कौन होगा राष्ट्रपति: भाजपा ने कोविंद की जीत का भरोसा जताया, तो विपक्ष ने मीरा कुमार को बताया बेहतर विकल्प

केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि कोविंद निर्णायक जीत दर्ज करेंगे और संविधान के अनुरूप काम करने वाले एक ‘ईमानदार’ राष्ट्रपति साबित होंगे.

कौन होगा राष्ट्रपति: भाजपा ने कोविंद की जीत का भरोसा जताया, तो विपक्ष ने मीरा कुमार को बताया बेहतर विकल्प
रामनाथ कोविंद भाजपा के नेतृत्व वाले राजग के उम्मीदवार हैं, जबकि मीरा कुमार विपक्ष की ओर से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार हैं. (फाइल फोटो)

नई दल्ली: सांसदों और विधायकों द्वरा सोमवार (17 जुलाई) को राष्ट्रपति के लिए मतदान किए जाने के बीच सत्तारूढ़ भाजपा ने आज विश्वास जताया कि राजग उम्मीदवार रामनाथ कोविंद की जीत होगी जबकि विपक्ष ने कहा कि उनकी साझा उम्मीदवार ‘मीरा कुमार’ विचाराधाराओं के टकराव में सर्वोत्तम पसंद हैं.

केन्द्रीय मंत्री एम वेंकैया नायडू ने चुनाव से पहले कहा, ‘कोविंदजी (चुनाव में) सम्मानित एवं आसान अंतर से जीतेंगे.’ बहरहाल, उन्होंने भाजपा संसद बोर्ड की बैठक में सत्तारूढ़ गठबंधन के उपराष्ट्रपति उम्मीदवार के चयन के बारे में कुछ भी कहने से इंकार कर दिया. उन्होंने कहा कि पहले राष्ट्रपति चुनाव हो जाने दीजिए.

एक अन्य केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि कोविंद निर्णायक जीत दर्ज करेंगे और संविधान के अनुरूप काम करने वाले एक ‘ईमानदार’ राष्ट्रपति साबित होंगे. उन्होंने कहा, ‘बेहतर होता कि आम सहमति होती (कोविंद को मनोनीत करने के मामले में सभी पक्षों के बीच). खैर, कोई बात नहीं.’ 

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद ने कहा कि कोविंद एवं मीरा कुमार के बीच विचारधाराओं की लड़ाई है. उन्होंने कहा कि मीरा राष्ट्रपति पद के लिए बेहतर विकल्प है. उन्होंने कहा, ‘राष्ट्रपति को ऐसी विचारधारा पर चलना चाहिए जिसमें उसके लिए सभी बराबर हों और जब विचाराधाराओं का टकराव होगा, मुझे लगता है कि हमारी उम्मीदवार बेहतर हैं.’ 

मीरा का समर्थन करते हुए माकपा ने निर्वाचक मंडल के सदस्यों से कहा कि वे सोच विचारकर संविधान का संरक्षक चुनें. माकपा महासचिव सीताराम येचुरी ने ट्वीट कर कहा, ‘उम्मीद है कि निर्वाचक मंडल भारतीय संविधान के संरक्षक को सोच विचार कर चुनेंगे...हमारे गणतंत्र के संवैधानिक मूल्यों को कायम रखने के लिए वोट करें.’ 

येचुरी एवं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मलिकार्जुन खड़गे ने सभी सांसदों एवं विधायकों से उनकी अंतरात्मा के आधार पर वोट करने के लिए कहा. खड़गे ने कहा, ‘हम लोकतंत्र में भरोसा करते हैं और इसी लिए हम लड़ रहे हैं (चुनाव). भाजपा सहित सभी मतदातओं को अपनी अंतरात्मा के आधार पर वोट करना चाहिए.’ 

कोविंद एवं मीरा कुमार, दोनों के दलित होने की ओर ध्यान दिलाते हुए बसपा प्रमुख मायावती ने इस बात पर संतोष जताया कि चुनाव भले ही जो भी जीते एक दलित नेता राष्ट्रपति पद पर बैठेंगे. मायावती ने दावा किया कि उनकी पार्टी के कारण ही राजग एवं विपक्ष को इस समुदाय के व्यक्तियों को उम्मीदवार बनाना पड़ा.

उन्होंने कहा, ‘जीतना या हारना, एक अलग मुद्दा है. जो भी जीते, अच्छी बात यही होगी कि देश का व्यक्ति अनुसूचित जाति से होगा. और मेरा मानना है कि यह हमारे अभियान, पार्टी के लिए अच्छी चीज है.’ राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के नेता प्रफुल्ल पटेल ने कहा कि इस बात की भविष्यवाणी करने में कोई ‘रॉकेट विज्ञान’’ शामिल नहीं है कि राष्ट्रपति चुनाव में सत्तारूढ़ राजग के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद जीतेंगे.

पटेल ने यह भी उम्मीद जतायी कि चुनाव जीतने वाला उम्मीदवार संविधान का संरक्षण करेगा. राकांपा चुनाव में विपक्ष की साझा उम्मीदवार मीरा कुमार का समर्थन कर रहा है. राष्ट्रपति पद के लिए सोमवार (17 जुलाई) को सुबह 10 बजे से शाम पांच बजे मतदान हुआ. परिणाम 20 जुलाई को घोषित होगा.