ZEE जानकारी: Cyber Mob Lynching के शिकार युवा

सफलता हासिल करने से ज्यादा ज़रूरी है, उसे संभालकर रखना . लेकिन कई बार ये बहुत मुश्किल हो जाता है . क्योंकि सफलता अपने साथ...बहुत सारे Side Effects लेकर आती है . 

ZEE जानकारी: Cyber Mob Lynching के शिकार युवा

युवाओं की विकृत मानसिकता कैसे एक पूरे समाज को बीमार बना सकती है. ये हमने आपको दिखाया. लेकिन अब आपको ये देखना चाहिए कि कैसे हमारे देश के युवा. सफलता को भी एक मनोरोग में बदल रहे हैं. महान Martial Artsit और अभिनेता Bruce Lee अमर होने की युक्ती जानते थे. वे मानते  थे कि.. जिंदगी ऐसे जिएं. जिसे लोग हमेशा याद रखें. लेकिन आजकल के युवा अपनी जिंदगी को यादगार बनाने के बाद भी मौत को गले लगा रहे हैं. वो अमर होने के लिए आत्महत्या नही कर रहे बल्कि उन्हें रातों रात मिली लोकप्रियता ही उनके लिए जानलेवा साबित हो रही है. कहते हैं लोकप्रियता हासिल करने से भी ज्यादा मुश्किल है..उसे पचाना और अपनी छवि को बनाए रखना.

लेकिन भारत के साथ-साथ दुनिया के कई देशों के युवा Celebreties के लिए ऐसा करना मुश्किल हो रहा है . ये युवक ना सिर्फ डिप्रेशन का शिकार हो रहे हैं...बल्कि अपनी जान भी दे रहे हैं . दक्षिण कोरिया में पिछले 2 महीनों में 3 बड़े K Pop Stars आत्महत्या कर चुके हैं..और इसके पीछे सबसे बड़ी वजह डिप्रेशन और Cyber Bullying को माना जा रहा है.

जिस तरह  K Pop Industry. ने दक्षिण कोरिया के युवाओं के रातों रात...Celebrity बनने का मौका दिया . उसी तरह भारत में भी Reality Tv Shows, YouTube और Tik Tok जैसे Platforms ने युवाओं के लिए लोकप्रियता के दरवाज़े खोले हैं . लेकिन लोकप्रियता के इन रोशन दरवाज़ों के पीछे की जिंदगी कितने अंधेरे में होती है...ये आज हम आपको बताएंगे . K Pop दक्षिण कोरिया की एक Music Industry है . जिसका मतलब है Korean Pop Music . POP का अर्थ होता है Popular Culture यानी ऐसी संस्कृति जिसकी लोकप्रियता बहुत ज्यादा हो . K Pop दक्षिण कोरिया की Soft Power बन गया है . यानी ऐसी ताकत जो दिखाई तो नहीं देती लेकिन उसका प्रभाव बहुत होता है .

K POP की बदौलत दक्षिण कोरिया की संस्कृति दुनिया के कोने कोने तक पहुंच चुकी है और K Popstars...इस संस्कृति के सबसे बड़े Global Brand Ambassdor बन गए हैं . K POP Music Albums में...आधुनिक संगीत, Lyrics, Dance Choreography और High Quality Production का मिश्रण होता है . K Pop पिछले 20 वर्षों से अस्तित्व में है . लेकिन इसे असली लोकप्रियता 2009 से मिलनी शुरु हुई . जब दक्षिण कोरिया के Wonder Girls नाम के एक समूह ने अपना पहला Music वीडियो Nobody लॉन्च किया था . तब से लेकर अब तक दक्षिण कोरिया का K Pop Music.. करीब 35 हज़ार करोड़ रुपये से भी ज्यादा का उद्योग बन चुका है .

K POP की लोकप्रियता का अंदाज़ा आप इस बात से लगा सकते हैं कि जब 2018 में दक्षिण कोरिया के Pyeongchang (प्योंगचांग)शहर में Winter Olympics का आयोजन हुआ था ..तब उद्घाटन और समापन समारोह में भी K Pop Stars ने Performance दीया था .

एक K Pop Group एक साल में 400 करोड़ रुपये तक कमा सकता हैं . जबकि व्यक्तिगत तौर पर एक K POP Star साल में औसतन 30 से 40 लाख रुपये कमाता है . लेकिन इनकी कमाई का एक बड़ा हिस्सा इनकी Branding करने वाली कंपनियों की जेब में चला जाता है .

दुनिया ने K POP की लोकप्रियता को तब महसूस किया था . जब 2012 में दक्षिण कोरिया के Pop Star..Psy ने अपना Music Video...Gangnam Style..Youtube पर Launch किया . Gangnam Style 100 करोड़ बार देखा जाने वाला पहला You Tube Video था..और अब तक इसे 340 करोड़ बार देखा जा चुका है .

