ZEE जानकारी : जानें भारत और पाकिस्तान के विपक्षी दलों के बीच क्या फर्क है?

 

ZEE जानकारी : जानें भारत और पाकिस्तान के विपक्षी दलों के बीच क्या फर्क है?

 

अब आपको ये बताते हैं कि भारत और पाकिस्तान के विपक्ष के बीच क्या फर्क है. वैसे तो विपक्ष का काम सरकार की आलोचना करना और सरकार के गलत कामों पर नज़र रखना है. लेकिन जब बात राष्ट्रहित की होती है, तो पूरा विपक्ष सरकार के साथ खड़ा होता है. 

ये आदर्श परिस्थतियों की बात है. लेकिन भारत में स्थिति कुछ और है. क्योंकि यहां का विपक्ष, राष्ट्रहित के मुद्दे पर भारत के बजाए पाकिस्तान की तारीफ करता है. ऐसा लगता है कि विपक्ष के नेताओं में देश विरोधी, स्तरहीन और विवादित बयान देने की होड़ लगी हुई है.

आज कांग्रेस के नेता और राज्यसभा सांसद BK हरिप्रसाद ने एक विवादित बयान दिया है. BK हरिप्रसाद ने पुलवामा के आतंकवादी हमले को पाकिस्तान और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बीच की मैच फिक्सिंग बताया है. BK हरिप्रसाद ये कहना चाहते हैं कि पाकिस्तान और भारत की सरकार ने मिलकर ये आतंकवादी हमला करवाया. सबसे पहले आप उनका ये विवादित बयान सुनिए और फिर हम अपनी बात आगे बढ़ाएंगे. 

BK हरिप्रसाद से ये पूछा जाना चाहिए कि इतना बड़ा आरोप लगाने के लिए उनके पास क्या प्रमाण हैं? क्या उनके पास अपनी बात साबित करने का कोई सबूत है ? पुलवामा हमले के बाद भारत ने जिस तरह से पाकिस्तान के खिलाफ कार्रवाई की है, उससे विपक्ष परेशान हो गया है. विपक्ष को आने वाले लोकसभा चुनाव नज़र आ रहे हैं. शायद इसीलिए विपक्ष के नेता इस तरह के विवादित बयान दे रहे हैं. वैसे BK हरिप्रसाद के Boss और कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष राहुल गांधी भी सबूतों वाली राजनीति में एक कदम आगे बढ़ गए हैं. अब उन्होंने शहीदों के परिवार के कंधे पर सबूतों वाली बंदूक रखकर निशाना लगाया है. 

वैसे राहुल गांधी भले ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पाकिस्तान का Poster Boy बता रहे हों, लेकिन पाकिस्तान में नरेन्द्र मोदी नहीं.. बल्कि राहुल गांधी और कांग्रेस के काम को पसंद किया जा रहा है.

पुलवामा हमले के बाद भारत का विपक्ष कैसे राजनीतिक रोटियां सेंक रहा है, ये तो आपने देख लिया. लेकिन पाकिस्तान का विपक्ष कैसे पूरी ज़िम्मेदारी के साथ राजनीति कर रहा है, ये भी आपको देखना चाहिए. पुलवामा हमले के बाद भारत ने पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकवादी कैंपों पर हवाई हमला किया था. और इसके बाद पूरे पाकिस्तान का विपक्ष एक हो गया. लेकिन भारत में पूरा विपक्ष.. एकजुट होकर देश विरोधी राजनीति कर रहा है. 

पाकिस्तान में विपक्ष के नेता... अपनी मर्यादाओं का ख्याल रखते हुए आतंकवाद का मुद्दा उठा रहे हैं. जबकि भारत में विपक्ष के नेताओं को आतंकवाद की नहीं... बल्कि नरेंद्र मोदी की चिंता है. 

कल पाकिस्तान की संसद में बहस हो रही थी. और इस बहस में पाकिस्तान पीपल्स पार्टी के नेता बिलावल भुट्टो ने ये सवाल उठाए कि उनकी सरकार पाकिस्तान के आतंकवादी संगठनों के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं कर रही है ? यानी जो काम भारत के विपक्ष को करना चाहिए था.. वो काम पाकिस्तान का विपक्ष कर रहा है. 

भारत का विपक्ष भले ही देश के साथ ना हो, और पाकिस्तान की टीम से खेल रहा हो. लेकिन जिन्हें देश की परवाह है, वो 24 घंटे अपना काम पूरी निष्ठा के साथ कर रहे हैं.

आज भारतीय वायुसेना ने एक प्रेस Statement जारी किया है. जिसमें कहा गया है, कि मौजूदा हालात को देखते हुए, भारतीय वायुसेना किसी भी स्थिति से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार है.

पाकिस्तान की वायुसेना की तरफ से की जाने वाली किसी भी आक्रामक कार्रवाई का जवाब देने के लिए, भारतीय वायुसेना देश के Air Space की कड़ी निगरानी भी कर रही है.

इसलिए आप पाकिस्तान के पक्ष में एजेंडा चलाने वालों की फिक्र मत कीजिए. और देश की वायुसेना पर भरोसा रखिए.