close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ZEE जानकारी: चंद्रयान 2 ने भेजी चांद की तस्वीर

इन तस्वीरों को चंद्रयान Two के Vikram लैंडर ने कैप्चर किया है . इन्हें को देखकर पता चलता है कि चंद्रयान..चांद के कितना करीब पहुंच चुका है. 

ZEE जानकारी: चंद्रयान 2 ने भेजी चांद की तस्वीर

हम आज चांद की Classic तस्वीर का DNA टेस्ट करेंगे . ये तस्वीर चंद्रयान Two ने भेजी हैं . इन तस्वीरों को चंद्रयान Two के Vikram लैंडर ने कैप्चर किया है . इन्हें को देखकर पता चलता है कि चंद्रयान..चांद के कितना करीब पहुंच चुका है. इन तस्वीरों में चांद के एक हिस्से में Lunar Maria और Appolo Craters को देखा जा सकता है. इन तस्वीरों को चांद की सतह से 2 हज़ार 650 किलोमीटर की ऊंचाई से Click किया गया है . 

चंद्रयान two अभी चांद की कक्षा के चक्कर काट रहा है, और अगले कुछ दिनों में ये अपनी ऊंचाई घटाएगा . एक बार चांद की सतह पर Land करने के बाद, Lander से एक Rover निकलेगा. . 27 किलोग्राम का Rover, 6 पहिए वाला एक Robot वाहन है. इसका नाम संस्कृत से लिया गया है, जिसका मतलब 'ज्ञान' होता है. और अपने नाम के ही मुताबिक, ये चांद की सतह पर घूमते हुए जानकारियां इकट्ठा करेगा . 

चंद्रयान-Two में मुख्य रूप से तीन हिस्से हैं.

पहला Orbiter है, जो चंद्रमा की कक्षा में चक्कर लगाएगा. यानी इसका काम अब शुरु हो चुका है. और ये 1 सितम्बर तक चंद्रमा की कक्षा में चक्कर लगाकर चांद से जुड़ी अहम जानकारियां इकट्ठा करेगा. 1 सितम्बर की रात को, चंद्रयान Two, चांद के सबसे क़रीब होगा. 

इसका दूसरा हिस्सा Lander है. जिसे विक्रम नाम दिया गया है. और ये 2 सितम्बर को चंद्रयान Two से अलग होकर चंद्रमा की सतह पर उतरने की कोशिश करेगा. चांद की सतह के नज़दीक पहुंचने पर Lander अपनी कक्षा बदलेगा. और फिर वो सतह की उस जगह को Scan करेगा, जहां उसे उतरना है. क्योंकि इस मिशन की क़ामयाबी का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा Soft Landing है. Soft Landing तकनीकी Term है. इसका मतलब Landing की Technique से है. आसान भाषा में कहें, तो Soft Landing का मतलब हुआ, एक ऐसी Technique, जिससे Instruments को बिना किसी नुकसान के चांद की सतह पर Land कराया जा सके. Hard Landing वो होती है, जिसमें Landing होने पर Instruments को नुकसान होता है. इसीलिए कहा जा रहा है, कि मिशन की क़ामयाबी के लिए आखिरी के 15 मिनट बेहद चुनौतीपूर्ण होंगे .

चांद की सतह पर उतरने की तारीख होगी, 7 सितम्बर 2019...और वक्त होगा...रात एक बजकर 55 मिनट . चंद्रयान Two की Soft Landing का शुभ समाचार आने में...सिर्फ 16 दिन बाकी रह गए है .