PUBG India game relaunch में क्यों हो रही है देरी, जान लीजिए

PUBG यूजर्स की निजी जानकारी यानी डेटा की सुरक्षा और उसके स्टोरेज (Deta storage)  से संबंधित गारंटी मिलने के बाद ही भारतीय बाजार में इसकी वापसी सही मायने में स्वीकार होगी. गौरतलब है कि यूजर इंफॉर्मेशन (User Sinformation) में लगी सेंध की वजह से ही PUBG Mobile पर बैन लगा था.

PUBG India game relaunch में क्यों हो रही है देरी, जान लीजिए
फोटो साभार : ट्विटर

नई दिल्ली : PUBG मोबाइल इंडिया के relaunch का भारतीय गेमिंग बाजार में बेसब्री से इंतजार हो रहा है. भारत और चीन के बीच तल्खी के बाद से भारत सरकार की तरफ से कई चीनी ऐप्स को प्रतिबंधित कर दिया गया था. इन्ही ऐप्स में लाखों यूथ का फेवरेट गेम PUBG Mobile भी शामिल था. अब इसकी भारतीय बाजार में दमदार वापसी होने जा रही है. PUBG मोबाइल इंडिया की तरफ से भारत में एक कामयाब वापसी सुनिश्चित करने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ रही है. इस सिलसिले में चीन की यूनिट टेनसेंट (Tencent) को हटाने के साथ डेटा गोपनीयता सुनिश्चित करने के लिए सभी सेफ्टी मानकों का पालन किया जा रहा है.

PUBG Corporation के बयान का इंतजार
हालांकि, टीजर रिलीज और निकट भविष्य में लॉन्चिंग की खबरों के बावजूद, PUBG Corporation ने अभी तक रिलीज डेट से संबंधित आधिकारिक बयान जारी नहीं किया है. Android यूजर्स के लिए PUBG मोबाइल इंडिया डाउनलोड करने के लिए एक APK वर्जन सामने आया लेकिन उससे भी कोई खास जानकारी नहीं मिली. PUBG मोबाइल के री-लॉन्च को लेकर अभी तक कयास ही लग रहे हैं. और PUBG Corporation की ओर से लॉन्च डेट नहीं बनाई गई है. 

तो बड़ा सवाल ये है कि अभी तक कोई आधिकारिक पुष्टि क्यों नहीं हुई है? इसकी मुख्य वजह PUBG को अभी तक केंद्र सरकार की मंजूरी नहीं मिलना हो सकती है. यानी कंपनी अभी तक सरकारी इजाजत का इंतजार कर रही है.  InsideSports की रिपोर्ट के मुताबिक, PUBG मोबाइल इंडिया को MEITY (इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय) की हरी झंडी के बगैर कंपनी आगे नहीं बढ़ सकती है. दरअसल मंत्रालय ने अन्य चीनी एप्स के साथ PUBG पर भी बैन लगाया था. वहीं PUBG की नई पंजीकृत इकाई पर सरकार की ओर से कोई अधिकृत बयान नहीं आया है. 

ये भी देखें- PUBG का इंतजार खत्म! अगले हफ्ते हो सकता है रीलॉन्च, जानें अपडेट 

रजिस्टर्ड कंपनी है PUBG
हाल ही में, PUBG India की ओर से कॉर्पोरेट मामलों से संबधी मंत्रालय के नियमों के तहत रजिस्टर्ड कंपनी के तहत स्थिति दर्ज कराई है. हालांकि, गेम के रिलॉन्च के लिए इसे कंपनी का पहला कदम नहीं माना जा सकता है. कारण ये भी है कि, 'कोई भी प्रतिबंधित संस्थान सिर्फ नई कंपनी के सहारे फिर से अपने काम की शुरुआत नहीं कर सकती है.  InsideSports को सूत्रों में मिली जानकारी के मुताबिक 'Tik Tok' या किसी भी अन्य प्रतिबंधित कंपनी को फिर से देश में काम शुरु करने के लिए हर हाल में MEITY से मंजूरी लेनी ही होगी.

Delay पर एक्सपर्ट की राय 
हालांकि, भारत के कॉर्पोरेट संबंधी नियमों के जानकारों के मुताबिक, भारत में किसी भी व्यक्ति या व्यवसायिक कंपनी को वैध तरीके से संचालित करने के लिए, उन्हें पैन (PAN) या फिर जीएसटी नंबर (GST Number) की जरूरत होती है. संभव है कि PUBG मोबाइल इंडिया के पास ये दस्तावेज फिलहाल न हों या वो इन मानकों को पूरा करने के लिए समय सीमा संबंधी किसी और प्रोटोकाल के पूरा होने का इंतजार कर रहे हों. क्योंकि इसके बिना वो गेम की शुरुआत यानी भारतीय बाजार में वापसी नहीं कर सकते हैं.

डेटा सिक्योरिटी का पुख्ता इंतजाम 
डेटा सुरक्षा की बात आती है, तो संभव है कि कंपनी ने Microsoft Azure के साथ अपने टाइअप को लेकर चर्चा की हो. Microsoft Azure एक क्लाउड कंप्यूटिंग सर्विस कंपनी है जो डेटा सेंटर्स पर मौजूद संसाधनों की कंप्यूटिंग और स्टोरेज पर नजर रखने के साथ डेटा, सर्वर और यूजर्स की जानकारी सुरक्षित रखने में अहम भूमिका निभाती है.

यानी PUBG यूजर्स की निजी जानकारी यानी डेटा की सुरक्षा और उसके स्टोरेज (Deta storage)  से संबंधित गारंटी मिलने के बाद ही भारतीय बाजार में इसकी वापसी सही मायने में स्वीकार होगी. गौरतलब है कि यूजर इंफॉर्मेशन (User Sinformation) में लगी सेंध की वजह से ही PUBG Mobile पर बैन लगा था.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.