K POP Industry में कदम रखने वाले ज्यादातर युवाओं की उम्र 16 से 21 वर्ष के बीच होती है और इन्हें Stage पर खूबसूरती की मिसाल के तौर पर पेश किया जाता है . K Pop Stars की खूबसूरती से प्रभावित होकर....दक्षिण कोरिया के पुरुष भी Plastic Surgeries करा रहे हैं .

इतनी ही नहीं उत्तर कोरिया के कई युवा भी अपनी जान को खतरे में डालकर इसलिए दक्षिण कोरिया पहुंचने की कोशिश करते हैं..क्योंकि वो K Pop Star बनना चाहते हैं . K POP की लोकप्रियता इतनी ज्यादा है कि वर्ष 2018 में उत्तर कोरिया की राजधानी  Pyongyang (प्योंगयांग) में तानाशाह Kim Jong Un के सामने भी दक्षिण कोरिया के Pop Stars ने Performance दी थी .

कुल मिलाकर दक्षिण कोरिया का ये Pop Culture सरहदों के पार जा चुका है और दुश्मन देश भी इसका दीवाना बन गया है . लेकिन इस दीवानगी के बदले में ये Pop Stars बड़ी कीमत चुकाते हैं . K Pop Industry से जुड़ी कंपनियां इन युवाओं के Talent और सुंदरता के आधार पर इन्हें बहुत कम उम्र में ही चुन लेती हैं . इसके बाद इन्हें 6 महीने से लेकर कई बार 5 साल तक की ट्रेनिंग लेनी पड़ती है . इस दौरान इन्हें अपने Looks को Industry द्वारा स्थापित मान्यताओं के मुताबिक ही कायम रखना होता है .

इस दौरान इन्हें ज्यादातर वक्त उन कंपनियों के साथ ही रहना होता है..जो इन्हें प्रायोजित करती हैं . इतना ही नहीं...K Pop Stars को इन कंपनियों की Rule Guide को Follow करना होता है . जिसके तहत ये लोग बिना कंपनियों की मर्ज़ी के दोस्त भी नहीं बना सकते . इन्हें विशेष प्रकार की Diet Follow करनी पड़ती है . लड़के और लड़कियों को अलग अलग रखा जाता है .इनसे.. इनके Mobile Phones भी छीन लिए जाते हैं और ये लोग बाहरी दुनिया के साथ संपर्क भी नहीं रख पाते . कई बार इन्हें अपने पांव में 4 किलो तक का वज़न बांधकर Dance Practice करनी पड़ती है .

आपको लग रहा होगा कि इतना परिश्रम करने के बाद..इन्हें बहुत सारा पैसा मिलता होगा लेकिन आपको जानकर दुख होगा कि ज्यादातर K Pop Stars...आर्थिक रूप से ज्यादा सफल नहीं होते हैं . K Pop Stars चाहकर भी इस Industry को नहीं छोड़ पाते...क्योंकि Stars की वित्तीय स्थितियों पर इन कंपनियों का ही नियंत्रण होता है . फिर भी एक सर्वे के मुताबिक दक्षिण कोरिया के 21 प्रतिशत युवा K Pop Star बनना चाहते हैं .

इन K Pop Stars का करियर भी ज्यादातर 5 से 6 साल का ही  होता है . यानी ये लोग इतनी मेहनत एक Expiry Date के साथ ही करते हैं और कम से कम समय में ज्यादा से ज्यादा सफल होने की चाह..इनकी मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य पर भारी पड़ती है .

लोकप्रिय हो जाने के बाद इनका सामना Trolling और Cyber Bullying से भी होता है . यानी इन्हें Social Media और Internert पर तंग किया जाता है . इन पर शारीरिक टिप्पणियां की जाती है, इनके खिलाफ अभद्र भाषा का प्रयोग होता है  और इस दबाव में आकर ये Stars डिप्रेशन में चले जाते हैं और कई मामलों में तो आत्महत्या भी कर लेते हैं .

हाल ही में दक्षिण कोरिय के तीन बड़े K Pop Stars आत्महत्या कर चुके हैं . अक्टूबर में Sulli नाम की Pop Star ने आत्म हत्या की थी . इसके बाद नवंबर में Goo Hara और दिसंबर में Cha In Ha जैसे स्टार्स अपनी जान दे चुके हैं . आत्महत्या के तीनों ही मामलों में...Cyber Bullying, Trolling और डिप्रेशन को जिम्मेदार माना जा रहा है .

