Zee Rozgar Samachar

केंद्र सरकार के सभी स्कूलों में विषय के रूप में पढाया जायेगा योग

मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने सोमवार को कहा कि केंद्र सरकार की ओर से संचालित स्कूलों में छठी से 10वीं कक्षा तक योग को एक विषय के रूप में पेश किया जायेगा और 100 अंकों में से 80 अंक प्रायोगिक परीक्षा के खंड में रखे जायेंगे जिसमें छात्रों को विभिन्न आसन करने होंगे।

केंद्र सरकार के सभी स्कूलों में विषय के रूप में पढाया जायेगा योग

नई दिल्ली : मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने सोमवार को कहा कि केंद्र सरकार की ओर से संचालित स्कूलों में छठी से 10वीं कक्षा तक योग को एक विषय के रूप में पेश किया जायेगा और 100 अंकों में से 80 अंक प्रायोगिक परीक्षा के खंड में रखे जायेंगे जिसमें छात्रों को विभिन्न आसन करने होंगे।

मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने यहां एक कार्यक्रम में कहा, ‘योग उच्च प्राथमिक और माध्यमिक कक्षा में पढ़ाया जायेगा। हमने निर्णय किया है कि प्रायोगिक परीक्षा के खंड में 80 अंक रखे जायेंगे। मैं छात्रों से यह आश्वासन चाहती हूं कि वे पूरे समर्पण भाव से प्रायोगिक परीक्षा के खंड को पूरा करेंगे।’ केंद्रीय मंत्री ने हालांकि यह स्पष्ट नहीं किया कि यह कब से पेश किया जायेगा।

उन्होंने कहा कि शेष 20 अंक थ्योरी के खंड के लिए निर्धारित होंगे। उन्होंने कहा कि छात्रों पर कोई अतिरिक्त भार नहीं डाला जायेगा। देश के सभी केंद्रीय विद्यालयों और जवाहर नवोदय विद्यालयों में छठी से दसवीं कक्षा के छात्रों के लिए योग एक विषय के रूप में पेश किया जायेगा।

अधिकारियों ने कहा कि मंत्रालय इस बात पर विचार कर रहा है कि क्या इसे स्कूलों में एक विषय के रूप में इस शैक्षणिक सत्र से ही पेश किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि एनसीईआरटी द्वारा योग पर कुछ पुस्तकें अभी भी प्रकाशित किये जाने के स्तर पर हैं।

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.