Zee Jaankari: जानिए, अबकी बार महाराष्ट्र-हरियाणा में किसकी सरकार?

लोकसभा चुनावों के ठीक 5 महीने बाद महाराष्ट्र और हरियाणा में हुए विधानसभा के इन चुनावों की बड़ी बातें आपको समझनी चाहिए... 

Zee Jaankari: जानिए, अबकी बार महाराष्ट्र-हरियाणा में किसकी सरकार?

महाराष्ट्र और हरियाणा में आज विधानसभा चुनावों के लिए वोटिंग हुई. महाराष्ट्र में 60 दशमलव 5 प्रतिशत और हरियाणा में 65 प्रतिशत लोगों ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया. पिछले विधानसभा चुनाव के मुकाबले महाराष्ट्र और हरियाणा में इस बार Voting Percentage कम रहा है. वर्ष 2014 में महाराष्ट्र में 63 फीसदी और हरियाणा में 76 फीसदी लोगों ने मतदान किया था. लोग आम तौर पर मतदान को लेकर ऐसी उदासीनता तब दिखाते हैं. जब उन्हें पहले से ही परिणाम का आभास होता है. लोगों को ऐसा लग रहा था. कि बीजेपी तो जीत ही रही है.

तो घर से निकलने की क्या जरुरत है. चुनावों के साथ ही अगली सरकार की तस्वीर भी करीब-करीब साफ हो गई है... EXIT POLL के रुझानों की माने तो दोनों राज्यों में बीजेपी जोरदार बहुमत के साथ सत्ता में वापसी कर रही है. सबसे पहले आपको महाराष्ट्र से मिल रहे रुझानों के बारे में बताते हैं...ABP-C VOTER के EXIT POLL के मुताबिक महाराष्ट्र में बीजेपी शिवसेना गठबंधन को 204 सीटें मिलती दिख रही हैं. जबकि कांग्रेस और एनसीपी गठबंधन को सिर्फ 69 सीटें और 15 सीटों पर अन्य पार्टियों को जीत मिलती दिख रही है.

वहीं आजतक AXIS MY INDIA के एग्ज़िट पोल के आकंड़ों के मुताबिक बीजेपी गठबंधन को 180 सीटें मिल सकती हैं. जबकि कांग्रेस और एनसीपी गठबंधन को 81 सीटें और अन्य पार्टियों को 27 सीटें मिल सकती हैं. रिपब्लिक भारत और जन की बात के सर्वे के मुताबिक बीजेपी और शिवसेना एलायंस को 233 सीटें मिल सकती हैं... वहीं कांग्रेस और एनसीपी गठबंधन सिर्फ 55 सीटों पर सिमट सकती है.

जबकि TV-9 सिसेरो के एग्ज़िट पोल के मुताबिक बीजेपी गठबंधन को 197 सीटें मिलने के आसार हैं... वहीं कांग्रेस गठबंधन को 75 और अन्य को 16 सीटें मिल सकती हैं.अगर इन सभी एग्ज़िट पोल को मिलाकर इनका औसत निकाला जाए... तो ZEE NEWS के महा EXIT POLL के मुताबिक बीजेपी गठबंधन को 203 सीटें मिल सकती हैं. वहीं कांग्रेस गठबंधन को 70 और अन्य को 15 सीटें मिलने के आसार हैं. हरियाणा में भी बीजेपी जबरदस्त वापसी करती दिख रही है...

ABP-C VOTER के EXIT POLL के मुताबिक हरियाणा में बीजेपी को 72 सीटें मिलती दिख रही हैं. जबकि कांग्रेस सिर्फ 8 सीटों पर सिमट सकती है और 10 सीटों पर अन्य पार्टियों को जीत मिलती दिख रही है...

