खजुराहो की मूर्तियों को ढंके जाने का इंतजार कर रही हूं : सहगल

देश में ‘बढ़ती असहिष्णुता’ का विरोध कर रहीं मशहूर लेखिका नयनतारा सहगल ने कहा कि वह उस दिन का इंतजार कर रही हैं जब संस्कृति मंत्री खजुराहो की नग्न मूर्तियों को साड़ी पहनाएंगे। सहगल ने टाटा स्टील कोलकाता साहित्य उत्सव में कहा, ‘हिंदुत्व के तहत जिस तरीके से चीजें आगे बढ़ रही हैं मैं उस दिन का इंतजार कर रही हूं जब संस्कृति मंत्री खजुराहो की नग्न मूर्तियों को साड़ी पहनाएंगे क्योंकि वे काफी नाटकीय अंदाज में यौन भंगिमाएं हैं।’

खजुराहो की मूर्तियों को ढंके जाने का इंतजार कर रही हूं : सहगल

कोलकाता: देश में ‘बढ़ती असहिष्णुता’ का विरोध कर रहीं मशहूर लेखिका नयनतारा सहगल ने कहा कि वह उस दिन का इंतजार कर रही हैं जब संस्कृति मंत्री खजुराहो की नग्न मूर्तियों को साड़ी पहनाएंगे। सहगल ने टाटा स्टील कोलकाता साहित्य उत्सव में कहा, ‘हिंदुत्व के तहत जिस तरीके से चीजें आगे बढ़ रही हैं मैं उस दिन का इंतजार कर रही हूं जब संस्कृति मंत्री खजुराहो की नग्न मूर्तियों को साड़ी पहनाएंगे क्योंकि वे काफी नाटकीय अंदाज में यौन भंगिमाएं हैं।’

 

88 वर्षीय सहगल ने कहा कि असहमति का स्थान खत्म होता जा रहा है और विरोध जताने वालों पर लाठी, पत्थर, काले रंग से हमला किया जा रहा है और हत्या तक कर दी जा रही है। उन्होंने कहा, ‘सरकार की चुप्पी ही उसका जवाब है। या वह हिंदुत्व की विचारधारा को बचाने में व्यस्त है। भीड़ धमकी, बंदूक और हिंसा से निर्णय कर रही है कि किस चीज पर प्रतिबंध लगेगा।’