close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

World Cup 2019: PM मोदी ने कहा, हार-जीत जीवन का हिस्सा, हमें भारतीय टीम पर गर्व है

न्यूजीलैंड ने भारत को कड़े मुकाबले में हराकर आईसीसी विश्व कप (World Cup 2019) के फाइनल में प्रवेश कर लिया है.

World Cup 2019: PM मोदी ने कहा, हार-जीत जीवन का हिस्सा, हमें भारतीय टीम पर गर्व है
भारत के लिए रवींद्र जडेजा ने 59 गेंदों पर 77 रनों की लाजवाब पारी खेली. फोटो साभारः ANI

नई दिल्ली: न्यूजीलैंड ने ओल्ड ट्रैफर्ड मैदान पर खेले गए सेमीफाइनल मैच में भारत को 18 रनों से मात देकर फाइनल का रास्ता पक्का कर लिया है. इसके साथ ही भारत का विश्व कप से सफर खत्म हो गया. टीम इंडिया के मैच हारने के बाद पीएम नरेंद्र मोदी ने भारतीय टीम को विश्व कप में उनके शानदार प्रदर्शन पर बधाई दी है. पीएम मोदी ने ट्वीट करते हुए लिखा- जीत-हार जीवन का हिस्सा हैं, हम भारतीय टीम को उनके भविष्य के प्रयासों के लिए शुभकामनाएं देते हैं. पीएम मोदी ने आगे लिखा कि, मैच का परिणाम निराशाजनक रहा लेकिन टीम इंडिया का न्यूजीलैंड के खिलाफ मैच के अंत तक खेलना शानदार रहा.

भारत ने पूरे टूर्नामेंट में अच्छी बल्लेबाजी के साथ-साथ अच्छी गेंदबाज़ी की, जिसमें हमें भारतीय टीम पर बहुत गर्व है. 

कीवी टीम ने भारत के सामने 240 रनों का लक्ष्य रखा था 
मंगलवार को बारिश के कारण पूरा न हो सका यह मैच बुधवार को पूरा हुआ. कीवी टीम ने भारत के सामने 240 रनों का लक्ष्य रखा था जिसे भारतीय टीम संघर्ष के बाद भी हासिल नहीं कर पाई और 49.3 ओवरों में सभी विकेट खोकर 221 रन ही बना सकी. भारत के लिए रवींद्र जडेजा ने 59 गेंदों पर 77 रनों की लाजवाब पारी खेली और महेंद्र सिंह धोनी ने 72 गेंदों पर 50 रन बनाए. इन दोनों के बीच हुई शतकीय साझेदारी भी भारत को जीत नहीं दिला सकी. अंत के ओवरों में अहम समय पर न्यूजीलैंड ने इन दोनों के विकेट लेकर भारत को हार सौंपी. यह मैच मंगलवार को खेला जाना था लेकिन बारिश के कारण पूरा नहीं हो सका था. 

भारत के लिए भुवनेश्वर कुमार ने तीन विकेट लिए
बुधवार को मैच जब शुरू हुआ तो कीवी टीम ने मंगलवार के स्कोर 46.1 ओवरों में पांच विकेट के नुकसान पर 211 रनों के स्कोर से आगे खेलना शुरू किया और 50 ओवरों में आठ विकेट खोकर 239 रन बनाए. न्यूजीलैंड के लिए रॉस टेलर ने सबसे ज्यादा 74 रनों की पारी खेली. उन्होंने अपनी पारी में 90 गेंदों का सामना किया और तीन चौके तथा एक छक्का लगाया. टेलर के अलावा कप्तान केन विलियम्सन ने 95 गेंदों पर छह चौकों की मदद से 67 रनों की पारी खेली. भारत के लिए भुवनेश्वर कुमार ने तीन विकेट लिए. 

जडेजा का विकेट रहा टर्निंग प्वाइंट 
240 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत ने 92 रन पर छह विकेट गंवा दिए थे. इसके बाद रवींद्र जडेजा (77 रन, 59 गेंद) और महेंद्र सिंह धोनी (50 रन, 72 गेंद) ने अच्छी बैटिंग करते हुए टीम को 208 रन तक पहुंचाया. 48वें ओवर में 208 के स्कोर पर रवींद्र जडेजा बड़ा शॉट खेलने की कोशिश में आउट हो गए. यहीं से पारी लड़खड़ा गई. 

धोनी के रन आउट होते ही उम्मीदें टूटीं 
जडेजा के आउट होने के बाद भारत को 13 गेंद पर 32 रन बनाने थे. एमएस धोनी ने यहां से एक-दो अच्छे शॉट लगाए, लेकिन वे दुर्भाग्यपूर्ण ढंग से रन आउट हो गए. वे 49वें ओवर की तीसरी गेंद पर रन आउट हुए. उनके आउट होने के बाद भारत को जीत के लिए 9 गेंद पर 24 रन चाहिए थे.

भुवनेश्वर कुमार, युजवेंद्र चहल और जसप्रीत बुमराह के लिए इतने रन बनाना मुश्किल था और यही हुआ. भुवनेश्वर और चहल जल्दी-जल्दी आउट हो गए. चहल के आउट होते ही भारत का विश्व कप का अभियान खत्म हो गया.