ZEE जानकारी: जानें पहली बार कब हुआ था Hello शब्द का प्रयोग

Hello जर्मनी भाषा के शब्द 'होला' से बना है, जिसका अर्थ होता है अभिवादन करना . जर्मनी से ये शब्द ब्रिटेन पहुंचा और वहां के लोग इसे 'हालो' और 'होलो' बोलने लगे.

ZEE जानकारी: जानें पहली बार कब हुआ था Hello शब्द का प्रयोग
टेलीफोन पर सबसे पहले Hello बोलने की शुरुआत अमेरिका के महान वैज्ञानिक Thomas Alva Edison ने की थी.

आज World Hello Day है. किसी से बातचीत शुरू करते वक्त आप में से अधिकतर लोग, अभिवादन के तौर पर सबसे पहले Hello बोलते हैं. Hello जर्मनी भाषा के शब्द 'होला' से बना है, जिसका अर्थ होता है अभिवादन करना . जर्मनी से ये शब्द ब्रिटेन पहुंचा और वहां के लोग इसे 'हालो' और 'होलो' बोलने लगे. ऐसा माना जाता है कि वर्ष 1833 में, अमेरिका में लिखी गई एक किताब में...पहली बार Hello शब्द का प्रयोग हुआ था. उसके बाद धीरे-धीरे ये शब्द आम लोगों द्वारा इस्तेमाल किया जाने लगा और वर्ष 1860 तक काफी प्रचलित हो गया.

आज जब आप फोन पर किसी से बात शुरू करते हैं तो पहला शब्द होता है Hello. टेलीफोन पर सबसे पहले Hello बोलने की शुरुआत. अमेरिका के महान वैज्ञानिक Thomas Alva Edison ने की थी. Edison ने वर्ष 1877 में क​हा था कि Hello बेहद सरल और अर्थपूर्ण शब्द है और लोगों को टेलीफोन पर अभिवादन के तौर पर, इसका इस्तेमाल करना चाहिए. लेकिन World Hello Day मनाने की शुरुआत एक युद्ध के कारण हुई. वर्ष 1973 में Israel और Egypt के बीच एक युद्ध लड़ा गया . करीब 19 दिन चले इस युद्ध के समाप्त होने के बाद...जिस शब्द का सबसे पहले इस्तेमाल किया गया, वो था Hello.

युद्ध के बाद तनाव को कम करने के लिए, अमेरिका में रहने वाले दो भाइयों Brian McCormack (ब्रायन मैक कोरमैक) और Michael McCormack (माइकल मैक कोरमैक) ने World Hello Day मनाने की शुरुआत की . इस दिन को मनाने का उद्देश्य दुनिया में शांति और मित्रता का प्रसार करना और आपसी संवाद को बढ़ावा देना है. इन दोनों भाइयों ने, दुनिया के कई नेताओं को, 7 अलग अलग भाषाओं में 1 हजार 360 पत्र लिखे और उन्हें Hello Day मनाने के लिए प्रेरित किया . उनके प्रयास से पहले वर्ष 15 देशों ने Hello Day मनाया और आज 46 वर्ष बाद. दुनिया के लगभग 180 से ज़्यादा देश World Hello Day मनाते हैं. ये दिन लोगों को एक-दूसरे से बातचीत करने के लिए प्रोत्साहित करता है और ये संदेश देता है..कि व्यक्तिगत संचार...किसी भी व्यक्ति के जीवन के लिए बहुत अहमियत रखता है.

अक्सर ऐसा होता है कि हम अपनी व्यस्तता की वजह से, या कभी कभी अपने अंहकार की वजह से एक दूसरे से संवाद नहीं करते लेकिन आज इन सब चीजों को अपने जीवन से दूर हटाकर. हमें एक दूसरे से, Hello जरूर कहना चाहिए.