जा रहा है

चमत्कार को नमस्कार करने की आदत भारत के dna में है. चमत्कार, दुनिया का सबसे पुराना हथियार है जिसकी मदद से किसी को भी प्रभावित करके अपना स्वार्थ सिद्ध किया जा सकता है . आज का युग विज्ञान का युग है लेकिन आज भी हमारे देश में चमत्कार के नाम पर लोगों का धर्म बदला जा रहा है... और उन्हें ईसाई बनाया जा रहा है . ये भारत के DNA से जुड़ी हुई सबसे बड़ी ख़बर है. और इस ख़बर का केंद्र है, उत्तर प्रदेश का पूर्वांचल इलाक़ा. सबसे बड़ी बात ये है कि एक हिंदू बाहुल देश में.. कोई भी व्यक्ति अपना धर्म परिवर्तन करने के लिए कैसे तैय़ार हो जाता है? ऐसी कौन सी मजबूरियां होती हैं या ऐसा कौन सा लालच होता है. इस देश की मूल संस्कृति, हिंदू आस्थाओं से जुड़ी हुई. ज़रा सोचिए एक ऐसा व्यक्ति जिसने हिंदू परिवार में जन्म लिया है. जिसकी जड़ें हिंदू परंपराओं से सैकड़ों वर्षों से जुड़ी हुई हैं वो अपना धर्म क्यों बदल रहा है ? 

आखिर उसे क्या चाहिए... क्या इसके पीछे सिर्फ धार्मिक कारण हैं ? क्या उसे मोक्ष और शांति की तलाश है? या फिर इसके पीछे आर्थिक कारण है ? आज हमें इन सवालों की जड़ में भी जाना पड़ेगा

पूर्वांचल में बहुत तेज़ी से लोग, अपना धर्म बदल रहे हैं. उत्तर प्रदेश के करीब 15 ज़िलों में बहुत संगठित तरीके से झूठ, चमत्कार और अंधविश्वास के हथियार का इस्तेमाल करके गांव वालों को ईसाई बनाया जा रहा है . और उत्तर प्रदेश का जौनपुर ज़िला इस वक्त धर्म परिवर्तन का सबसे बड़ा अड्डा बन गया है. यहां उत्तर प्रदेश के कई ज़िलों से लोग प्रार्थना सभाओं में हिस्सा लेने के लिए आ रहे हैं और कथित चमत्कारों से प्रभावित होकर ईसाई बन रहे हैं . हमारे पास इस मामले में दर्ज की गई FIR की Copy है . इसके अलावा हमारे पास ईसाई धर्म के प्रचार का माध्यम बनने वाली एक पत्रिका भी है जिसमें प्रार्थना से बीमारियों के ठीक होने के दावे किये गए हैं. ये देश में अवैध तरीके से हो रहे धर्म परिवर्तन का सबसे बड़ा सबूत है . आज हम चमत्कारों वाली इस पत्रिका का भी संपूर्ण विश्लेषण करेंगे . 

इस मामले में दर्ज FIR के मुताबिक आरोप है कि लोगों को ईसाई बनाने के लिए हिंदू धर्म के खिलाफ प्रचार किया जा रहा है. मूर्ति पूजा का मज़ाक उड़ाया जा रहा है . हिंदू धर्म के पवित्र ग्रंथों का अपमान किया जा रहा है और हिंदू धर्म को शैतान का धर्म बताया जा रहा है . 

पूर्वांचल में एक बहुत बड़े इलाके में धर्म परिवर्तन की मदद से जनसंख्या के संतुलन को बिगाड़ने की कोशिश हो रही है . Zee News की टीम ने कई गांवों का दौरा करके इस बदलाव को अपने कैमरे में Record किया है . हमारे पास गांव के लोगों के बयान हैं. ये लोग कह रहे हैं कि प्रार्थना सभा में मिलने वाले जादुई तेल और जादुई पानी से Cancer जैसी जानलेवा बीमारियों को दूर किया जा सकता है . जबकि ये पूरी तरह असंभव है . 

