भारतीय मूल के अमेरिकी कांग्रेस सदस्य ने सीमा पर वास्तविक अवरोध का समर्थन किया

डोनाल्ड ट्रंप​ अमेरिका-मेक्सिको सीमा पर एक दीवार चाहते हैं जो उनके मुताबिक अमेरिका में अवैध आव्रजकों की आवाजाही रोकने के लिए बेहद जरूरी है

भारतीय मूल के अमेरिकी कांग्रेस सदस्य ने सीमा पर वास्तविक अवरोध का समर्थन किया
जबकि डेमोक्रैट्स इस कदम को 'करदाताओं' के पैसे की बर्बादी करार दे रहे हैं

नई दिल्ली: अमेरिकी कांग्रेस में भारतीय मूल के अमेरिकी डेमोक्रैट राजा कृष्णमूर्ति सीमा सुरक्षा पर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के कदम का समर्थन करते नजर आ रहे हैं. उन्होंने यह कहते हुए ट्रंप के प्रति समर्थन जताया है कि वह मेक्सिको के साथ लगने वाली अंतरराष्ट्रीय सीमा पर एक प्रकार के वास्तविक अवरोध के पक्ष में हैं.

डोनाल्ड ट्रंप अमेरिका-मेक्सिको सीमा पर एक दीवार चाहते हैं जो उनके मुताबिक अमेरिका में अवैध आव्रजकों की आवाजाही रोकने के लिए बेहद जरूरी है. वह इसके लिए 5.2 अरब डॉलर की मांग कर रहे हैं. वहीं डेमोक्रैट्स इस कदम को 'करदाताओं' के पैसे की बर्बादी करार दे रहे हैं.

इस संकट के चलते सरकार का काम-काज ठप पड़ गया है और इस मुद्दे पर गतिरोध व्हाइट हाउस में राष्ट्रपति ट्रंप और कांग्रेस के शीर्ष नेताओं के बीच हुई बैठक के बाद भी नहीं सुलझा. कृष्णमूर्ति ने शुक्रवार को सीएनएन को दिए एक साक्षात्कार में कहा, 'हम कुछ वास्तविक अवरोधक लगाने के लिए तैयार हैं. निश्चित तौर पर सीमा पर पहले से बाड़ लगी हुई है। सीमा पर 700 मील तक बाड़ लगी हुई है'. 

कृष्णमूर्ति ने कहा कि सीमा सुरक्षा पर राष्ट्रपति ट्रंप इतनी बार अपना रुख बदल चुके हैं कि यह समझना बेहद मुश्किल हो गया है कि वह क्या चाहते हैं. उन्होंने कहा, 'निजी तौर पर मेरे हिसाब से हमें अवैध आव्रजन से निपटना होगा और हमारी सीमाओं को सुरक्षित रखना होगा. मेरे हिसाब से सीमा सुरक्षा बढ़ाए जाने को लेकर बहुत समर्थन है. लेकिन दीवार के लिए कोई समर्थन नहीं है'.

(इनपुट-भाषा)