close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ZEE जानकारी: Emoji के बारे में कितना जानते हैं आप?

इमोजी ऐसे जज़्बात हैं जो पूरी तरह डिजिटल हैं.

ZEE जानकारी: Emoji के बारे में कितना जानते हैं आप?

आप भी इमोजी का रोज़ इस्तेमाल करते होंगे. जब आप Whatsapp, फेसबुक और Twitter पर किसी बात को लेकर प्रतिक्रिया देते हैं...तो उसमें इन पीले रंग के चेहरों का इस्तेमाल भी करते होंगे. आज इनमें कपड़ों से लेकर खाने-पीने का सामान भी है. विमान और रॉकेट भी हैं और बम पटाख़ें भी हैं. कभी कोई विमान से यात्रा करता है...तो वो सोशल मीडिया पर विमान की तस्वीर वाला इमोजी पोस्ट कर देता है. कोई रेस्टोरेंट में खाना खाता है...तो खाने-पीने की इमोजी पोस्ट कर देता है. यानी इमोजी ऐसे जज़्बात हैं जो पूरी तरह डिजिटल हैं.

इमोजी जापानी शब्द है...और विश्व का पहला इमोजी 1999 में जापान के ही एक कलाकार शिगेताका कुरिता ने बनाया था. वर्ष 2010 के बाद स्मार्टफोन की वजह से इमोजी के इस्तेमाल में क्रांति आ गई है.

वर्ष 2005 में सिर्फ़ 105 इमोजी थे...लेकिन 2015 में इनकी तादाद 1600 से ज़्यादा हो गई. आज सोशल मीडिया में 3000 से ज़्यादा इमोजी हैं.
((इमोजी अब हमारी डिजिटल संस्कृति का अटूट हिस्सा बन चुके हैं और ))ये बातचीत करने की नई भाषा गढ़ रहे हैं.

वर्ष 2015 में Oxford Dictionaries ने Word Of The Year में किसी शब्द को नहीं...बल्कि इमोजी को चुना था. Oxford Dictionaries ने जिस इमोजी को चुना था...वो खुशी के आंसुओं वाला पीला चेहरा था. और आज भी ये दुनिया का सबसे पसंदीदा इमोजी बना हुआ है.

अगर इतिहास देखें तो प्राचीन Egypt में आपको Hieroglyph (हाइरोग्लिफ़) में इमोजी की झलक मिलेगी. ये दो हज़ार वर्ष पुरानी वो Sign और Symbol Language है...जो Egypt में पिरामिड और बाक़ी प्राचीन इमारतों में उकेरी गई है.

और आज आधुनिक दुनिया में इमोजी ने ये जगह ली है. वर्ष 2014 में विश्व इमोजी दिवस मनाने की शुरुआत की गई थी और आज इसमें नये-नये कैरेक्टर जुड़ने से इसका दायरा और बढ़ता जा रहा है.