आप इसे सोशल मीडिया पर होने वाली Mob lynching भी कह सकते हैं . लेकिन इस Cyber Mob Lynching का शिकार सिर्फ दक्षिण कोरिया के युवा ही नहीं बल्कि भारत के युवा भी हो रहे हैं .

वर्ष 2018 में  Comparitech.com नामक वेबसाइट पर प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक पूरी दुनिया में भारत के बच्चे सबसे ज्यादा Cyberbullying का शिकार होते हैं. दूसरे नंबर पर ब्राज़ील और तीसरे नंबर पर अमेरिका है . CyberBullying उसे कहा जाता है जब कोई Internet की मदद से आपको परेशान करता है, या धमकाता है.

वर्ष 2018 में अमेरिका में की गई एक Study के मुताबिक 59 प्रतिशत Teenagers यानी ऐसे युवा जिनकी उम्र 13 से 19 वर्ष के बीच हैं...कभी ना कभी Cyberbullying का शिकार ज़रूर हुए हैं . इनमें 42 प्रतिशत मामले रंग, जाति और शरीर के आकार को लेकर की गई टिप्पणियों से जुड़े थे . जबकि 32 प्रतिशत मामलों में पीड़ित के खिलाफ अफवाहें उड़ाई गई थीं . और 25 प्रतिशत मामले ऐसे थे..जिनमें पीड़ित को अश्लील तस्वीरें और Messages भेजे गए .

भारत के बच्चों पर भी सफल होने की महत्वकांक्षा का बोझ है . और ये बोझ वक्त से पहले उनकी जान ले रहा है . Internet, Social Media और Reality Shows के दौर में...Instant Fame..यानी त्वरित सफलता पाना तो आसान हो गया है . लेकिन इस सफलता को संभालकर रखना और इसके दम पर अपने व्यकतित्व को निखारते रहना आसान काम नहीं है . इसलिए आज हमने Seconds में मिली सफलता के दूरगामी दुष्प्रभावों पर एक विश्लेषण तैयार किया है . अगर आपके परिवार में भी ऐसे बच्चे और युवा हैं...जो इस त्वरित लोकप्रियता हासिल करना चाहते हैं...तो आपको ये विश्लेषण उन्हें भी दिखाना चाहिए .

क्या आपको रिएलिटी टीवी की रिएलिटी यानी सच्चाई पता है ? क्या K Pop Stars की लोकप्रियता की कीमत आप जानते हैं . भारत और भारत के बाहर भी...रिएलिटी टीवी की सच्चाई बहुत कड़वी है . लेकिन उससे पहले आप दक्षिण कोरिया के Pop कल्चर की उस सच्चाई को देखिए...जो सफलता की सीढ़ियां चढ़ रहे युवाओं की जान ले रहा है .

श्रंखलाबद्ध संगीत..सुरीले गीत और शानदार कोरियोग्राफी...ये K Pop की पहचान हैं . लेकिन इस चमक धमक के पीछे है कुर्बानियां  प्रताड़ना....उत्पीड़न और Cyber Bullying  . K Pop Stars के चेहरे आपको भले ही सुंदरता और योग्यता के परिचायक लगें..लेकिन सच ये है कि इस सफलता ने बहुत सारे स्टार्स को डिप्रेशन और मौत के मुंह में धकेल दिया है .

K Pop Stars...गो हारा और सुली की मौत पिछले 2 महीनों में हुई है..दोनों गायक थीं..और दोस्त भी...लेकिन दोनों ही साइबर बुलिंग और यौन हिंसा का शिकार थीं....

जबकि जुंग जून यंग और चोई जुंग हून  जैसे K Pop Stars महिलाओं के साथ बलात्कार और उनके यौन शोषण के इल्जाम में जेल जा चुके हैं .

गो हारा भी..ऐसी ही यौन हिंसा का सामना कर रहीं थीं...माना जा रहा है कि इसी परेशानी ने उनकी जान ले ली . K Pop Industry में प्रतियोगिता बहुत ज्यादा है . हर साल सैंकड़ों K Pop Groups आपस में प्रति स्पर्धा करते हैं और इन पर कंपनियां करोड़ों रुपये लगाती हैं .

अपनी मेहनत से ये स्टार्स सफलता वसूल पाएं या नहीं...लेकिन कंपनियां अपनी लागत ज़रूर वसूल लेती हैं . K Pop की तरह..रिएलिटी टीवी भी...युवाओं के लिए त्वरित सफलता का माध्यम बन चुका है .

