close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

Zee Jaankari: शोले के जय-वीरू से कम नहीं पीएम मोदी और ट्रंप की दोस्ती

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अक्सर कूटनीतिक व्यवहार से आदर्शों की मीनार बना लेते हैं. तो Donald Trump कभी अमेरिका में विश्व की सबसे ऊंची इमारते बनाने के लिए मशहूर थे. 

Zee Jaankari: शोले के जय-वीरू से कम नहीं पीएम मोदी और ट्रंप की दोस्ती

आज DNA में हम सबसे पहले कूटनीति की दुनिया के सबसे बड़े BlockBuster शो का विश्लेषण करेंगे . इस Show के Star भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिका के राष्ट्रपति Donald Trump हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अक्सर कूटनीतिक व्यवहार से आदर्शों की मीनार बना लेते हैं. तो Donald Trump कभी अमेरिका में विश्व की सबसे ऊंची इमारते बनाने के लिए मशहूर थे. प्रधानमंत्री मोदी भारत की कूटनीतिक ताकत के साथ साथ. सरलता, सजगता, समावेशी विकास और अध्यात्म का प्रतिनिधित्व करते हैं. तो अमेरिका के राष्ट्रपति Donald Trump आर्थिक विकास, विलास और वैभव के प्रतिबिंब हैं.

यानी रविवार को Houston के NRG स्टेडियम में Howdy Modi कार्यक्रम में.. प्रधानमंत्री मोदी और Donald Trump ने सिर्फ एक संयुक्त रैली नहीं की, बल्कि पूर्व और पश्चिम की संस्कृतियों का ऐसा गठजोड़ तैयार किया, जिसे आज पूरी दुनिया सलाम कर रही है. रविवार को Houston के NRG स्टेडियम में करीब 50 हज़ार भारतीय मूल के लोगों के सामने. दुनिया के दो शक्तिशाली नेताओं ने जो संदेश दिया..उसे आने वाले वक्त में कूटनीति और राजनीति का Houston अध्याय भी कहा जा सकता है. इस अध्याय में History भी थी और केमिस्ट्री भी थी.

इसलिए आज हम इस अध्याय का बारीकी से अध्ययन करेंगे और आपको इसमें छिपी महत्वपूर्ण बातों को सरल भाषा में समझाएंगे. इसके लिए हमने इस पूरे आयोजन को पांच हिस्सों में बांटा है . जिसे आपको एक-एक करके समझना चाहिए. इस आयोजन की पहली और सबसे महत्वपूर्ण बात थी प्रधानमंत्री मोदी और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप की दोस्ती . दोनों नेताओं ने इस अटूट दोस्ती को सिर्फ शब्दों से ही व्यक्त नहीं किया बल्कि दोनों की भाव भंगिमाएं भी एक दूसरे के प्रति सम्मान को प्रकट कर रही थीं .

आप प्रधानमंत्री मोदी और अमेरिका के राष्ट्रपति Donald Trump की जोड़ी को फिल्म शोले के जय-वीरू की जोड़ी भी कह सकते हैं . इस तुलना का आधार एक फिल्म के किरदार हैं . लेकिन भारत में अक्सर दोस्ती का सबसे अच्छा उदाहरण जय-वीरू की दोस्ती को ही माना जाता है . इसलिए आपको भी प्रधानमंत्री मोदी और Donald Trump के बीच दोस्ती के इन पलों को एक बार फिर से देखना चाहिए.