close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ZEE जानकारी: मोदी सरकार के ये 5 फैसले जो आजाद भारत में कोई नहीं कर पाया

आप कह सकते हैं कि ये नया भारत है. नया भारत समस्याओं को टालता नहीं है, बल्कि सुलझाता है. और बड़े फैसले लेता है.

ZEE जानकारी: मोदी सरकार के ये 5 फैसले जो आजाद भारत में कोई नहीं कर पाया

आप कह सकते हैं कि ये नया भारत है. नया भारत समस्याओं को टालता नहीं है, बल्कि सुलझाता है. और बड़े फैसले लेता है. नया भारत, सांप्रदायिक सौहार्द और भाईचारे का संदेश देता है . नया भारत, इतिहास बनाता है और हर हाल में एकजुट रहता है. और हम ये बातें ऐसे ही नहीं कह रहे हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने...अपने दूसरे कार्यकाल के शुरुआती 6 महीनों में, जितने बड़े फैसले लिए हैं. वो प्रधानमंत्री के तौर पर उनकी मजबूत इच्छाशक्ति को दिखाता है. मोदी सरकार ने वो फैसले किए हैं...जो आजाद भारत में कोई नहीं कर पाया. आज आपको सरकार के 5 ऐसे फैसलों के बारे में जानना चाहिए...

जिनका इंतजार पूरा देश, वर्षों से कर रहा था. मई 2019 में चुनाव जीतने के बाद...सरकार ने सबसे पहले संसद में कानून बनाकर, तीन तलाक को खत्म किया. मुस्लिम महिलाओं के लिए सरकार का ये बड़ा फैसला था, जिसका उन्हें लंबे वक्त से इंतजार था . इस कानून के पास होते ही...भारत उन 23 देशों में शामिल हो गया..

जहां तीन तलाक बैन है. इसके बाद सरकार ने...जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाया और कश्मीर को अलगाववाद से आज़ादी दिलाई . ये मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में लिया गया...सबसे बड़ा फैसला है . जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाना, एक बड़ी चुनौती मानी जाती थी . ऐसा कहा जाता था...कि जब भी कोई सरकार ये फैसला लेगी, तो कश्मीर में स्थिति बेहद तनावपूर्ण हो जाएगी.

लेकिन सरकार ने...न सिर्फ ये फैसला लिया, बल्कि कश्मीर में शांति और सौहार्द बनाए रखने में भी कामयाब हुई. सरकार ने नए भारत का नया नक्शा जारी कर...तीसरा महत्वपूर्ण कदम उठाया . इस नक्शे के मुताबिक...भारत में अब 28 राज्य और नौ केंद्र शासित प्रदेश हो गए हैं . नए नक्शे में...जम्मू कश्मीर और लद्दाख को केंद्रशासित प्रदेश के तौर पर दिखाया गया है. सरकार का चौथा फैसला...

भारत और पाकिस्तान के बीच करतारपुर साहिब Corridor को खोलने का था. आज सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस Corridor की शुरुआत की. भारत और दुनियाभर में मौजूद...सिख समुदाय के करोड़ों लोगों की भावनाएं, इस Corridor से जुड़ी हुई हैं. करतारपुर साहिब सिखों का सबसे प्रमुख धार्मिक स्थल है. वर्ष 1947 में बंटवारे के बाद.

करतारपुर साहिब गुरुद्वारा पाकिस्तान के हिस्से में चला गया था. और सिखों के लिए गुरुद्वारे के दर्शन बहुत मुश्किल हो गए थे. लेकिन अब करतारपुर साहिब Corridor खुल जाने के बाद...भारत के श्रद्धालु, बहुत आसानी से करतारपुर साहिब के दर्शन कर पाएंगे.

सरकार का पांचवा महत्वपूर्ण कदम...राम जन्मभूमि विवाद पर, सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद देखने को मिला. इस मुद्दे को लेकर हमेशा से ऐसी आशंका जताई जाती थी. कि इस पर फैसला आने के बाद, पूरे देश में अशांति और तनाव का माहौल पैदा हो जाएगा. लेकिन केंद्र सरकार ने, ना सिर्फ बेहतर तरीके से कानून व्यवस्था को नियंत्रित किया.बल्कि पूरे देश में सांप्रदायिक सौहार्द और शांति बनाए रखने में भी सफल हुई.

ये भारत की आम जनता से जुड़े हुए वो मामले थे, जिन पर बात तो होती थी, लेकिन सरकारें फैसला नहीं ले पाती थीं. मोदी सरकार के पहले कार्यकाल के दौरान भी ये उम्मीद थी...कि इन मामलों पर कोई फैसला लिया जाएगा. पर ऐसा नहीं हो पाया. लेकिन अपने दूसरे कार्यकाल के शुरुआती 6 महीनों में ही...सरकार ने बड़े फैसले लेकर, अपनी इच्छाशक्ति जाहिर कर दी है.