रिपब्लिक भारत और जन की बात के सर्वे के मुताबिक हरियाणा में बीजेपी को 58 सीटें मिल सकती हैं. वहीं कांग्रेस को सिर्फ 17 सीटें मिलती दिख रही हैं... जबकि अन्य पार्टियों को 15 सीटें मिलती दिख रही हैं. जबकि TV-9 सिसेरो के एग्ज़िट पोल के मुताबिक बीजेपी को 69 सीटें मिलने के आसार हैं... वहीं कांग्रेस को 11 और अन्य को 10 सीटें मिल सकती हैं.

NEWS18-IPSOS के सर्वे के मुताबिक बीजेपी को 75, कांग्रेस को 10 और अन्य को सिर्फ 5 सीटें मिलती दिख रही हैं. हरियाणा के महा EXIT POLL के मुताबिक बीजेपी को 68 सीटें मिलने के आसार हैं. जबकि कांग्रेस सिर्फ 12 सीटों पर सिमट सकती है. और अन्य को 10 सीटें मिल सकती हैं.

महाराष्ट्र में वर्ष 2014 में हुए विधानसभा चुनाव में..भारतीय जनता पार्टी 122 सीटें हासिल कर सबसे बड़ी पार्टी बनकर सामने आई थी. ये पहला मौका था. जब महाराष्ट्र में बीजेपी को इतनी सीटें हासिल हुई थीं. जबकि 63 सीटों के साथ शिवसेना दूसरे नंबर पर थी. इन चुनावों में कांग्रेस के खाते में 42 और NCP के खाते में 41 सीटें आई थी.

वर्ष 2014 में महाराष्ट्र में 63 दशमलव 8 फीसदी मतदान हुआ था. इसमें से बीजेपी को 27 दशमलव 81 प्रतिशत, शिवसेना को 19 दशमलव 35 प्रतिशत, कांग्रेस को 17 दशमलव 95 प्रतिशत और NCP को 17 दशमलव 24 प्रतिशत वोट मिले थे.

वर्ष 2014 में हरियाणा में हुए विधानसभा चुनाव में. भारतीय जनता पार्टी ने 47 सीटें, इंडियन नेशनल लोकदल ने 19 जबकि कांग्रेस ने 15 सीटें जीती थी. हरियाणा में पिछली बार 76 दशमलव 13 फीसदी मतदान हुआ था. इनमें बीजेपी को 33 दशमलव 20 प्रतिशत, इंडियन नेशनल लोकदल को 24 दशमलव 11 प्रतिशत और कांग्रेस को 20 दशमलव 58 प्रतिशत वोट मिले थे.

वहीं 2019 के आम चुनाव में...भाजपा ने हरियाणा की सभी 10 सीटें जीती थी . और महाराष्ट्र में एनडीए ने 48 में से 41 सीटें जीती थीं.महाराष्ट्र में वर्ष 2014 में हुए विधानसभा चुनाव में. भारतीय जनता पार्टी 122 सीटें हासिल कर सबसे बड़ी पार्टी बनकर सामने आई थी. ये पहला मौका था. जब महाराष्ट्र में बीजेपी को इतनी सीटें हासिल हुई थीं. जबकि 63 सीटों के साथ शिवसेना दूसरे नंबर पर थी. इन चुनावों में कांग्रेस के खाते में 42 और NCP के खाते में 41 सीटें आई थी.

वर्ष 2014 में महाराष्ट्र में 63 दशमलव 8 फीसदी मतदान हुआ था. इसमें से बीजेपी को 27 दशमलव 81 प्रतिशत, शिवसेना को 19 दशमलव 35 प्रतिशत, कांग्रेस को 17 दशमलव 95 प्रतिशत और NCP को 17 दशमलव 24 प्रतिशत वोट मिले थे.वर्ष 2014 में हरियाणा में हुए विधानसभा चुनाव में...भारतीय जनता पार्टी ने 47 सीटें, इंडियन नेशनल लोकदल ने 19...जबकि कांग्रेस ने 15 सीटें जीती थी .

