इंग्लिश मीडियम स्कूल में सरस्वती पूजा की नहीं मिली इजाजत, छात्रों ने किया प्रदर्शन

हावड़ा मैदान के पास एक अंग्रेजी मीडियम के प्राइवेट स्कूल में सरस्वती पूजा करने की अनुमति न मिलने पर छात्रों ने प्रदर्शन किया. स्कूल गेट के सामने छात्रों ने हाथ में पोस्टर लिए नारेबाजी की और प्रदर्शन किया.

इंग्लिश मीडियम स्कूल में सरस्वती पूजा की नहीं मिली इजाजत, छात्रों ने किया प्रदर्शन
सरस्वती पूजा की अनुमति न मिलने पर हंगामा

कोलकाता: हावड़ा मैदान के पास एक अंग्रेजी मीडियम के प्राइवेट स्कूल में सरस्वती पूजा करने की अनुमति न मिलने पर छात्रों ने प्रदर्शन किया. स्कूल गेट के सामने छात्रों ने हाथ में पोस्टर लिए नारेबाजी की और प्रदर्शन किया. छात्रों का आरोप है कि स्कूल प्रशासन ने इस बार एक रक्तदान शिविर का आयोजन किया था और कहा था कि रक्तदान के बदले छात्रों को सरस्वती पूजा करने की अनुमति दी जाएगी. लेकिन सरस्वती पूजा से ठीक दो दिन पहले अनुमति नहीं मिलने पर छात्रों ने रोष प्रकट किया.

 छात्रों ने बताया कि स्कूल प्रशासन को उन्होंने बताया था कि छात्र अपने ही पैसों से सरस्वती पूजा का आयोजन करेंगे और स्कूल प्रशासन से केवल अनुमति ही मांगी थी लेकिन अंत में स्कूल प्रशासन ने मना कर दिया. उधर स्कूल के प्रिंसिपल ने बताया कि पिछले 40 सालों से इस स्कूल में सरस्वती पूजा नहीं होती और इसके बावजूद किस वजह से यह छात्र प्रदर्शन कर रहे हैं, इसकी जानकारी उनको नहीं है. प्रिंसिपल ने आश्वासन दिया कि इस मामले की जांच करेंगे. 

ये भी देखें-

पश्चिम बंगाल तृणमूल सेकेंडरी टीचर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष दिब्येंदु मुखर्जी ने बताया कि सरस्वती पूजा तो स्कूल में होना चाहिए क्योंकि स्कूल सरस्वती का मंदिर है. पश्चिम बंगाल सरकार ने सभी स्कूलों से अनुरोध किया है कि 28 और 29 को सरस्वती पूजा के मौके पर छुट्टी दें और क्योंकि सरस्वती पूजा पश्चिम बंगाल के हर स्कूल में मनाई जा रही है और एक स्कूल में नहीं होगी यह ठीक नहीं है, यह होना ही चाहिए. हम स्कूल प्रशासन से अनुरोध करते हैं कि वो सरस्वती पूजा के लिए इन छात्रों को अनुमति दें.