जब ज्योतिषी से मिलीं HRD मंत्री स्मृति ईरानी, दिखाया अपना हाथ

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी को लेकर एक बार फिर विवाद शुरू हो गया है। यह विवाद इसलिए कि वो शिक्षा मंत्री होते हुए ज्योतिषी से हाथ दिखाने गईं थी।

जब ज्योतिषी से मिलीं HRD मंत्री स्मृति ईरानी, दिखाया अपना हाथ

ज़ी मीडिया ब्यूरो

भीलवाड़ा: केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी को लेकर एक बार फिर विवाद शुरू हो गया है। यह विवाद इसलिए कि वो शिक्षा मंत्री होते हुए ज्योतिषी से हाथ दिखाने गईं थी।

स्मृति रविवार रात राजस्थान के भीलवाड़ा में ज्योतिषी नाथूलाल व्यास के पास पहुंचीं और अपना भविष्य पूछा। सोशल मीडिया पर कई लोग उनके इस रवैये को 'अवैज्ञानिक' बताकर आलोचना कर रहे हैं। फेसबुक और ट्विटर पर कई लोगों ने लिखा है कि वैज्ञानिकता को बढ़ावा देने के बजाय देश की शिक्षा मंत्री अंधविश्वासी कर्मकांडों में उलझी हैं। मामले पर सफाई देते हुए स्मृति ईरानी ने सिर्फ इतना कहा कि उनके पास अपनी जन्मपत्री तक नहीं है।

मामले पर सफाई देते हुए स्मृति ने कहा कि मैं व्यक्तिगत जीवन में क्या कर रही हूं, इससे आपकी टीआरपी बढ़ती है और आपको मुनाफा होता है तो ठीक है। लेकिन अगर मेरे राजनीतिक जीवन पर मेरे व्यक्तिगत काम का असर नहीं पड़ रहा तो मुझे नहीं लगता कि आप लोगों को ऐसा कुछ दिखाने से फायदा होगा।

गौर हो कि केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी रविवार को राजस्‍थान दौरे के दौरान भीलवाड़ा के कारोई कस्बे में पंडित नाथूलाल व्यास के घर पर जा पहुंचीं और अपना हाथ दिखाया। स्मृति के साथ उनके पति जुबिन भी थे। बताया जा रहा है कि ज्योतषी के साथ स्मृति करीब 4 घंटे तक रही। जहां उन्होंने नाथूलाल से अपना भविष्य जाना।

सूत्रों के मुताबिक भीलवाड़ा के इस ज्योतिषी ने स्मृति को देश का भावी राष्ट्रपति बताया। रिपोर्ट के मुताबिक स्मृति को नाथू लाल में काफी विश्वास है। स्मृति इससे पहले भी कई बार इनके पास अपना भविष्य जानने गई है। पंडित जी ने उन्हें राजनीति में बड़े पद पर जाने का भरोसा दिलाया था। बताया जाता है कि स्मृति के बारे में उन्होंने ही यह भविष्यवाणी की थी कि वह 2013 में राजनीति में आएंगी। रिपोर्ट के मुताबिक पंडित नाथूलाल ने कहा कि स्मृति आने वाले समय में देश की राष्ट्रपति बन सकती हैं। यहां पहुंचने पर पंडित व्यास ने स्मृति के माथे पर तिलक लगाकर आशीर्वाद दिया और कहा कि राजनीतिक धरातल पर आपका कद और ऊंचाइयों तक पहुंचेगा।