close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ZEE जानकारी: क्या आपका बच्चा सुरक्षित वाहन में स्कूल जाता है?

School वाहनों को लेकर सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइंस की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं . 

ZEE जानकारी: क्या आपका बच्चा सुरक्षित वाहन में स्कूल जाता है?

अब हम छोटे छोटे स्कूली बच्चों के लिए ज़रूरी आज़ादी का DNA टेस्ट करेंगे . अगर आपके घर में भी स्कूल जाने वाले बच्चे हैं तो आपको ये DNA टेस्ट ज़रूर देखना चाहिए .

भारतीय दार्शनिक और विचारक जे कृष्णमूर्ति कहते थे कि शिक्षा का कोई अंत नहीं होता, सिर्फ परीक्षा पास करना शिक्षा नहीं है . बल्कि जीवन भर सीखते रहने की कला का नाम शिक्षा है . लेकिन ऐसा लगता है कि हमारा समाज और सिस्टम गलतियों से सीखने में यकीन नहीं रखता . यही वजह है कि हम हर बार स्कूल जाने वाले बच्चों की सुरक्षा को नजरअंदाज़ कर देते हैं .

हमारी नींद सिर्फ हादसों के बाद टूटती है, लेकिन थोड़े दिनों के बाद हमारा समाज और सिस्टम फिर से गहरी नींद में चला जाता है . आज हम स्कूली बच्चों की सुरक्षा को लेकर सिस्टम की बेहोशी तोड़ने वाला एक विश्लेषण करेंगे .

आपके बच्चे स्कूल जाकर शिक्षा हासिल करते हैं. लेकिन घर से स्कूल और स्कूल से घर तक का सफर बच्चों के लिए कितना जानलेवा और घुटन भरा होता है ये हम आज आपको बताएंगे . जो तस्वीरें इस वक्त आप देख रहे हैं वो स्कूल जाते छोटे छोटे बच्चों की है .

इन बच्चों को School Vans, Buses और रिक्शा में भर भर कर ले जाया जाता है . तस्वीरें देखकर साफ पता चलता है बच्चों की संख्या के मुकाबले वाहनों में सीटों की संख्या बहुत कम है . लेकिन फिर भी कोई इस तरफ ध्यान नहीं देता . Schools.. मोटी फीस कमाने में व्यस्त हैं . माता-पिता बच्चों को इन वाहनों में चढ़ाकर अपने काम काज में जुट जाते हैं . ट्रैफिक पुलिस रिश्वत लेकर इन वाहनों के चालकों को छोड़ देती है . Transport Authorities कागज़ों पर नियम बनाकर खाना पूर्ति कर लेती हैं, और फिर सब कुछ ऐसे ही चलता रहता है .

हमने सड़क पर दौड़ रहीं कुछ स्कूल बसों का On The Spot DNA टेस्ट किया . इस दौरान हमे पता चला कि School वाहनों को लेकर सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइंस की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं .

हमारी पड़ताल में सामने आया कि कुछ बसों में CCTV कैमरे नहीं लगे थे, कई बसों में First Aid Box नहीं थे . कई बसों के ड्राइवर्स बिना Uniform के बस चला रहे थे . कुछ Bus Drivers को तो निर्धारित गति सीमा की भी जानकारी नहीं थी . इतना ही नहीं.. कई बसों में कोई Attendant तक नहीं था . यानी स्कूलों ने बच्चों की सुरक्षा को पूरी तरह भगवान भरोसे छोड़ रखा है .

हमने पहले भी इस समस्या को देश के सामने रखा था . रिक्शा में लदे हुए स्कूली बच्चों की तस्वीरें आपको दिखाई थी . हमने आपको ये भी बताया था कि कैसे School Vans में बच्चों को जानवरों की तरह भर दिया जाता है . जुगाड़ तकनीक से तैयार किए गए वाहनों को पिंजरों में बदल दिया जाता है और बच्चों को इसमें ठूंस दिया जाता है . बच्चे इन दमघोटू वाहनों में स्कूल से घर और घर से स्कूल तक का सफर तय करते हैं . 

ज़ी न्यूज़ ने ऐसी समस्याओं का इलाज करने के लिए अलग तरह की रिपोर्टिंग करता है. हम एक एक करके.. उन समस्याओं पर फोकस कर रहे हैं.. जो देश के आम लोगों से जुड़ी हैं . कुछ दिनों पहले हमने आपकी सेहत बिगाड़ने वाली जहरीली सब्जियों का DNA टेस्ट किया था और आज हम आपके बच्चों की सुरक्षा और सेहत से जुड़ा एक गंभीर विश्लेषण कर रहे हैं . 

आप हमारे इस Reality Check को ध्यान से देखिए, हो सकता है कि हमारी रिपोर्ट में जो कुछ आपको दिखाई देगा.. वो आपके बच्चों के साथ भी हो रहा हो . इसके बाद हम आपको स्कूल बस से जुड़े नियम और शिकायत करने का तरीका बताएंगे .

अगले विश्लेषण से पहले हमारे पास देश के बच्चों, ख़ासकर युवाओं के लिए एक सवाल हैं ? क्या भारतीय वायुसेना के शौर्य की तस्वीरें देखकर, आपका मन करता है, कि काश...भविष्य में भारतीय वायुसेना में शामिल होकर देश की सेवा करने का मौका

मिले ? अगर आपके मन में ऐसे भाव पैदा होते हैं, तो तैयार हो जाइए. 

क्योंकि, भारतीय वायुसेना आपके लिए एक ऐसा Video Game लेकर आई है, जिसे खेलते वक्त आपको ना सिर्फ वायुसैनिक होने का अहसास होगा. बल्कि हो सकता है, कि इस Game को खेलने के बाद आप भी Indian Airforce में शामिल होने की तैयारियां शुरु कर दें. ये Video Game, आपको भारतीय वायु सेना के पराक्रम के साथ-साथ, विंग कमाडंर अभिनंदन वर्द्धमान के शौर्य की भी याद दिलाएगा. जब उन्होंने पाकिस्तान के F-16 फाइटर जेट को मार गिराया था.

इससे आप विंग कंमाडर अभिनंदन की तरह पाकिस्तान को सबक सिखाने वाले ऐतिहासिक पलों को अनुभव कर सकते हैं. ये नये ज़माने में भारतीय वायुसेना के प्रचार करने का एक प्रभावशाली तरीका है. इसकी मदद से आप मनोरंजन के साथ-साथ देशभक्ति और युद्ध के दौरान वायु सैनिक के हौसलों को क़रीब से महसूस कर पाएंगे. Air Chief Marshal B.S. धनोवा ने आज औपचारिक तौर पर इस Video Game को Launch किया है. आप इस Game को कैसे खेल पाएंगे, ये समझने से पहले इसकी एक छोटी सी झलक देख लीजिए. और ये सुनिए, कि भारतीय वायुसेना के Air Chief Marshal ने आप सभी से क्या अपील की है.