close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पार्टी का बैनर गिरने से लड़की की मौत, बैनर कल्‍चर के खिलाफ उठी आवाज

सड़कों के किनारे लगे भारी-भरकम होर्डिंग्‍स, फ्लैक्‍स बोर्ड, बैनर जानलेवा साबित हो सकते हैं. ऐसे ही एक मामले में 22 साल की लड़की शुभाश्री के ऊपर सत्‍तारूढ़ अन्‍नाडीएमके पार्टी का बैनर कथित रूप से गिर जाने की वजह से गुरुवार को मौत हो गई.

पार्टी का बैनर गिरने से लड़की की मौत, बैनर कल्‍चर के खिलाफ उठी आवाज

चेन्‍नई: सड़कों के किनारे लगे भारी-भरकम होर्डिंग्‍स, फ्लैक्‍स बोर्ड, बैनर जानलेवा साबित हो सकते हैं. ऐसे ही एक मामले में 22 साल की लड़की शुभाश्री के ऊपर सत्‍तारूढ़ अन्‍नाडीएमके पार्टी का बैनर कथित रूप से गिर जाने की वजह से गुरुवार को मौत हो गई. शुक्रवार को उसकी बॉडी को अस्‍पताल से घर पहुंचाया गया. इस घटना की चर्चा पूरे देश में हो रही है. सोशल मीडिया पर लोग इस तरह के आदमकद बैनरों, होर्डिंग्‍स के खिलाफ आक्रोश जाहिर कर रहे हैं.

बैनर कल्‍चर को खत्‍म करने की उठती मांग के बीच तमिलनाडु की सियासत में आरोप-प्रत्‍यारोप का सिलसिला शुरू हो गया है. विपक्षी डीएमके पार्टी के विधायक ई करुणानिधि ने कहा कि संबंधित बैनर सत्‍ताधारी पार्टी का था. हमारी पार्टी की दलील है कि बैनर संस्‍कृति खत्‍म होनी चाहिए. अब बताइए कि उस लड़की की मौत का जिम्‍मेदार कौन है? पीडि़ता के परिजनों को पर्याप्‍त मुआवजा दिया जाना चाहिए.

इस सिलसिले में मद्रास हाई कोर्ट ने शुक्रवार को कहा कि अवैध फ्लैक्‍स बोर्ड के खिलाफ वह कई ऑर्डर पास कर थक गया है. जस्टिस शेषासाई ने कहा कि इस देश में लोगों की जिंदगी के लिए कोई सम्‍मान नहीं है. ये नौकरशाही की बेपरवाही को दिखाता है. सॉरी, हमारा सरकार पर भरोसा नहीं रहा.