close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

VIDEO: आईटीबीपी जवानों ने लद्दाख में 18 हजार फुट की ऊंचाई पर किया योगाभ्यास

नई दिल्लीः आईटीबीपी जवानों ने लद्दाख में योगाभ्यास किया और पांचवें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के पहले योग के प्रति लोगों को जागरूक करने हेतु एक विशेष योग सत्र का आयोजन 18000 फीट पर स्थित ट्रैक जंक्शन पर योगाभ्यास करके दुनिया को करो योग रहो निरोग का संदेश दिया.

VIDEO: आईटीबीपी जवानों ने लद्दाख में 18 हजार फुट की ऊंचाई पर किया योगाभ्यास
फोटोः @ITBP_official

नई दिल्लीः आईटीबीपी जवानों ने लद्दाख में योगाभ्यास किया और पांचवें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के पहले योग के प्रति लोगों को जागरूक करने हेतु एक विशेष योग सत्र का आयोजन 18000 फीट पर स्थित ट्रैक जंक्शन पर योगाभ्यास करके दुनिया को करो योग रहो निरोग का संदेश दिया.

आइटीबीपी इसके पहले भी हिमालय की विभिन्न क्षेत्रों में योगाभ्यास करके योग का संदेश देती आई है.  भारत चीन सीमा पर तैनात आइटीबीपी के जवान विषम मौसमी परिस्थितियों और भौगोलिक दशाओं के बीच देश की सुरक्षा का महत्वपूर्ण जिम्मा संभाले रहते हैं जहां कभी-कभी तापमान शून्य से 50 डिग्री नीचे तक चला जाता है.

योग को देश और दुनिया में पहुंचाने का काम भारत ने किया: श्रीपद नाईक
केंद्रीय आयुष राज्य मंत्री श्रीपद येसो नाईक ने 13 जून को रांची में कहा कि भारतीय परंपरा में योग मनुष्य की जीवनशैली का महत्वपूर्ण हिस्सा बन गया है और यह देश के लिए गौरवशाली उपलब्धि है कि योग को देश और दुनिया में पहुंचाने का काम भारत ने किया. नाईक ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि पांचवें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस का मुख्य कार्यक्रम झारखंड की राजधानी रांची के प्रभात तारा मैदान में 21 जून को आयोजित किया जाएगा और इस कार्यक्रम में देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वयं उपस्थित रहेंगे. उन्होंने कहा कि झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास के नेतृत्व में कार्यक्रम की तैयारियां बहुत ही बेहतरीन तरीके से हो रही हैं. झारखंड सरकार मुख्य कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए पूरी जिम्मेदारी बखूबी निभा रही है.

नाईक ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के प्रयास से 21 जून को भारत के साथ-साथ दुनिया के सभी राष्ट्रों में योग दिवस मनाया जा रहा है. उन्होंने कहा कि 21 जून 2019 झारखंडवासियों के लिए ऐतिहासिक दिन है, क्योंकि देश के विभिन्न पांच शहरों की नामित सूची में से योग दिवस के मुख्य कार्यक्रम के आयोजन के लिए झारखंड की राजधानी रांची को चुना गया है. उन्होंने विश्वास जताया कि झारखंड की जनता इस कार्यक्रम में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेगी और यह कार्यक्रम पिछले चार वर्षों की तुलना में सर्वश्रेष्ठ साबित होगा.

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि वर्ष 2015 में दिल्ली के राजपथ पर पहले विश्व योग दिवस के मुख्य कार्यक्रम में लगभग 40 हजार योग प्रेमियों ने भाग लिया था. दूसरा विश्व योग दिवस चंडीगढ़, तीसरा लखनऊ, चौथा देहरादून में आयोजित हुआ था. पांचवें विश्व योग दिवस का मुख्य कार्यक्रम रांची के प्रभात तारा मैदान में होना तय है जो राज्य के लिए गौरव की बात है. यह बड़ी बात है कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी झारखंड की पावन धरती से पूरे विश्व को योग दिवस के अवसर पर संदेश देने का कार्य करेंगे.

नाईक ने कहा कि केंद्र एवं राज्य सरकार का लक्ष्य है कि योग को घर-घर और जन-जन तक पहुंचाना है. योग को आत्मसात कर मानव जाति अपने आप को निरोगी बना पाएगी. उन्होंने कहा कि रांची में आयोजित मुख्य कार्यक्रम में लगभग पचास हजार योग प्रेमियों के शामिल होने की संभावना है. उन्होंने कहा कि इस वर्ष विश्व योग दिवस का थीम ‘योग फॉर हार्ट’ रखा गया है. उन्होंने बताया कि 21 जून 2019 को देश के सभी राज्यों में योग दिवस का कार्यक्रम मनाया जाएगा.

नाईक ने कहा कि आयुष मंत्रालय विश्व योग दिवस के अवसर पर सभी व्यक्तियों और संस्थानों को प्रोत्साहित कर रहा है. इस आयोजन में शैक्षिक संस्थान, सरकारी निकाय, व्यावसायिक फर्म, उद्योग और सांस्कृतिक संगठनों को भी शामिल किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि आयुष मंत्रालय ने स्वास्थ्य के क्षेत्र में बेहतर कार्य के लिए केंद्र सरकार राज्य सरकारों के विभिन्न मंत्रालयों, विभागों और अन्य संबंधित संस्थानों को 21 जून 2019 को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर आपसी समन्वय बनाकर काम करने का अनुरोध किया है.

नाईक ने बताया कि योग के विकास और संवर्धन के लिए योग के क्षेत्र में अनुकरणीय योगदान के लिए प्रत्येक वर्ष प्रधानमंत्री योग पुरस्कार प्रदान किए जाते हैं. इसमें दो श्रेणियों में चार पुरस्कार दिए जाते हैं. इस वर्ष पुरस्कार के लिए मंत्रालय को लगभग 200 आवेदन प्राप्त हुए हैं. इस अवसर पर राज्य के स्वास्थ्य सचिव डॉ नितिन मदन कुलकर्णी, संयुक्त सचिव (आयुष) रंजीत कुमार, मोरारजी देसाई राष्ट्रीय योग संस्थान के निदेशक एम बासव रेड्डी, रांची के उपायुक्त राय महिमापत रे एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे.

(इनपुट एजेंसी भाषा से भी)