Zee जानकारी : सिगरेट छोड़ने से हृदयाघात का खतरा हो जाता है आधा

 

Zee जानकारी : सिगरेट छोड़ने से हृदयाघात का खतरा हो जाता है आधा

Zee Jankari : 

अगर आप सिगरेट पीना छोड़ दें तो आप एक करोड़ रुपये बचा सकते हैं और आपकी जिंदगी में हर साल सिगरेट न पीने से 55 दिन और जुड़ जाएंगे। सिगरेट का त्याग करने से आपको Heart Attack होने का खतरा 50 प्रतिशत तक कम हो जाएगा और आप सिगरेट को छोड़ कर इतनी बचत कर लेंगे कि आप पूरा यूरोप घूम सकते हैं। सबसे महत्वपूर्ण बात ये है कि इससे आपका परिवार भी ज़्यादा खुशहाल और सेहतमंद हो जाएगा।

आपको जानकर हैरानी होगी कि तंबाकू  कानूनी तौर पर बिकने वाला एकमात्र ऐसा पदार्थ है, जिसका निर्देशों के अनुसार सेवन करने से दुनिया में हर 6 सेकेंड में एक व्यक्ति की मौत हो जाती है। भारत की करीब 35 प्रतिशत आबादी किसी ना किसी रूप में तंबाकू और तंबाकू से बने Products जैसे, गुटखा, पान मसाला, सिगरेट, खैनी और हुक्का इत्यादि का सेवन करती है। 

- WHO की एक रिपोर्ट के मुताबिक भारत के 48 प्रतिशत पुरुष और 20 प्रतिशत महिलाएं तंबाकू का सेवन करते हैं।

- इसी रिपोर्ट के मुताबिक तंबाकू का सेवन करने वाले 60 प्रतिशत लोग सुबह उठने के आधे घंटे के अंदर सिगरेट या तंबाकू का सेवन करने लगते हैं।

- भारत में लोग तंबाकू का सेवन औसतन 17 साल की उम्र से ही करने लगते हैं, जबकि 25 प्रतिशत महिलाएं 15 साल की उम्र में तंबाकू की आदी हो जाती हैं। 

- भारत में करीब 16 करोड़ लोग धुआं मुक्त तंबाकू का सेवन करते हैं। और इनमें से ज़्यादातर लोग तंबाकू को चबाते हैं।

- दुनिया भर में हर साल तंबाकू का सेवन करने से करीब 60 लाख लोगों की मौत हो जाती है। इनमें से 10 लाख लोग अकेले भारत में मरते हैं, पूरी दुनिया के मुकाबले भारत में Oral Cancer यानी मुंह के कैंसर के मरीज़ सबसे ज्यादा है। 

- Indian Council of Medical Research के मुताबिक भारत में कैंसर के कुल मामलों में 29 प्रतिशत तंबाकू के सेवन की वजह से सामने आते हैं।

- सिगरेट पीने वाले अपने साथ-साथ दूसरों को भी बीमार करते हैं, WHO के मुताबिक भारत की 50 प्रतिशत आबादी को Second hand Smoking या Passive Smoking का सामना करना पड़ता है।

- ये वो लोग होते हैं जो खुद तो सिगरेट नहीं पीते..लेकिन दूसरे लोगों की वजह से सिगरेट का धुआं इनके शरीर में जाता है..पूरी दुनिया में Second Hand Smoking से हर साल 6 लाख लोगों की मौत हो जाती है। 

- अगर आपको लग रहा है कि आप कई वर्षों से सिगरेट पी रहे हैं और आपको अब तक कोई नुकसान नहीं हुआ है तो हम आपको बता दें कि एक सिगरेट आपकी जिंदगी से 11 मिनट कम कर देती है। 

- अगर आप एक दिन में 20 सिगरेट पीते हैं तो आप हर रोज़ अपनी जिंदगी के 220 मिनट गंवा देते हैं।  यानी साल भर में आपकी जिंदगी से 79 हज़ार 200 मिनट कम हो जाते है और ये 55 दिनों के बराबर है, यानी 10 साल तक सिगरेट पीने वाला व्यक्ति अपनी जिंदगी के 550 दिन गंवा देता है।

