close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

Zee Jaankari: जानिए, ISRO के लिए वर्ष 2008 क्यों महत्वपूर्ण है?

DNA में अब आपके सामने एक और सवाल रखना चाहेंगे. सवाल है क्या आपको चंद्रयान One की टीम के बारे में पता है? क्या आप ये जानते हैं कि वर्ष 2008 में ISRO के चेयरमैन कौन थे? 

Zee Jaankari: जानिए, ISRO के लिए वर्ष 2008 क्यों महत्वपूर्ण है?

DNA में अब आपके सामने एक और सवाल रखना चाहेंगे. सवाल है क्या आपको चंद्रयान One की टीम के बारे में पता है? क्या आप ये जानते हैं कि वर्ष 2008 में ISRO के चेयरमैन कौन थे? पहले ये समझिए कि ISRO के लिए वर्ष 2008 क्यों महत्वपूर्ण है?
वर्ष 2008 में भारत ने पहला Moon Mission चंद्रयान One लॉन्च किया था. जो सौ प्रतिशत सफल रहा और इसने ही चंद्रमा पर पानी की खोज की थी. अब चंद्रयान One की टीम के बारे में भी जान लीजिए. G Madhavan Nair, ISRO के तत्कालीन चेयरमैन थे. लेकिन देश में ज्यादातर लोग उनका नाम तक नहीं जानते होंगे.

DNA में हम अक्सर ये सवाल पूछते थे कि हमारा देश वैज्ञानिकों को हीरो क्यों नहीं बनाता? उनके इंटरव्यू अख़बार के पहले पन्ने पर क्यों नहीं छपते हैं? लोग उन्हें देखकर Selfie लेने के लिए लाइन में क्यों नहीं लगते?

