close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

Zee Jaankari: टुकड़े-टुकड़े गैंग ने पाकिस्तान के साथ किया 'महामिलावट' वाला 'गठबंधन'!

पाकिस्तान और इमरान ख़ान दोनों को ही कांग्रेस पार्टी बेहद पसंद है. लेकिन, वो हमें यानी Zee News को ज़रा भी पसंद नहीं करते. 

 Zee Jaankari: टुकड़े-टुकड़े गैंग ने पाकिस्तान के साथ किया 'महामिलावट' वाला 'गठबंधन'!

अब हम पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान के 'कांग्रेस प्रेम' का एक छोटा सा विश्लेषण करेंगे. इमरान ख़ान ने कल क़रीब एक घंटे की Press Conference की. लेकिन ये Press Conference कम, और कश्मीर के नाम पर एक प्रकार का संबोधन ज्यादा लग रहा था. सबसे दिलचस्प वाकया उस वक्त हुआ, जब एक पाकिस्तानी पत्रकार के सवाल के जवाब में उन्होंने, भारत की सबसे पुरानी राजनीतिक पार्टी कांग्रेस का नाम लिया. और कहा, कि पाकिस्तान की ही तरह, कांग्रेस पार्टी भी यही कह रही है, कि जम्मू-कश्मीर के लोगों पर अत्याचार हो रहा है.

और पिछले 50 दिनों से किसी को नहीं पता, कि कश्मीर में राजनीतिक क़ैदियों के साथ क्या हो रहा है ? सबसे पहले इमरान ख़ान का ये बयान सुनिए. कांग्रेस पार्टी इस वक्त भले ही सत्ता में नहीं है. बावजूद इसके इमरान ख़ान के ज़रिए उनकी भागीदारी संयुक्त राष्ट्र में जारी है. आप ये भी कह सकते हैं, कि टुकड़े-टुकड़े गैंग ने पाकिस्तान के साथ 'महामिलावट' वाला 'गठबंधन' कर लिया है.

जिसका मूल मकसद ही भारत विरोधी एजेंडा चलाना है. आज आपको 10 सितम्बर 2019 की घटना भी याद करनी चाहिए. उस दौरान Geneva में संयुक्त राष्ट्र के Human Rights Council का Session चल रहा था. और कश्मीर के विषय पर दुनिया को भ्रमित करने के लिए पाकिस्तान ने 115 पन्नों का एक Dossier यानी फ़ाइल तैयार किया था.

उस Dossier के पहले पन्ने पर भारत विरोधी एजेंडा चलाने के लिए, भारत के ही नेताओं के बयानों को Quote किया गया था. जिनमें से एक नाम था, कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी का. और दूसरे थे, जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला. राहुल गांधी के उन्हीं बयानों को आधार बनाते हुए, इमरान ख़ान ने New York में कश्मीर वाला कार्ड खेलने की कोशिश की. 

पाकिस्तान और इमरान ख़ान दोनों को ही कांग्रेस पार्टी बेहद पसंद है. लेकिन, वो हमें यानी Zee News को ज़रा भी पसंद नहीं करते. इसकी एक तस्वीर कल दिखाई दी. जब Zee News की संवाददाता अदिति त्यागी, इमरान ख़ान की Press Conference में पहुंच गईं. इमरान ख़ान की प्रेस वार्ता में Zee News के रिपोर्टर की मौजूदगी से खलबली मच गई थी.

जैसा कि हमने शुरुआत में बताया, कि पूरी Press Conference की Theme ही कश्मीर थी. और पाकिस्तानी पत्रकार जानबूझकर इमरान ख़ान से कश्मीर वाला प्रश्न ही पूछ रहे थे. ताकि इस मुद्दे का प्रचार हो सके. सवाल-जवाब का ये सिलसिला क़रीब एक घंटे तक चलता रहा.

लेकिन Zee News की संवाददाता को एक भी प्रश्न पूछने की इजाज़त नहीं दी गई. हालांकि, वो बार-बार कोशिश करती रहीं. लेकिन, जब उन्हें मौका नहीं मिला, तो उन्हें मजबूरी में खड़े होकर इमरान ख़ान से अपील करनी पड़ी, कि एक सवाल Indian Media से भी ले लीजिए. इमरान ख़ान ने अदिति त्यागी की आवाज़ भी सुनी.

उनकी तरफ देखा भी. लेकिन, जवाब देना उचित नहीं समझा. जब हमारी संवाददाता खड़े होकर प्रश्न पूछ रही थीं, तो उस वक्त, वहां मौजूद पाकिस्तानी पत्रकार उन्हें घूर रहे थे. और कुछ पत्रकारों ने तो उनके साथ बदतमीज़ी भी की. और भारत के Media के लिए Third Grade जैसे शब्दों का प्रयोग किया. लेकिन अदिति ने पूरी शालीनता के साथ उनका सामना किया और सभ्य भाषा में उन्हें जवाब भी दिया. आगे बढ़ने से पहले आप ये पूरा घटना-क्रम देखिए.