close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

Zee jaankari: दिल्ली में पीएम मोदी के पैर जमाने में अरुण जेटली का है बड़ा हाथ

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज अपने परम मित्र अरुण जेटली को याद करते हुए भावुक हो गए.

Zee jaankari: दिल्ली में पीएम मोदी के पैर जमाने में अरुण जेटली का है बड़ा हाथ

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज अपने परम मित्र अरुण जेटली को याद करते हुए भावुक हो गए. दिल्ली के जवाहरलाल नेहरु स्टेडियम में आयोजित श्रद्धांजलि सभा में प्रधानमंत्री मोदी ने पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली के साथ अपनी दोस्ती को भी याद किया .पिछले महीने 24 अगस्त को अरुण जेटली का निधन हुआ था...उस समय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संयुक्त अरब अमीरात और बहरीन की यात्रा पर थे .आज मोदी ने कहा कि उन्हें इस बात का दुख है कि वो अपने दोस्त का अंतिम दर्शन नहीं कर पाए...मोदी ने कहा कि उन्हें अपने मित्र अरुण जेटली की कमी हर पल महसूस होती है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ये संवाद बेहद भावुक था .नरेंद्र मोदी और अरुण जेटली में गहरी मित्रता थी और ये मित्रता दशकों की थी . जेटली ने दिल्ली की राजनीति समझने में भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बहुत सहायता की .वर्ष 1995 में जब गुजरात में बीजेपी सत्ता में आई और नरेंद्र मोदी को दिल्ली भेज दिया गया, तब जेटली, नरेंद्र मोदी के क़रीब आते चले गए.

1999 में अरुण जेटली को अशोक रोड के पार्टी मुख्यालय के बग़ल में सरकारी बंगला एलॉट किया गया.लेकिन, उन्होंने अपना घर बीजेपी के नेताओं को दे दिया. ताकि पार्टी के जिन नेताओं को राजधानी में मकान न मिल सके, उनके सिर पर एक छत हो.इस दौरान जिस संबंध को अरुण जेटली ने सबसे ज़्यादा तरजीह दी या अपने दिल के क़रीब रखा, वो संबंध था गुजरात के नेता नरेंद्र मोदी के साथ.

दिल्ली में रहने के लिए जितने भी सामान की जरूरत थी, और अन्य ज़रूरी इंतज़ाम करने थे. उसकी देखरेख अरुण जेटली ही किया करते थे.उस समय के पत्रकारों का कहना है, कि उस ज़माने में नरेंद्र मोदी अक्सर अरुण जेटली के कैलाश कॉलोनी वाले घर में देखे जाते थे.