close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

आग में झुलसे युवक की वाराणसी के अस्पताल में मौत, पुलिस ने खारिज किए परिजनों के आरोप

मृतक खालिद के परिजनों का आरोप है कि चार अज्ञात नकाबपोश हमलावरों कैरोसिन तेल डालकर उसे जिंदा जला दिया था.

आग में झुलसे युवक की वाराणसी के अस्पताल में मौत, पुलिस ने खारिज किए परिजनों के आरोप
मृतक के परिजनों के आरोपों ने खारिज करते हुए कहा है कि मृत्‍यु से पहले खालिद ने पुलिस को दो अलग-अलग बयान दिए थे. (फाइल फोटो)

चंदौली: वाराणसी के एक अस्पताल में आग में झुलसे खालिद नाम के लड़के की मंगलवार को इलाज के दौरान मौत हो गई है. उसे 60 फीसदी झुलसी हुई हालत में अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था. वहीं, इस मामले में खालिद के परिजनों ने आरोप लगाया है कि घर से टहलने के लिए निकले खालिद को चार नकाबपोश युवकों ने कैरोसिन तेल डालकर जिंदा जला दिया था. 

उत्‍तर प्रदेश पुलिस ने खालिद के परिजनों के आरोपों को खारिज कर दिया है. चंदौली के पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह ने दावा किया कि एक प्रत्यक्षदर्शी ने किशोर को खुद को आग लगाते हुए देखा था. संतोष कुमार सिंह के अनुसार, नाबालिग पीड़ित ने दो अलग-अलग बयान दिए थे. पहले खालिद ने कहा था कि वह महाराजपुर गांव गया था, वहां चार लोग उसे एक खेत में ले गए और उसके बदन में आग लगा दी. 

LIVE TV:

पुलिस अधीक्षक ने कहा कि हालांकि, खालिद ने बाद में अपना बयान बदला और पुलिस को बताया कि मोटरसाइकिल सवार चार लोगों ने उसका अपहरण किया और उसे हटेजा गांव ले गए. पुलिस के अनुसार, महाराजपुर और हटेजा गांव दोनों ही अलग-अलग दिशाओं में पड़ते हैं.