close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है 12+12+3+29 = 56 का गणित, जानें एयर स्ट्राइक से कनेक्शन

एयर स्ट्राइक ऑपरेशन को भारतीय वायुसेना के 12 मिराज-2000 विमानों ने अंजाम दिया. वायुसेना के मिराज-2000 ने पीओके में घुसकर आतंकी ठिकानों पर 1000 किलो से ज्यादा के बम गिराए.

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है 12+12+3+29 = 56 का गणित, जानें एयर स्ट्राइक से कनेक्शन
14 फरवरी को जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में 40 सीआरपीएफ जवान शहीद हो गए थे. (फोटो साभार: Reuters)

नई दिल्ली: भारतीय सेना ने पुलवामा हमले के बदला लेते हुए मंगलवार को पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) में घुसकर आतंकियों के ठिकानों को तबाह कर दिया. सूत्रों के हवाले से खबर है कि इस एयर स्ट्राइक ऑपरेशन को भारतीय वायुसेना के 12 मिराज-2000 विमानों ने अंजाम दिया. वायुसेना के मिराज-2000 ने पीओके में घुसकर आतंकी ठिकानों पर 1000 किलो से ज्यादा के बम गिराए. भारतीय वायुसेना की इस कार्रवाई में 200 से 300 आतंकी मारे गए और कई आतंकी ठिकाने और लॉन्च पैड तबाह हो गए हैं. 

इसके बाद से ही सोशल मीडिया पर लोगों ने भारतीय वायुसेना की सराहना करने के कई पोस्ट वायरल हो रहे हैं. इसके साथ ही लोगों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस फैसले की भी प्रशंसा करते हुए भी कई पोस्ट शेयर की हैं. सोशल मीडिया पर लोगों ने एयर स्ट्राइक के इस फैसले को लेकर पीएम मोदी की तुलना एकबार फिर 56 इंची सीने से की है. ट्विटर पर राजेश खरवार ने लिखा है कि 12 मिराज 12 दिन 3 बज कर 29 मिनट पर हमला 12+12+3+29 = 56 इंच सीना.   

 

 

एक अन्य यूजर पूनम खत्री ने लिखा है कि भारत ने तो केवल पाकिस्तान की गंदगी साफ करने में मदद की है. यह कोई युद्ध नहीं है. यह देश का सीमापार स्वच्छ भारत अभियान है. 

 

 

वहीं, एक अन्य पोस्ट में कहा गया है कि पाकिस्तान के खिलाफ 300 का स्कोर बनाने वाले केवल दो लोग हैं एक वीरेंद्र सहवाग और दूसरे बीरेंद्र सिंह धनोआ.

बता दें कि 14 फरवरी को जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में 40 सीआरपीएफ जवान शहीद हो गए थे. इसके बाद भारत ने PoK में चल रहे आतंकी कैंपों को निशाना बनाते हुए भारतीय वायुसेना के विमानों से बमबारी की. भारतीय वायुसेना की सीमापार की गई इस कार्रवाई को पाकिस्तान ने भी स्वीकार कर लिया है. हालांकि पाकिस्तान की ओर से कहा जा रहा है कि भारतीय वायुसेना की इस कार्रवाई से कोई नुकसान नहीं हुआ है.