- अगर आप सिगरेट पीना छोड़ दें, तो कुछ ही वर्षों में आप शानदार SUV खरीद सकते हैं, लंबे समय तक सिगरेट छोड़ने पर आप World Tour  पर भी जा  सकते हैं, और हमेशा के लिए सिगरेट छोड़कर आप 1 करोड़ रुपये तक बचा सकते हैं।

- अगर आप दिन भर में 20 सिगरेट पीते हैं और एक सिगरेट की कीमत 13 रुपये हैं तो आप सिगरेट छोड़ कर 10 वर्षों में 9 लाख 36 हज़ार रुपये बचा लेंगे , इतने पैसों में आप अपनी मनपसंद कार खरीद सकते हैं।

- इसी तरह 15 वर्षों तक सिगरेट छोड़ने पर आपकी कुल बचत 14 लाख 4 हज़ार रुपये की होगी..इस रकम में अगर कोई चाहे तो यूरोप के सभी देशों का Tour plan कर सकता है। 

- हर साल सिगरेट की कीमत में होने वाले इज़ाफे को करीब 8 प्रतिशत भी माना जाए तो अगले 30 वर्षों में आप करीब 30 लाख रुपये बचा लेंगे। 

- अगर सिगरेट पर खर्च होने वाली रकम को हर महीने आप किसी Investment Scheme में लगा देंगे तो आपको हर साल 9 प्रतिशत की दर से ब्याज़ मिलेगा। यानी ये रकम 30 वर्षों में करीब 70 लाख रुपये के आसपास हो जाएगी 

- सिगरेट पीने से आपके स्वास्थ्य को भी काफी नुकसान पहुंचता है और आपको डॉक्टर के चक्कर भी लगाने पड़ते हैं, सिगरेट पीने से होने वाली परेशानियों से छुटकारा पाने के लिए औसतन करीब 400 रुपये प्रति महीने, दवाओं पर खर्च करने पड़ते हैं। 

- अगर ये मान लिया जाए कि Medical Treatment और दवाओं के दामों में हर साल 12 प्रतिशत का इज़ाफा होगा तो 30 वर्षों में आपको करीब 11 लाख 59 हज़ार रुपये खर्च करने पड़ेंगे, इस रकम को Invest करने पर आपको 9 प्रतिशत की दर से Return मिलेगा और 30 वर्षों में ये रकम 26 लाख 70 हज़ार रुपये हो जाएगी। 

- Health Risk की वजह से सिगरेट पीने  वालों को आम लोगों के मुकाबले Life Insurance प्लान के लिए करीब 460 रुपये प्रति महीने ज्यादा चुकाने पड़ते हैं। 30 वर्षों में ये रकम 1 लाख 65 हज़ार रुपये हो जाएगी..इस रकम पर मिलने वाले ब्याज़ को इसमें जोड़ दिया जाए तो 30 वर्षों के बाद आपको 7 लाख 65 हज़ार रुपये मिलेंगे।

- 30 वर्षों तक सिगरेट छोड़कर बचने वाली 70 लाख रुपये की रकम में अगर आप ..दवाओं पर खर्च होने वाली रकम को ब्याज़ सहित जोड़ दें तो आपकी कुल बचत करीब 96 लाख रुपये हो जाएगी..और फिर इसमें Insurance से बचाई गई रकम को भी जोड़ दिय़ा जाए तो 30 वर्षों में आपकी बचत 1 करोड़ 3 लाख रुपये हो जाएगी।

अब ज़रा नियम और कानून की बात कर लेते हैं.. सुप्रीम कोर्ट के फैसले के मुताबिक भारत में सिगरेट बेचने वाली कंपनियों को सिगरेट के पैकेट के 85 प्रतिशत हिस्से पर Pictorial Warning यानी सचित्र चेतावनी देनी होगी। सिगरेट कंपनियां इस फैसले का लगातार विरोध कर रही हैं। फिलहाल भारत में सिगरेट बेचने वाली सिर्फ 2 कंपनियों ने इस नियम के पालन का ऐलान किया है। 

