close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ZEE जानकारी: जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 खत्म होने के बाद बौखला गया है पाकिस्तान

ये बौखलाहट इतनी ज्यादा है कि पाकिस्तान के सांसद..National Assembly में कश्मीर पर बोलते हुए आपस में ही लड़ रहे हैं.

ZEE जानकारी: जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 खत्म होने के बाद बौखला गया है पाकिस्तान

जम्मू और कश्मीर पर भारत सरकार की आक्रामक नीति ने पाकिस्तान को विचलित कर दिया है . ये बौखलाहट इतनी ज्यादा है कि पाकिस्तान के सांसद..National Assembly में कश्मीर पर बोलते हुए आपस में ही लड़ रहे हैं...एक दूसरे को भद्दी भद्दी गालियां दे रहे हैं . एक दूसरे की तुलना जानवरों से कर रहे हैं . नौबत हाथापाई तक भी पहुंच चुकी है. कश्मीर के मुद्दे पर पाकिस्तान ने कैसे खुद का तमाशा बना दिया है.. ये हम आपको दिखाएंगे . लेकिन पहले ये जान लीजिए कि पाकिस्तान ने पिछले 24 घंटों में भारत के खिलाफ क्या क्या कदम उठाए हैं .

पाकिस्तान ने भारत के साथ Diplomatic संबंधों को DownGrade कर दिया है . यानी राजनयिक संबंधों का दर्जा घटा दिया है.

पाकिस्तान ने भारत के उच्चायुक्त अजय बिसारिया को भी भारत जाने के लिए कह दिया है.

इसके अलावा द्वीपक्षीय व्यापार को भी अपनी तरफ से बंद कर दिया है . 

पाकिस्तान ने ये भी कहा है कि वो अनुच्छेद 370 हटाए जाने के मुद्दे को United Nations में उठाएगा और संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद से भी इसकी शिकायत करेगा . 

पाकिस्तान ने भारत की फिल्मों पर भी एक बार फिर से पाबंदी लगा दी गई है. साथ ही दोनों देशों के बीच चलने वाली समझौता एक्सप्रेस को भी रोक दिया है .

भारत के विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान के इस एक तरफा फैसले का विरोध किया है. और पाकिस्तान को इस पर दोबारा गौर करने के लिए कहा है.

विदेश मंत्रालय ने इस संबंध में एक बयान जारी किया है . इस बयान में भारत ने कहा है कि पाकिस्तान ये सब करके दुनिया को गलत तस्वीर दिखाने की कोशिश कर रहा है.

कश्मीर पर भारत सरकार ने जो फैसला लिया है उससे जम्मू-कश्मीर के लोगों का आर्थिक और सामाजिक विकास होगा .

भारत ने तीसरी बात ये कही है कि धारा 370 हटाए जाने से जम्मू कश्मीर के लोगों खुश हैं और पाकिस्तान इस बात से परेशान है.

इस बयान की चौथी और सबसे महत्वपूर्ण बात ये है कि कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने का फैसला भारत का आंतरिक मामला है . भारत का संविधान भारत की संप्रभुता से जुड़ा विषय था, है और रहेगा . पाकिस्तान भारत के मामलों में दखल देने के अपने इरादों में कभी कामयाब नहीं हो सकता .

इस बयान के आखिर में ये कहा गया है कि भारत सरकार को पाकिस्तान के फैसलों पर अफसोस है. भारत अपील करता है कि पाकिस्तान इस फैसले पर फिर से गौर करे, ताकि राजनयिक संबंधों में कोई रुकावट ना आए .

यानी भारत ने साफ कर दिया है कि किसी तीसरे देश की बात तो छोड़िए...भारत कश्मीर पर अब पाकिस्तान के साथ भी बात नहीं करेगा . क्योंकि कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है. हमारे देश का राज्य है. कश्मीरी भारत के नागरिक हैं और पाकिस्तान का इन सबसे कोई लेना देना नहीं होना चाहिए .