BSF जवान ने कहा- अब सरहद पर नहीं परिवार के लिए उठाऊंगा हथियार, वायरल हुआ वीडियो

BSF का एक जवान पान सिंह तोमर की राह पर चलने को मजबूर है. उसने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ ही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से न्याय की गुहार लगाई है. 

BSF जवान ने कहा- अब सरहद पर नहीं परिवार के लिए उठाऊंगा हथियार, वायरल हुआ वीडियो

सहारनपुर. BSF का एक जवान पान सिंह तोमर की राह पर चलने को मजबूर है. उसने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ ही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से न्याय की गुहार लगाई है. सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें अजय सिंह नाम के बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स के जवान ने साफ कहा है कि अगर उसे न्याय नहीं मिला तो वह देश की जगह अपने घर की सुरक्षा के लिए हथियार उठा लेगा. पुलिस रवैये से त्रस्त होकर उसने वीडियो के जरिए यह चेतावनी जारी की है. थाना गंगोह के गांव तातारपुर के इस बीएसएफ जवान ने कहा है कि मुझे इतना मजबूर मत करो, मैंने सरहद की रक्षा के लिए हथियार उठाए हैं, लेकिन अब मैं अपने परिवार की रक्षा के लिए हथियार उठाऊंगा, जिसका जिम्मेदार पुलिस-प्रशासन होगा. जवान का कहना है कि वह सीमा पर देश की रक्षा के लिए मुस्तैद है, लेकिन यहां उसका परिवार खतरे में है. 

पान सिंह तोमर की राह पर BSF जवान 
आपको बता दें कि अभिनेता इरफान की वर्ष 2013 में आई फिल्म पान सिंह तोमर में पुलिस के रवैये से परेशान होकर जिस तरह से फौजी पान सिंह तोमर बागी बन गया था, उसी राह पर अब थाना गंगोह के गांव तातारपुर का बीएसएफ जवान भी चलने को तैयार है. भारत-बांग्लादेश बार्डर पर तैनात बीएसएफ जवान अजय सिंह ने खुद का वीडियो बनाकर वायरल किया है. प्रधानमंत्री को संबोधित इस वीडियो में अजय सिंह कह रहा है कि मैं सरहद की रक्षा के लिए यहां हथियार लेकर मुस्तैद हूं, लेकिन सहारनपुर पुलिस ने मेरे परिवार को बर्बाद कर दिया है.

पुलिस की ज्यादती से परेशन
उसने कहा कि पट्टे की जमीन पर उगी फसल पर ट्रैक्टर चलवाकर पुलिस ने कब्जा करवा दिया. मेरे बुजुर्ग पिता को पीटा और तमाम धाराएं लगाकर जेल में डाल दिया. कॉलेज में पढ़ने वाली बहनों को वांछित कर दिया. गंगोह पुलिस ने तलाशी के नाम पर तोड़फोड़ मचाया. बीएसएफ जवान ने वीडियो में ग्राम प्रधान पर भी आरोप लगाए हैं. वह कह रहा है कि आखिर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं हो रही, मेरी सुनवाई क्यों नहीं हो रही. वीडियो के अंतिम हिस्से में जवान ने देश और राज्य की भाजपा सरकार पर भी जवानों की न सुनने का आरोप लगाया है.

यह भी पढ़ें: VIDEO: पति को गुंडों से बचाने के लिए पत्नी ने चलाई ताबड़तोड़ गोलियां, CCTV में घटना कैद

क्या है मामला
अजय के पिता सरदारा सिंह के नाम पर गांव तातारपुर में जमीन का पट्टा है. इसी पट्टे की जमीन पर वह खेती करते हैं. आरोप है कि 5 जनवरी को बीएसएफ जवान अजय कुमार के पिता सरदारा सिंह, भाई प्रमोद कुमार और अन्य रिश्तेदारों के साथ पुलिसकर्मियों ने अभद्रता करते हुए मुकदमा लिख लिया था. जवान के पिता व भाई को जेल भेज दिया था, जबकि बहनों को वांछित कर दिया.

पुलिस दबंगई का एक वीडियो भी वायरल हुआ था, जिसमें दारोगा व सिपाही बर्बरता करते नजर आ रहे थे, लेकिन सीओ गंगोह ने अपनी जांच रिपोर्ट में पुलिसकर्मियों को क्लीनचिट देकर जवान के परिवार के सिर ही सारा दोष मढ़ दिया था. जवान ने सहारनपुर पुलिस के खिलाफ पहले मुख्यमंत्री और फिर प्रधानमंत्री को पत्र लिखा लेकिन अब तक कहीं से मदद नहीं मिली. अब मामले को बढ़ता देख पुलिस अधिकारी इससे अपना पल्ली झाड़ रहे हैं. एसएसपी बबलू कुमार का कहना है कि अभी हमें जवान का कोई वीडियो नहीं मिला है.