close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के लिए क्यों जरूरी हैं पीएम मोदी, 5 प्वॉइंट में समझें

ह्यूस्टन के NRG स्टेडियम में पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) 50 हजार भारतीय अमेरिकी समुदाय को संबोधित करेंगे.

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के लिए क्यों जरूरी हैं पीएम मोदी, 5 प्वॉइंट में समझें
पहली बार अमेरिका के राष्ट्रपति 50 हज़ार भारतवंशियों को एक साथ संबोधित करेंगे.

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिका के ह्यूस्टन (Huston) में भारतीयों के सबसे बड़े शो हाउडी मोदी (Howdy Modi) में भाग लेने के लिए NRG स्टेडियम पहुंच चुके हैं. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) भी थोड़ी देर में ह्यूस्टन पहुंचने वाले हैं. ह्यूस्टन के NRG स्टेडियम में पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) 50 हजार भारतीय अमेरिकी समुदाय को संबोधित करेंगे. 
आइये जानते हैं कि डोनाल्ड ट्रंप के लिए मोदी इतने जरूरी क्यों हो गए हैं.

1. अमेरिका में अगले साल राष्ट्रपति चुनाव होने हैं. 20120 में होने वाले चुनाव में राष्ट्रपति ट्रंप ने तैयारी शुरू कर दी है. भारतीय समुदाय का समर्थन हासिल करने के लिए ट्रंप, मोदी की ओर देख रहे हैं.

2. ट्रंप की पीएम मोदी से मुलाकात के बाद भारतीयों के बीच उनकी 'भारत विरोधी' छवि सुधरेगी. अमेरिका में भारतीयों का दबदबा है. करीब 30 लाख भारतीय आबादी है. करीब 15 लाख भारतीय वोटर हैं. ट्रंप की नजर  इन भारतीय वोटर पर है. 

3. अमेरिका में ज्यादार भारतीय डेमोक्रेटिक पार्टी का समर्थन करते हैं. ट्रंप, रिपब्लिकन पार्टी से हैं. हाल ही में ट्रंप की पार्टी की लोकप्रियता में रिकॉर्ड गिरावट दर्ज की गई थी. भारतीय वोटर को रिझाने के लिए भी ट्रंप के लिए मोदी जरूरी हो गए हैं. 

4. अमेरिका में 30 लाख की भारतीय आबादी में करीब 12.8 लाखग्रीन कार्ड धारक, 5 भारतीय मूल के सांसद, 12 %भारतीय वैज्ञानिक, 36 %NASA में भारतीय वैज्ञानिक, 38 % भारतीय डॉक्टर, 34 %माइक्रोसॉफ्ट में भारतीय, 13 %XEROX में भारतीय, 28 %IBM में भारतीय, 17 %INTEL में भारतीय हैं. ट्रंप भारतीयों के साथ सीधे तौर पर संवाद करना चाहते हैं. इसके लिए मोदी से बड़ा कोई नेता ट्रंप के लिए मददगार नहीं हो सकता जो उन्हें सीधे भारतीयों से कनेक्ट कर सके. 

5. अमेरिका में भारतीय समुदाय की बढ़ती ताकत का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि ट्रंप पहली बार चुनावी साल में अमेरिकी भारतीयों को संबोधित करने वाले पहले राष्ट्रपति बनने वाले हैं. 

यह भी देखें: 

 

ये भी पहली हो रहा है अमेरिका में:
पहली बार एक साथ एक मंच पर भारतीय के प्रधानमंत्री और अमेरिका के राष्ट्रपति होंगे. पहली बार दुनिया के सबसे बड़े और सबसे पुराने लोकतंत्र के प्रमुखों की साझा रैली होगी. पहली बार अमेरिका के राष्ट्रपति 50 हज़ार भारतवंशियों को एक साथ संबोधित करेंगे. पहली बार 50 हज़ार से ज्यादा भारतीयों ने 'Howdy Modi' के लिए रजिस्ट्रेशन कराया है. पहली बार चुनावी साल में अमेरिकी भारतीयों को संबोधित करने वाले ट्रंप पहले राष्ट्रपति हैं. पहली बार अमेरिका के ह्यूस्टन में भारतीयों को संबोधित करने वाले पीएम मोदी पहले नेता है.