Zee Jaankari: चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की खास कार 'होंग- की' का विश्लेषण

'होंग-की' का चाइनीज़ भाषा में अर्थ होता है 'लाल ध्वज' और चीन की इस सबसे पुराने कार ब्रांड का इस्तेमाल चीन के बड़े कम्यूनिस्ट नेता भी करते हैं

Zee Jaankari: चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की खास कार 'होंग- की' का विश्लेषण

जब चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग चेन्नई हवाई अड्डे से महाबलीपुरम के लिए रवाना हुए तो वो एक खास कार में बैठे हुए थे. जिसका नाम है- 'होंग- की'. शी जिनपिंग के भारत आने से पहले ही उनकी स्पेशल कार चीन से चेन्नई पहुंच चुकी थी. इस कार को चाइनीज़ लिमोज़ीन भी कहा जाता है.

'होंग-की' का चाइनीज़ भाषा में अर्थ होता है 'लाल ध्वज' और चीन की इस सबसे पुराने कार ब्रांड का इस्तेमाल चीन के बड़े कम्यूनिस्ट नेता भी करते हैं. ये कार 18 फीट लंबी है और साढ़े 6 फीट चौड़ी है. 3152 किलो के वज़न वाली ये कार 5 फीट ऊंची है. 'होंग-की' चीन की सबसे महंगी कार है. और ये सिर्फ 8 सेकेंड में 100 किलोमीटर प्रति घंटे की स्पीड पकड़ सकती है.

अब हम आपको दोनों नेताओं के कल के कार्यक्रम के बारे में भी बता देते हैं. कल सुबह 9 बजकर 50 मिनट पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और राष्ट्रपति शी जिनपिंग चेन्नई के ताज फिशरमैन केव Resort पहुंचेंगे. और सुबह 10 बजे दोनों के बीच बातचीत शुरू होगी. सुबह 10 बजकर 50 मिनट पर दोनों देशों के बीच प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता होगी. करीब 55 मिनट की बातचीत के बाद 11 बजकर 45 मिनट पर प्रधानमंत्री मोदी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के सम्मान में लंच देंगे. उसके बाद दोपहर 12 बजकर 45 मिनट पर राष्ट्रपति जिनपिंग चेन्नई एयरपोर्ट के लिए रवाना हो जाएंगे.