आज आपको बताते हुए हमें खुशी हो रही है कि नए भारत का मिजाज बदल रहा है. वो अपने नायकों को पहचानता है... उनकी कड़ी मेहनत का सम्मान करता है... और मुश्किल वक्त में उनका साथ भी देता है. और इसलिए ISRO के चेयरमैन K Sivan देश के सबसे बड़े हीरो बन गए हैं.चंद्रयान Two की सबसे अच्छी खबर ये है कि चंद्रमा की सतह पर Lander विक्रम सही सलामत है. ये आपके लिए एक राहत देनेवाली खबर है. अब आपको हम Lander विक्रम का ताजा Update देते हैं.
- बताया जा रहा है कि संपर्क टूटने के बाद... और Hard Landing के बाद भी Lander विक्रम के बाहरी ढांचे को कोई नुकसान नहीं हुआ है... वो एकदम ठीक है...
- यानी Lander विक्रम दिखने में पहले जैसा ही है... जैसा आप इस Animation में देख रहे हैं...
- चंद्रमा की कक्षा में मौजूद ऑर्बिटर ने Lander विक्रम की तस्वीरें भेजी हैं... इन तस्वीरों के मुताबिक Lander विक्रम सीधा है, बल्कि थोड़ा झुका हुआ है.- चंद्रमा की सतह पर Lander विक्रम को सीधा अपने चारों पैरों पर उतरना था... लेकिन मुश्किल Landing के बावजूद विक्रम सही सलामत दिखाई दे रहा है.
- तस्वीरों से ऐसा लग रहा है मानो ISRO से संपर्क टूटने के बाद भी Lander विक्रम बिना ज्यादा नुकसान के चंद्रमा की सतह पर उतर गया.
- संभावना ये भी है कि Lander विक्रम और Rover प्रज्ञान में लगे हुए सभी उपकरण सुरक्षित हों.
- चंद्रयान Two मिशन के Orbiter में High Resolution का कैमरा लगा हुआ है... जो चंद्रमा की कक्षा में घूमते हुए 7 वर्षों तक काम कर सकता है.
- चंद्रयान Two के इन Positive Updates के बाद फिलहाल ISRO इस मिशन को 95 प्रतिशत सफल मान रहा है.
- इसके बाद भी ISRO के सामने कई बड़ी चुनौतियां हैं... सबसे पहले Lander विक्रम को उसके चारों पैरों पर सीधा खड़ा करने का कठिन लक्ष्य है.
- ये भी समझने की कोशिश हो रही है.... क्या Lander विक्रम और Rover प्रज्ञान के सभी उपकरण सही सलामत हैं?
- चंद्रयान Two के Lander का संपर्क टूटने के बाद... अब Lander विक्रम की बैटरी खत्म होने की आशंका है.
- Lander विक्रम को ऊर्जा देने के लिए उसमें लगे Solar Panel को Activate करना जरूरी है...
- ताकि सूर्य की रौशनी से उसे Energy मिल सके. लेकिन ये Command देने के लिए अब तक Lander विक्रम से संपर्क नहीं हो पाया है.
- चंद्रयान Two के Lander और Rover का जीवनकाल सिर्फ 14 दिनों का है... और इसमें से करीब 3 दिन का वक्त बीत गया है... अभी 11 दिनों का वक्त बचा हुआ है... कोशिश यही है कि जल्द से जल्द Lander विक्रम तक भारत का संदेश पहुंचाया जाए.
- इस वक्त हो सकता है आप अपने घर में बैठकर ये खबर देख रहे होंगे... आज आपके लिए ISRO के वैज्ञानिकों को याद करना जरूरी है... क्योंकि इस वक्त भी ISRO के वैज्ञानिक बिना रूके, बिना थके, लगातार Lander विक्रम से संपर्क करने की कोशिश कर रहे हैं. जब कोई देश असफलता पर आंसू बहाने के बजाय एकजुट होकर एक दूसरे का हौसला बढ़ाए... असफलता पर किसी को जिम्मेदार ठहराने के बजाय, जब किसी देश के लोग उस मिशन से जुड़े लोगों के प्रति सहानुभूति रखने लगें. और उसके सफल होने की प्रार्थना करने लगें, तो यकीन मानिए वो देश सकारात्मक ऊर्जा और Positve विचारों से भरा हुआ है.

जी हां, नए भारत का भी मिजाज कुछ ऐसा ही है. चंद्रयान Two मिशन की सफलता या असफलता पर बहस करने के बजाय, आज भारत ISRO के वैज्ञानिकों पर गर्व कर रहा है और चंद्रयान Two की कामयाबी के लिए ऐसे प्रार्थना कर रहा है जैसे हर भारतीय का ये अपना मिशन हो. आप इसे ISRO Spirit भी कह सकते हैं. आज चंद्रयान Two मिशन से जुड़ी एक भावुक तस्वीर आपको दोबारा देखनी चाहिए. शनिवार से पहले तक K Sivan का नाम देश के कुछ ही लोगों को पता था लेकिन आज वो भारत के सबसे बड़े नायक हैं. 7 सितंबर को चंद्रयान Two मिशन के साथ मुश्किलें आईं थी.

.. ISRO मुख्यालय से आई इस तस्वीर में... K SIVAN की नम आंखों को देखकर हर भारतीय ने समझ लिया कि K Sivan भी उनके जैसे ही हैं. इस तस्वीर ने पूरे देश को एक सूत्र में पिरो दिया. इस बीच एक और ख़बर आई है, ISRO ने आज बताया है कि Dr. K Sivan का सोशल मीडिया पर कोई निजी अकाउंट नहीं है.

इससे पहले सोशल मीडिया पर K Sivan के नाम से कई अकाउंट देखे गए. जिनमें K Sivan की तस्वीर भी लगी हुई है और हजारों लोग इसे Follow भी कर रहे हैं. ISRO के मुताबिक K Sivan... Twitter पर नहीं हैं और उनके नाम से चल रहे सभी अकाउंट झूठे हैं.