close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ZEE जानकारी: प्रणब मुखर्जी, नानाजी देशमुख और भूपेन हजारिका को दिया गया 'भारत रत्न'

गुरुवार को देश के मौजूदा राष्ट्रपति ने देश के पूर्व राष्ट्रपति को भारत रत्न से सम्मानित किया .

ZEE जानकारी: प्रणब मुखर्जी, नानाजी देशमुख और भूपेन हजारिका को दिया गया 'भारत रत्न'

गुरुवार को राष्ट्रपति भवन में आयोजित एक समारोह में भारत की तीन बड़ी हस्तियों को सर्वोच्च नागरिक सम्मान... भारत रत्न से सम्मानित किया गया . भारत के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को आज भारत रत्न से सम्मानित किया गया . राष्ट्रीय स्वयं संघ से जुड़े समाजसेवी नाना जी देशमुख और महान संगीतकार और गायक भूपेन हजारिका को ये सम्मान मरणोपरांत मिला है . 

और अब आपको आज की सबसे दिलचस्प तस्वीर दिखाते हैं . आज देश के मौजूदा राष्ट्रपति ने देश के पूर्व राष्ट्रपति को भारत रत्न से सम्मानित किया . भारत के वर्तमान राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद और पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी आज आमने-सामने थे . एक दौर था जब प्रणब मुखर्जी बतौर राष्ट्रपति, भारत रत्न से दूसरों को सम्मानित करते थे . लेकिन शायद उन्होंने कभी ये कल्पना नहीं की होगी कि एक दिन उन्हें भी भारत रत्न से सम्मानित किया जायेगा . 

इससे पहले 2 बार ऐसे मौके आये हैं जब तत्कालीन राष्ट्रपति ने पूर्व राष्ट्रपति को भारत रत्न से सम्मानित किया .

वर्ष 1962 में तत्कालीन राष्ट्रपति Doctor सर्वपल्ली राधाकृष्णन ने पूर्व राष्ट्रपति डॉक्टर राजेन्द्र प्रसाद को भारत रत्न से सम्मानित किया था .

और वर्ष 1975 में तत्कालीन राष्ट्रपति फ़ख़रुद्दीन अली अहमद ने पूर्व राष्ट्रपति V.V गिरी को भारत रत्न दिया था . 

आज प्रणब मुखर्जी के अलावा राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ से जुड़े समाजसेवी स्वर्गीय नानाजी देशमुख और महान संगीतकार और गायक स्वर्गीय भूपेन हज़ारिका को मरणोपरांत भारत रत्न से सम्मानित किया गया . 

इस समारोह में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के अलावा कई केंद्रीय मंत्री और दूसरे राजनीतिक दलों के नेता शामिल थे . कांग्रेस की तरफ से आनंद शर्मा, अहमद पटेल, शशि थरूर और सुशील कुमार शिंदे मौजूद थे . लेकिन लोगों को राहुल गांधी और सोनिया गांधी की नामौजूदगी बहुत हैरान कर रही थी . जबकि प्रणव मुखर्जी अपना जीवन कांग्रेस पार्टी को समर्पित कर चुके हैं .

ऐसे मौके पर जब प्रणब मुखर्जी को भारत रत्न का सम्मान दिया जा रहा था, राहुल गांधी और सोनिया गांधी को वहां ज़रूर मौजूद होना चाहिए था . ऐतिहासिक कार्यक्रम होने के बावजूद ये दोनों नेता कार्यक्रम में नहीं पहुंचे जबकि )) सूत्रों के मुताबिक सोनिया गांधी ने प्रणब मुखर्जी को अब तक भारत रत्न की बधाई भी नहीं दी है . जबकि इस सम्मान की घोषणा आज से 6 महीने पहले 25 जनवरी को कर दी गई थी .