- भारत में कंपनियां अभी तक सिगरेट के पैकेट के सिर्फ 20 प्रतिशत हिस्से पर चेतावनी छापती हैं। 

- जबकि थाईलैंड में सिगरेट के पैकेट के 85 प्रतिशत हिस्से पर सचित्र चेतावनी का होना जरूरी है।

- ऑस्ट्रेलिया में 82 प्रतिशत हिस्से पर Pictorial Warning को जरूरी बनाया गया है। 

- भारत के पड़ोसी देश नेपाल में सिगरेट के पैकेट के 75 प्रतिशत हिस्से पर  Pictorial Warning होती है। 

- इसी तरह श्रीलंका में 60 प्रतिशत और पाकिस्तान में सिगरेट के पैकेट के 40 प्रतिशत हिस्से पर सचित्र चेतावनी देने का नियम है। 

- सिगरेट के पैकेट पर Pictorial Warning देने के मामले में भारत बहुत पीछे है.. 2015 में इस विषय पर एक रिपोर्ट आई थी जिसमें 198 देशों की लिस्ट में भारत 136 वें नंबर पर था।

- भारत तंबाकू उत्पादन के मामले में चीन के बाद दुनिया में दूसरे नंबर पर है। भारत में हर साल 80 करोड़ किलोग्राम तंबाकू का उत्पादन होता है, भारत के तंबाकू उद्योग से 4 करोड़ 50 लाख लोग जुड़े हुए हैं। 

- एक अनुमान के मुताबिक 2018 तक भारत में तंबाकू का कारोबार 2 लाख 35 हज़ार करोड़ रुपये का  होगा। आपको ये भी बता दें कि 2015 में सिगरेट पर लगाई जाने वाली एक्साइज़ ड्यूटी से सरकार को 21 हज़ार 463 करोड़ रुपये की कमाई हुई थी यानी तंबाकू का कारोबार भारत में लाखों करोड़ों रुपये का है..सरकार और कंपनियां इस कमाई में किसी भी तरह की कमी को बर्दाश्त नहीं कर सकतीं। 

- WHO  का कहना है कि सिगरेट पर टैक्स की दर करीब 70 प्रतिशत होनी चाहिए..जबकि भारत में ये दर 60 प्रतिशत है...इससे कंपनियों को काफी फायदा होता है। 

- WHO का ये भी कहना है कि भारत में सिगरेट कई देशों के मुकाबले 175 प्रतिशत तक सस्ती पड़ती है, और ज्यादातर लोग सिगरेट खरीदने में सक्षम हैं।

- भारत में एक बड़े ब्रांड की सिगरेट का पैकेट 250 रुपये में मिल जाता है..जबकि अमेरिका में इसके लिए आपको 402 रुपये और इंग्लैंड में 859 रुपये खर्च करने पड़ते हैं।

- भारत को सिगरेट की लत से बचाने के लिए सिगरेट को और महंगा करना होगा..ताकि आम लोगों के पैसे और ज़िंदगी दोनों को बचाया जा सके।

- सिगरेट छोड़ने के सिर्फ 8 घंटों बाद ही आपके शरीर से कार्बन मोनोऑक्साइड जैसी ज़हरीली Gases बाहर निकल जाती है। 

- सिगरेट छोड़ने के 5 दिनों बाद ही शरीर में मौजूद सारी Nicotene बाहर निकल जाती है, और आप स्वस्थ होने लगते हैं 

- हफ्ते के लिए सिगरेट और तंबाकू छोड़ने से आपको खाने पीने की चीज़ों में ज़्यादा स्वाद आने लगता है। 

- 3 हफ्ते तक सिगरेट और तंबाकू छोड़ने से आपके फेफड़े 30 प्रतिशत बेहतर काम करने लगते हैं 
12 हफ्तों में आपके फेफड़े खुद अपनी सफाई करने में सक्षम हो जाते हैं।

- सिगरेट छोड़ने के 1 वर्ष बाद आपको Heart Attack जैसी बीमारियां होने का खतरा 50 प्रतिशत तक कम हो जाता है और 5 वर्षों तक सिगरेट छोड़ने से आपको स्ट्रोक होने की संभावनाएं बहुत कम हो जाती हैं।