close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ZEE जानकारी: स्मार्टफोन की वजह से दम तोड़ते कैमरों का विश्लेषण

वर्ष 2018 में...भारत में लगभग 16 करोड़ स्मार्टफोन बेचे गए . एरिकसन मोबिलिटी रिपोर्ट के अनुसार...वर्ष 2024 तक...भारत की आबादी लगभग 145 करोड़ होगी...जिसमें से 110 करोड़ लोग, स्मार्टफोन्स का इस्तेमाल कर रहे होंगे. 

ZEE जानकारी: स्मार्टफोन की वजह से दम तोड़ते कैमरों का विश्लेषण

नई दिल्ली: स्मार्टफोन्स के बढ़ते प्रयोग के कारण...आज पूरी दुनिया में, कैमरों की बिक्री बहुत कम हो गई है .वर्ष 1988 में कोडक (Kodak) ने पहली बार कैमरे को आम लोगों के हाथ में पहुंचाया था . 1991 में कोडक ने पहला डिजिटल कैमरा लॉन्च किया . इसके बाद  कैनन, निकोन और अन्य कंपनियों ने भी ऐसे कैमरे बनाना शुरू किए . वर्ष 2007 तक ज्यादातर फोटोग्राफी...इन्हीं कैमरों की मदद से की जाती थी .

लेकिन आज स्मार्टफोन की वजह से लोग कैमरे का इस्तेमाल करना, बंद कर चुके हैं . अब फोटो खींचने के लिए, लोग डिजिटल कैमरों का इस्तेमाल नहीं करते...बल्कि अपने स्मार्टफोन के कैमरे का ही प्रयोग करते हैं . लेकिन इसके पीछे क्या वजह है ? ये जानने के लिए...आपको कैमरे और स्मार्टफोन...दोनों से जुड़े कुछ तथ्यों को समझना होगा .

वर्ष 2003 में...पूरी दुनिया में लगभग 4 करोड़ 30 लाख कैमरों की बिक्री हुई . जबकि वर्ष 2010 में पूरे विश्व में...करीब 12 करोड़ 10 लाख कैमरे बेचे गए . लेकिन 2010 के बाद...हर वर्ष कैमरों की बिक्री में 75 फीसदी तक की कमी आई. इस कारण वर्ष 2018 तक...कैमरों की बिक्री...1 करोड़ 90 लाख पर पहुंच गई . यानी बहुत कम रह गई .

इस गिरावट के पीछे सबसे बड़ी वजह है...स्मार्टफोन . वर्ष 2000 में पहली बार...कैमरे वाला मोबाइल फोन Launch हुआ . लेकिन इसकी Quality उतनी अच्छी नहीं थी . वर्ष 2010 से...मोबाइल फोन बनाने वाली कंपनियों ने...मोबाइल कैमरे को लेकर कई प्रयोग करना शुरू किए . 2012 में पहली बार मोबाइल फोन कैमरे में...Zoom Lens की शुरुआत हुई . इसके बाद वर्ष 2017 में ड्यूल कैमरा मॉड्यूल लॉन्च किया गया . यानी अब बैक के साथ साथ फ्रंट कैमरा भी मोबाइल फोन में मौजूद था . इसके बाद स्मार्टफोन्स के कैमरे...और बेहतर होते गए .

वर्ष 2018 में...भारत में लगभग 16 करोड़ स्मार्टफोन बेचे गए . एरिकसन मोबिलिटी रिपोर्ट के अनुसार...वर्ष 2024 तक...भारत की आबादी लगभग 145 करोड़ होगी...जिसमें से 110 करोड़ लोग, स्मार्टफोन्स का इस्तेमाल कर रहे होंगे .

पूरी दुनिया में...वर्ष 2013 में, लगभग 66 हजार करोड़ तस्वीरें खीचीं गई . वहीं, वर्ष 2018 में...1 लाख 30 हजार करोड़ तस्वीरें खीचीं गई . इन तस्वीरों में से...लगभग 85 प्रतिशत तस्वीरें स्मार्टफोन्स से ली गई थीं . जबकि 10 फीसदी डिजिटल कैमरे से और 5 फीसदी टेबलेट्स के द्वारा खीचीं गई थी .

यानी जैसे जैसे स्मार्टफोन्स के कैमरे बेहतर होते गए...वैसे वैसे डिजिटल कैमरों का इस्तेमाल कम होने लगा . लेकिन ऐसा नहीं है कि स्मार्टफोन्स की वजह से...सिर्फ कैमरे का प्रयोग बंद हुआ है . इसके अलावा भी कई ऐसी डिवाइस हैं...जिनका प्रयोग, मोबाइल फोन्स के इस्तेमाल के कारण लगभग बंद हो गया है . यहां तक कि स्मार्टफोन्स की वजह से...आपकी निजी जिंदगी में भी बदलाव आया है .

इसे समझने के लिए...आज हमने आपके लिए एक वीडियो विश्लेषण तैयार किया है . इस विश्लेषण से आप ये भी समझ पाएंगे...कि स्मार्टफोन ने किन किन चीजों को अपना शिकार बनाया है .