close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

Zee Jaankari: गर्व से सीना चौड़ा करने वाली 87 वर्ष की भारतीय वायु सेना की शौर्यगाथा

भारतीय वायु सेना की ताक़त से आप अच्छी तरह परिचित हैं . लेकिन आज इसके 87 वर्षों का रोमांचक और शक्तिशाली Flashback देखने का दिन है. 

Zee Jaankari: गर्व से सीना चौड़ा करने वाली 87 वर्ष की भारतीय वायु सेना की शौर्यगाथा

भारतीय वायु सेना की ताक़त से आप अच्छी तरह परिचित हैं . लेकिन आज इसके 87 वर्षों का रोमांचक और शक्तिशाली Flashback देखने का दिन है. आज से 87 वर्ष पहले 8 अक्टूबर 1932 में वायुसेना की स्थापना हुई थी...इसलिए हर वर्ष 8 अक्टूबर को Air Force Day मनाया जाता है. वर्ष 1947 तक भारत पर अंग्रेजों का शासन था और तब से लेकर 1947 तक इसका नाम Royal एयरफोर्स हुआ करता था... आज़ादी के बाद इसका नाम बदलकर Indian Air Force रखा गया.  आज ये दुनिया की चौथी सबसे ताकतवर वायुसेना है... जिसके पास 1 लाख 40 हज़ार जवानों और ((2185)) 2 हज़ार से ज़्यादा Aircrafts की ताक़त है.

लेकिन वर्ष 1947 में हमारे पास सिर्फ़ 56 Aircraft हुआ करते थे. इतनी कम संख्या के बावजूद हमारी वायु सेना ने कश्मीर को पाकिस्तान के कब्ज़े में जाने से बचाया था. आज़ादी के तुरंत बाद पाकिस्तान की सेना के साथ कबाइली लुटेरों ने कश्मीर पर हमला कर दिया था. तब वायुसेना ने कश्मीर तक. एक तरह का AERO BRIDGE बना दिया था यानी वायुसेना के विमान हर मोर्चे पर लगातार भारतीय सैनिकों को कश्मीर पहुंचा रहे थे.

इसी की वजह से भारत ने कश्मीर को पाकिस्तान के कब्ज़े से छुड़ा लिया था. 1965 के भारत-पाकिस्तान युद्ध में वायुसेना ने पाकिस्तान की सेना को अपनी ताक़त दिखाई.. जिसकी वजह से कश्मीर की तरफ बढ़ते पाकिस्तानी सेना के क़दम रुक गए और कश्मीर को जीतने के लिए Launch किया गया पाकिस्तान का ऑपरेशन जिब्राल्टर नाकाम हो गया .

1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध में पाकिस्तान ने पहला वार भारतीय वायुसेना पर ही किया था. 3 दिसंबर को पाकिस्तान ने कश्मीर, पंजाब, राजस्थान और उत्तर प्रदेश के एयरबेस पर एक साथ हमला किया था. वायुसेना ने इसका बदला पूर्वी पाकिस्तान में पाकिस्तान की वायुसेना को नाकाम करके लिया. ढाका में Government House को भारतीय वायुसेना के मिग 21 फ़ाइटर Jets ने पाकिस्तानी सरकार की बैठक से कुछ देर पहले ही तहस-नहस कर दिया... इस हमले से केवल Govenment House की छत ही नहीं पाकिस्तानी सरकार के हौसले भी उड़ गए थे .

1999 में करगिल युद्ध में भारतीय वायुसेना के फ़ाइटर जेट्स ने टाइगर हिल और तोलोलिंग जैसी पहाड़ियों में बने पाकिस्तानी घुसपैठियों के अड्डों को तबाह कर दिया था...तब मिराज फ़ाइटर जेट के हमले में सैकड़ों पाकिस्तानी घुसपैठिए मारे गए थे...दुश्मन को ठिकाने लगाने से लेकर देश के सामान्य लोगों की ज़िंदगी बचाने में... भारतीय वाय़ुसेना की बहुत बड़ी भूमिका रही है . भारतीय वायुसेना इस समय दुनिया के सबसे अच्छे और आधुनिक लड़ाकू विमानों का इस्तेमाल कर रही है..और इनका प्रदर्शन आज गाजियाबाद के हिंडन एयरबेस में किया गया है .

आज एयर फोर्स डे पर भारतीय सीमा की रक्षा करने वाले विंग कमांडर अभिनंदन की 51 Squadron... बालाकोट में हमला करनेवाली मिराज 2000 की 9 Squadron और फ्लाइट कंट्रोलर मिंटी अग्रवाल की 601 Signal Unit को वायुसेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया ने सम्मानित किया है . तीनों यूनिट को ये सम्मान 26 फरवरी को बालाकोट में एयर स्ट्राइक करने और...

27 फरवरी को पाकिस्तानी लड़ाकू विमानों के हमले को नाकाम करने के लिए दिया गया है .भारतीय वायुसेना ने हर मौके पर... देश का सीना गर्व से चौड़ा किया है... और दुश्मनों को उनकी हैसियत दिखाई है.. . आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी अभी तक लड़े गए सभी युद्धों... और प्राकृतिक आपदा में मदद के लिए वायुसैनिकों की तारीफ की...

