close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

हरियाणा में भाजपा की 'युवा हुंकार रैली', अमित शाह की अगुवाई में पार्टी करेगी 2019 का चुनावी आगाज

अमित शाह की अगुवाई में हरियाणा के जींद में एक लाख बाइकों की रैली निकाली जाएगी.

हरियाणा में भाजपा की 'युवा हुंकार रैली', अमित शाह की अगुवाई में पार्टी करेगी 2019 का चुनावी आगाज
भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: 2019 के लोकसभा चुनाव के मद्देनजर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने अभी से कमर कसनी शुरू कर दी है. इसकी पहली कड़ी में राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के नेतृत्व में पार्टी गुरुवार (15 फरवरी) को जींद में हुंकार रैली का आयोजन करेगी. अमित शाह की अगुवाई में हरियाणा के जींद में एक लाख बाइकों की रैली निकाली जाएगी, जिसके बाद अमित शाह रैली को संबोधित भी करेंगे. सैकड़ों सुरक्षा कर्मी जींद में तैनात किए गए हैं. अर्द्धसैनिक बलों की 42 कंपनियां तैनात की गई हैं.

इससे पहले हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने बुधवार (14 फरवरी) को जींद में मोटरसाइकिल चला कर युवा हुंकार रैली की तैयारियों की जायजा लिया. सत्तारूढ़ भाजपा रैली में कम से कम एक लाख मोटरसाइकिलें आने की उम्मीद कर रही है. मुख्यमंत्री हेलीकॉप्टर से उतरकर मोटरसाइकिल चलाते हुए रैली स्थल तक गए. उनके साथ कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ओ.पी. धनकड़ और अन्य लोग थे.

मिशन कर्नाटक: BJP अमित शाह के लिए तलाश रही घर, कांग्रेस ने किराए पर लिए फ्लैट

एनजीटी ने भाजपा की 1 लाख बाइक रैली पर जवाब मांगा
भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह की अगुवाई में 15 फरवरी को हरियाणा के जींद में निकाले जाने वाली एक लाख बाइकों की रैली को मुश्किलों को सामना करना पड़ सकता है. राष्ट्रीय हरित न्यायाधिकरण(एनजीटी) ने बीते 9 फरवरी को राज्य सरकार से इस संबंध में जवाब मांगा था. एनजीटी ने यह आदेश याचिकाकर्ता समीर सोढ़ी द्वारा दाखिल उस हलफनामे पर दिया है, जिसमें उन्होंने ऐसी रैलियों से स्वास्थ्य समस्या उत्पन्न होने की ओर इशारा किया है.

याचिका में कहा गया था कि बाइक के स्थान पर सरकार को प्रतिभागियों को पर्यावरण के अनुकूल यातायात के साधनों को प्रयोग करने के लिए कहना चाहिए. सोढ़ी ने न्यायालय से कहा, "अधिकारियों को रैली के दौरान या तो बाइक की संख्या को कम करने या फिर ज्यादा पर्यावरण अनुकूल साधन या तरीका अपनाने जैसे साइकिल, पैदल या ई-रिक्शा को प्रयोग करने के निर्देश देना चाहिए." याचिकाकर्ता ने न्यायालय से प्रस्तावित रैली के होने की स्थिति में इससे हवा में होने वाले दुष्प्रभावों की जांच के लिए समिति गठित करने की मांग की.

(इनपुट एजेंसी से भी)