उत्तर प्रदेश का पूर्वांचल इलाका... नेपाल की सीमा से जुड़ता है . इसलिए देश की सुरक्षा के लिए भी धर्मांतरण की ये घटनाएं बहुत गंभीर हैं. यहां हम साफ कर देना चाहते हैं कि किसी भी धर्म या समुदाय की आस्था को ठेस पहुंचाना हमारा मकसद नहीं है. मूल रुप से अपना धर्म बदलना कोई अपराध नहीं है. भारत का संविधान भी अपना धर्म बदलने की इजाज़त देता है. लेकिन इसके कुछ नियम कायदे हैं और किसी को बहका कर, या झूठ बोलकर उसका धर्म बदलना अपराध है.

हम सभी धर्मों का सम्मान करते हैं लेकिन यहां आपको ये भी समझना होगा कि ईसा मसीह ने खुद भी जीवन भर झूठ और अंधविश्वास का विरोध किया था. इसलिए उनके नाम पर झूठ और अंधविश्वास फैलाने से बड़ा.. कोई अपराध नहीं हो सकता.

आज भी हमारे देश के गांवों में बहुत बड़ी आबादी या तो पढ़ी लिखी नहीं है.. या फिर उसकी पढ़ाई का स्तर बहुत नीचे है. ग्रामीण भारत की साक्षरता दर 71 प्रतिशत है. और जब लोग ठीक से पढ़े लिखे नहीं होते तो वो बहुत आसानी से चमत्कारों पर भरोसा कर लेते हैं.  मेरे हाथ में ये Magazine है... जो अब काफी पुरानी हो चुकी है . ना जाने कितने लोगों के हाथों में ये Magazine गई होगी . ना जाने कितने ही लोग इस Magazine में लिखे गए झूठ से भ्रमित होकर ईसाई बने होंगे . 

हिंदी भाषा की इस Magazine का नाम है जीवन ज्योति . इसमें Jerusalem में ईसा मसीह के जन्म की कथा का चित्र बनाया गया है . Magazine में आम लोगों के झूठे दावे प्रकाशित किए गए हैं... लोग ये बता रहे हैं कि कैसे ईसाई धर्म की प्रार्थना सभा में जाने से उनकी बीमारियां ठीक हो गई . 

ऐसे ही बहुत सारे दावे इस पत्रिका में किये गए हैं . इस पत्रिका में मरे हुए बच्चे के ज़िंदा होने और पानी से कैंसर के इलाज का बहुत आश्चर्यजनक दावा किया गया है.. ये हम आपको पढ़कर सुनाना चाहते हैं . इस Magazine के Page Number 19 पर लिखा है .

इस Magazine के आखिरी पन्ने पर एक Account Number भी दिया गया है जिसमें लोग अपनी मदद की रकम जमा करा सकते हैं. यानी लोगों को मूर्ख बनाकर, एक संगठित तरीके से उनका धर्म बदला जा रहा है. ज़ी न्यूज़ ने इस ख़बर पर उत्तर प्रदेश के जौनपुर जाकर ग्राउंड रिपोर्टिंग की है. ये ख़बर धर्म का व्यापार करने वाले गैंग को बहुत चुभेगी. 

यहां हम इस विषय से जुड़ी एक बड़ी बात कहना चाहते हैं . क्या आपको पता है किसी भी देश का सबसे बड़ा सुरक्षा कवच क्या होता है ? किसी भी देश का सबसे बड़ा सुरक्षा कवच है... वहां की सभ्यता और संस्कृति . अगर कोई देश सदियों तक गुलाम रहे और इसके बाद भी अगर उसकी सभ्यता और संस्कृति सुरक्षित है तो उसके आज़ाद होने की पूरी संभावना है लेकिन अगर किसी देश की सभ्यता और संस्कृति को ही बदल दिया जाए तो फिर वो देश हमेशा के लिए एक उपनिवेश और गुलाम बन जाता है . 

ये बात आप इतिहास के माध्यम से भी समझ सकते हैं . हमारे देश पर करीब 200 वर्षों तक अंग्रेज़ों का राज रहा . अगर इन 200 वर्षों में सभी लोगों ने अंग्रेज़ों के धर्म और उनकी संस्कृति को स्वीकार कर लिया होता तो भारत कभी भी अंग्रेज़ों की गुलामी से आज़ाद नहीं हो पाता लेकिन हम अपनी संस्कृति और सभ्यता को बचाकर रख पाए, इसीलिए हम 200 वर्ष की गुलामी से भी बाहर निकल गए . ये बात भारत के हर व्यक्ति को याद रखनी चाहिए और इसी नज़रिए से झूठ के आधार पर होने वाले धर्म परिवर्तन को रोकना चाहिए.