वैसे आपको ये जानकर खुशी होगी...कि भारतीय वायुसेना पाकिस्तान से दोगुनी ताकतवर है... और लगातार भारतीय वायुसेना और भी शक्तिशाली बनती जा रही है...आपमें से हमारे कई दर्शक ऐसे होंगे...जिन्हें  हिंडन एयरबेस पर जाकर..भारतीय वायुसेना का शक्ति प्रदर्शन देखने का मौका नहीं मिला होगा...

इसलिए आज हमने ख़ास आपके लिए....भारतीय वायुसेना की ताकत और जश्न की तस्वीरों का एक ताकतवर वीडियो विश्लेषण किया है... . ताकि आप घर बैठे ही...देश की ताकत का अनुभव कर सकें..भारतीय वायुसेना के गौरवशाली इतिहास का जश्न देखकर आज देश के दुश्मनों को जलन महसूस हो रही होगी..वायुसेना के वायुवीरों की ये ताकत शत्रुओं के खिलाफ ऑपरेशन विजय के लिए हर वक्त तैयार है..

पाकिस्तान के F-16 विमान को उसके घर में घुसकर मारने वाले विंग कमांडर अभिनंदन ने आज हिंडन एयरबेस के ऊपर... मिग-21 बाइसन से फ्लाई पास्ट किया . एयरफोर्स डे पर विंग कमांडर अभिनंदन ने साथ 3 मिग 21 विमान उड़ान भर रहे थे. उनका नेतृत्व वीर चक्र विजेता विंग कमांडर अभिनंदन कर रहे थे . जैसे ही मिग 21 के Fly Past की घोषणा हुई..

. पूरा एयरबेस तालियों से गूंज उठा .87वें भारतीय वायुसेना दिवस के मौके पर... वायुसेना के जवानों ने परेड करके अपने झंडे को सलामी दी...वायुसेना परेड में कुछ मिनटों तक दर्शकों की आंखे लगातार एयर वॉरियर टीम पर रहीं... इस टीम ने तेज धार की संगीनों वाली राइफलों से ऐसे करतब दिखाए जैसे वो राइफल नहीं खिलौने हों..इसके बाद एयरशो की शुरूआत भारतीय वायुसेना के दो नए हेलीकॉप्टरों के साथ हुई...

फ्लाईपास्ट में सबसे पहले 3 शिनूक हेलीकॉप्टर आए... दो इंजन वाले ये हेलीकॉप्टर पहाड़ी इलाकों में भी आराम से उड़ान भर सकते हैं .शिनूक के बाद नंबर था वायुसेना के नए अटैक हेलीकॉप्टर यानी अपाचे का... अमेरिका से खरीदे गए अपाचे... दुनिया के सबसे ताकतवर अटैक हेलीकॉप्टर में एक हैं .इन हेलीकॉप्टरों के बाद वायुसेना के विंटेज ट्रेनर एयरक्राफ्ट टाइगर मॉथ और Harvard Vintage आए. एयरफोर्स डे की परेड में वायुसेना के military transport aircraft C130J Super Hercules भी आए...

इन तीन विमानों ने काफी नीची उड़ान भरी..फ्लाईपास्ट में भारत के सबसे बड़े ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट सी17 ग्लोबमास्टर का साथ दे रहे थे... दो सुखोई 30 एमकेआई लड़ाकू विमान .बालाकोट में बमबारी करने वाले मिराज 2000 विमानों ने Avenger Formation में उड़ान भरी... परमाणु हथियारों को ले जाने की क्षमता रखनेवाले तीन मिराज 2000 विमानों ने शानदार करतब दिखाए..

चीफ ऑफ एयर स्टाफ को सलामी देने के लिए सुखोई 30 mki लड़ाकू विमानों ने फ्लेयर छोड़ते हुए उड़ान भरी... लड़ाकू विमानों में लगे फ्लेयर का इस्तेमाल दुश्मनों की मिसाइलों से बचने के लिए किया जाता है. भारतीय वायुसेना के सबसे पुराने विमानों में एक मिग 21... के साथ मिग 29 और जगुआर एयरक्राफ्ट भी शामिल थे.

अगला नंबर था वायुसेना के रंगबिरंगे सूर्यकिरण विमानों का.. देश में ही बने तेजस विमान को भी वायुसेना दिवस के एयरशो में शामिल किया गया... और तेजस को करतब दिखाने के लिए बाकी विमानों से ज्यादा वक्त मिला..इसके बाद दर्शकों का इंतजार खत्म हुआ और सामने आई सारंग हेलीकॉप्टर की टीम...

ध्रुव हेलिकॉप्टर्स की सारंग टीम ने आसमान में एक से बढ़कर एक कलाबाजियां दिखाई...भारतीय वायुसेना दुनिया की चौथी सबसे ताकतवर वायुसेना है... इसके जांबाज रात दिन आसमान में चौकसी करते हुए देश को बाहरी खतरे से बचाने के लिए लगे रहते हैं... भारतीय वायुसेना को 100 साल का होने में कुछ ही वर्ष बाकी हैं . इसका सफर अब सुपरसोनिक सुखोई-30 विमानों से आगे रफाल विमान तक पहुंच गया है. जो वायुसेना की ताकत को और ज्यादा बढ़ा देगा.