हरियाणा में पिछली बार 76 दशमलव 13 फीसदी मतदान हुआ था. इनमें बीजेपी को 33 दशमलव 20 प्रतिशत, इंडियन नेशनल लोकदल को 24 दशमलव 11 प्रतिशत और कांग्रेस को 20 दशमलव 58 प्रतिशत वोट मिले थे. वहीं 2019 के आम चुनाव में...भाजपा ने हरियाणा की सभी 10 सीटें जीती थी. और महाराष्ट्र में एनडीए ने 48 में से 41 सीटें जीती थीं.

लोकसभा चुनावों के ठीक 5 महीने बाद महाराष्ट्र और हरियाणा में हुए विधानसभा के इन चुनावों की बड़ी बातें आपको समझनी चाहिए... दोनों राज्यों के इन चुनावों को आज आप मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल पर दो राज्यों के जनता की मुहर भी कह सकते हैं... महा EXIT POLL के नतीजों का विश्लेषण करें... तो कुछ बातें बिल्कुल साफ दिख रही हैं.

पहली बड़ी बात ये है कि महाराष्ट्र और हरियाणा, दोनों राज्यों में बीजेपी दो तिहाई बहुमत के साथ सत्ता में वापसी कर रही है...दूसरी बड़ी बात ये है कि बीजेपी सिर्फ सत्ता में वापसी नहीं कर रही है बल्कि पिछली बार की तुलना में बीजेपी ज्यादा सीटें जीत रही है... पिछली बार महाऱाष्ट्र में बीजेपी ने 122 सीटों पर जीत हासिल की थी...

जबकि बीजेपी से अलग चुनाव लड़ने वाली शिवसेना को 63 सीटों पर जीत मिली थी... इस बार दोनों पार्टियां मिलकर चुनाव लड़ रही हैं... और दोनों को महा EXIT POLL के मुताबिक 203 सीटें मिलने के आसार हैं... वहीं हरियाणा में बीजेपी पिछली बार 47 सीटें मिली थीं... जबकि इस बार बीजेपी हरियाणा में करीब-करीब क्लीन स्विप की तरफ बढ़ती दिख रही है...

बीजेपी को 68 सीटें मिलती दिख रही हैं. तीसरी बड़ी बात ये है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मई महीने में प्रचंड बहुत के साथ केन्द्र में सरकार बनाई... उसके ठीक पांच महीने बाद इन दोनों राज्यों में चुनाव हुए हैं... इसे मोदी सरकार के दूसरी पारी की पहली चुनावी परीक्षा के तौर पर भी देखा जा रहा है... अब अगर एग्ज़िट पोल के रुझानों की माने तो ये मोदी सरकार के कामकाज पर मुहर लगाती है.

चौथी बड़ी बात ये है कि जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के मोदी सरकार के फैसले को जनता ने ना सिर्फ स्वीकार किया है. बल्कि बीजेपी को उसक बड़ा फायदा मिलता दिख रहा है. इन रुझानों की पांचवीं बड़ी बात ये है कि 2014 में किया पीएम मोदी का फड़णवीस और मनोहर मॉडल वाला एक्सपेरिमेंट कामयाब रहा पिछली बार दोनों राज्यों में जीत के बाद पीएम मोदी और अमित शाह की जोड़ी ने बिल्कुल नए चेहरे को सरकार की कमान सौंपी थी और दोनों सरकारों ने ना सिर्फ पांच साल का कार्यकाल पूरा किया बल्कि अब चुनावों में पार्टी को दो तिहाई बहुमत से जीत दिलाते भी दिख रहे हैं.

जिस तरह के एग्जिट पोल के नतीजे आए हैं उसका भरोसा बीजेपी को चुनावों से पहले से ही था. पिछले हफ्ते ही मैंने बीजेपी अध्यक्ष और गृह मंत्री अमित शाह से बात की थी. इस बातचीत में उन्होंने दावा किया था कि दोनों राज्यों में पार्टी दो तिहाई बहुमत से जीत दर्ज करेगी.