TV और सोशल मीडिया पर कुछ Seconds के फेम के लिए एक बड़ी कीमत चुकानी पड़ती है . इंडियन आइडल में हिस्सा ले चुके निशांत कौशिक ने जब इससे जुड़ा सच सोशल मीडिया पर PosT किया तो उन्हें कई तरह की प्रतिक्रियाएं हासिल हुईं . उन्होंने आरोप लगाया है कि ना सिर्फ Contestants को परेशान किया जाता है. बल्कि कई बार तो नौबत शारीरिक हिंसा तक भी आ जाती है .  शो को होस्ट कर चुकीं मिनी माथुर ने भी कौशिक की बातों से सहमति जताई .

अमेरिकी न्यूज़ चैनल फॉक्स की एक रिपोर्ट तो ये दावा करती है . कि अमेरिकन आइडल में हिस्सा लेने वाले प्रतिस्पर्धियों को फाइनल राउंड में पहुंचने से पहले कोई पैसा नहीं दिया जाता है . इस शो में हिस्सा लेने वालों को बाहरी दुनिया से अलग कर दिया जाता है और ये लोग लगभग 24 घंटे कैमरों की निगरानी में होते हैं .

मैन Vs फूड जैसे शो  में हिस्सा लेने वाले एडम रिचमैन...दुनिया भर में घूम कर अलग अलग भोजन किया करते थे और उनका वज़न 27 किलो तक बढ़ गया ..इसके बाद उन्होंने शो छोड़ने का फैसला किया .

मनोवैज्ञानिक भी मानते हैं कि Reality Shows आपको कम समय में सफलता तो दिला सकते हैं..लेकिन इसकी कीमत आपके शरीर और मन को चुकानी पड़ती है . विदेश ही नहीं भारत में भी ऐसे कई किस्से हैं..जहां लोगों को फौरन सफलता तो मिल गई..लेकिन उस सफलता ने ही उन्हें अर्श से फर्श तक पुहंचा दिया . सचिन तेंदुलकर के दोस्त विनोद कांबली, गेंदबाड़ लक्ष्मण शिव रामाकृष्णन, मनिदंर सिंह और सदानंद विश्वनाथ जैसे क्रिकेटर भी सफलता को पचा नहीं पाए थे..और उनके करियर का पतन शुरू हो गया .

आज के दौर के बच्चों पर भी सफल होने का दबाव है . 20 सेकेंड का Tik Tok वीडियो आपके सेलिब्रिटी तो बना सकता है..लेकिन उस स्टारडम को सहेजकर रखना आसान काम नहीं है . इसलिए मजबूत मनोस्थिति की ज़रूरत होती है.लेकिन फिलहाल तो ये स्टारडम युवाओं को मनोरोगी बना रहा है .

सफलता की कुंजी आपके हाथ में है..और इस कुंजी को शौहरत और दौलत की पुंजी में बदलना भी आपके हाथ में ही है . लेकिन कोई भी कुंजी तभी काम करती है...जब आपको सफलता के दरवाज़ों का ताला खोलने की कला आती हो और अगर ये कला आपके पास नहीं हैं..तो भी आप खुद को इस सफलता को संभालने के लिए तराश सकते हैं .

सफलता हासिल करने से ज्यादा ज़रूरी है, उसे संभालकर रखना . लेकिन कई बार ये बहुत मुश्किल हो जाता है . क्योंकि सफलता अपने साथ...बहुत सारे Side Effects लेकर आती है . भारत में इससे जुड़े बहुत सारे उदाहरण है . सचिन तेंदुलकर और उनके दोस्त विनोद कांबली दोनों शानदार बल्लेबाज़ थे....छोटे से करियर में उनके नाम दो..दोहरे शतक थे . टेस्ट मैच में उनका बैटिंग Average भी 54 से ऊपर था. जो बहुत शानदार माना जाता है . लेकिन 23 साल की उम्र में ही वो सफलता के शिखर से फिसलकर एकदम नीचे आ गए . माना जाता है कि उनमें अनुशासन की कमी थी..जबकि सचिन कभी अपने उद्धेश्य से नहीं भटके .

साथ-साथ करियर शुरू करने वाले सचिन तेंदुलकर क्रिकेट के भगवान बन गए और विनोद कांबली को दुनिया ने भुला दिया .

अंतर्राष्ट्रीय Celebreties की  बात करें तो Guitarist.. Jimi Hendrix, संगीतकार Jim Morrison और महान गायक और संगीतकार Freddie Mercury का करियर भी इसलिए खत्म हो गया..क्योंकि ये लोग अपनी सफलता को संभाल नहीं पाए . इसलिए जब भी सफलता आपके कदम चूमें...तो अपना सिर आसमान में रखने की बजाय..ज़मीन से जुड़े रहें..और मानकर चलें कि सफलता की भी Expiry Date हो सकती है . इसलिए कभी भी अपना धैर्य ना खोएं .