close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

Zee Jaankari: आंकड़ों के जरिए पाकिस्तान के भविष्य का विश्लेषण

अब हम आंकड़ों के जरिए पाकिस्तान के भविष्य का विश्लेषण करेंगे. पाकिस्तान की जनसंख्या 20 करोड़ है. और वहां 30 वर्ष से कम उम्र के लोगों की संख्या 14 करोड़ से ज्यादा है. 

Zee Jaankari: आंकड़ों के जरिए पाकिस्तान के भविष्य का विश्लेषण

अब हम आंकड़ों के जरिए पाकिस्तान के भविष्य का विश्लेषण करेंगे. पाकिस्तान की जनसंख्या 20 करोड़ है. और वहां 30 वर्ष से कम उम्र के लोगों की संख्या 14 करोड़ से ज्यादा है. पाकिस्तान में ऐसे बच्चों की संख्या 5 करोड़ से ज्यादा है जो स्कूल जा सकें . लेकिन UNESCO ((United Nations Educational, Scientific and Cultural Organisation)) के मुताबिक इन 5 करोड़ बच्चों में से 37 प्रतिशत बच्चे स्कूल ही नहीं जा पाते .यानी पाकिस्तान में हर तीन में से एक बच्चा स्कूल नहीं जा पाता है. Human Rights Watch की रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान में हर तीन में से सिर्फ एक बच्ची ही Primary School जा पाती है.

पाकिस्तान में 12 प्रतिशत युवा ही ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी कर पाते हैं. आपको यहां ये भी जानना चाहिए कि पाकिस्तान शिक्षा पर सबसे कम खर्च करने वाले देशों में से एक है. वो जीडीपी का सिर्फ 2 प्रतिशत ही शिक्षा पर खर्च करता है .भारत पिछले 70 वर्षों में विकास की रेस में. पड़ोसी पाकिस्तान से मीलों आगे निकल चुका है.

भारतीय सेना दुनिया की चौथी सबसे ताकतवर सेना है. भारत की अर्थव्यवस्था. दुनिया में छठे नंबर पर है. भारत का विदेशी मुद्रा भंडार. करीब 190 लाख करोड़ रुपए है. जो पाकिस्तान की GDP से 87 हज़ार करोड़ रुपए ज्यादा है . लेकिन दोनों देशों में जमीन आसान का अंतर होने के बावजूद नए पाकिस्तान की सरकार...

और नेताओं की सोच में कोई बदलाव नहीं आया है . वो अब भी भारत का कब्जा करने का सपना देख रहे हैं . दोनों देशों की सोच में जमीन और आसमान जैसा अंतर है . और इसकी एक वजह है, पाकिस्तान में मौजूद हाफिज सईद और मौलाना मसूद अजहर जैसे आतंकवादी... जिन्हें पाकिस्तान की सरकार और जनता दोनों ही अपना रोल मॉडल मानते हैं.