close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

Zee Jaankari: विश्व के सबसे बड़े मंच से पीएम मोदी इन मुद्दों पर कर सकते हैं बात!

135 करोड़ भारतीयों के प्रधानमंत्री...कल विश्व के सबसे बड़े मंच से...दुनिया भर के सात सौ करोड़ लोगों को संबोधित करेंगे . इसलिए प्रधानमंत्री का ये भाषण...ग्लोबल Power के तौर पर भारत के विश्व दर्शन को बताने वाला होगा . 

Zee Jaankari: विश्व के सबसे बड़े मंच से पीएम मोदी इन मुद्दों पर कर सकते हैं बात!

135 करोड़ भारतीयों के प्रधानमंत्री...कल विश्व के सबसे बड़े मंच से...दुनिया भर के सात सौ करोड़ लोगों को संबोधित करेंगे . इसलिए प्रधानमंत्री का ये भाषण...ग्लोबल Power के तौर पर भारत के विश्व दर्शन को बताने वाला होगा . प्रधानमंत्री ने वर्ष 2014 और वर्ष 2015 में भी UNGA को संबोधित किया था . ये उनका...संयुक्त राष्ट्र महासभा में तीसरा भाषण होगा. दोबारा प्रधानमंत्री चुने जाने के बाद ये उनका UNGA में पहला भाषण है. इस भाषण में प्रधानमंत्री New India की नीतियों से विश्व को अवगत करा सकते हैं. प्रधानमंत्री अपने भाषण में 5 बड़े मुद्दों का जिक्र कर सकते हैं .

प्रधानमंत्री के भाषण का पहला मुद्दा आतंकवाद हो सकता है . वर्ष 2014 में UNGA में ही प्रधानमंत्री मोदी ने आतंकवाद को Good Terrorism और Bad Terrorism में बांटे जाने को लेकर दुनिया के बड़े देशों की आलोचना की थी. अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी...आतंकवाद के खिलाफ विश्व को एकजुट करने का अभियान चला रहे हैं .

और वो चाहते हैं कि आतंकवाद के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय सम्मलेन बुलाया जाए . प्रधानमंत्री ने कई अंतरराष्ट्रीय मंचों से भी ये संकल्प दोहरा चुके हैं. कल भी UNGA के भाषण में प्रधानमंत्री मोदी आतंकवाद पर Global Conference बुलाने की बात दोहरा सकते हैं . उनके भाषण का दूसरा विषय जलवायु परिवर्तन हो सकता है. इस बार अमेरिका के अपने कार्यक्रम में प्रधानमंत्री कई मंचों से जलवायु परिवर्तन पर...बात करने की जगह...काम करने की सलाह दे चुके हैं.

तीसरा विषय हो सकता है - पर्यावरण के लिए भारत के कदम . प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ये बता सकते हैं कि भारत ने किस तरह Single Use Plastic के खिलाफ अपने संकल्प को फिर से दोहरा सकते हैं. इसके अलावा Renewable Energy के विषय पर भी प्रधानमंत्री दुनिया के सामने अपने विचार रख सकते हैं. वो स्वच्छता मिशन पर भी बात कर सकते हैं.

प्रधानमंत्री मोदी अपने संबोधन में उज्ज्वला योजना का जिक्र भी कर सकते हैं. नरेंद्र मोदी ये बता सकते हैं कि किस तरह भारत Compressed Bio Gas पर काम कर रहा है. वो भारत में जल संरक्षण, Rain Water Harvesting और जल संसाधनों के विकास के लिए शुरू किए गए जल जीवन मिशन की भी चर्चा कर सकते हैं.

इसके अलावा वो आयुष्मान भारत का भी ज़िक्र कर सकते हैं. यानी हम कह सकते हैं कि प्रधानमंत्री का संबोधन, पूरी दुनिया को कई गंभीर मुद्दों पर एक व्यवहारिक दृष्टिकोण देने वाला होगा.आज हमने प्रधानमंत्री के अंतरराष्ट्रीय मंचों पर दिए गए कुछ पुराने भाषणों का अध्ययन किया है. जिससे आपको ये पता चलेगा, कि कल संयुक्त राष्ट्र में प्रधानमंत्री किन किन विषयों पर बात कर सकते है.