close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

Zee Jankari: कश्मीर को लेकर UNGA में इमरान खान ने क्या झूठ बोला था?

आज हम देश में चल रही ऐसी ही कुटिल राजनीति का विश्लेषण करेंगे. यूरोपियन यूनियन के सांसदों का प्रतिनिधि मंडल श्रीनगर पहुंच चुका है. 

Zee Jankari: कश्मीर को लेकर UNGA में इमरान खान ने क्या झूठ बोला था?

हमने आपको देश के ऐसे प्रदूषित शहरों के बारे में बताया. जहां प्रदूषण खतरनाक स्तर पर पहुंच चुका है. अब एक ऐसी जगह की बात करते हैं. जहां प्रदूषण का स्तर बेहद कम हैं. श्रीनगर में आज PM 2.5 का स्तर सिर्फ 78 है. लेकिन श्रीनगर को माध्यम बनाकर तीन महीनों से ...देश में एक कुटिल वैचारिक प्रदूषण फैलाया जा रहा है. ये वैचारिक प्रदूषण भी खतरनाक स्तर को पार कर चुका है. जो कि देश के राजनैतिक और सामाजिक पर्यावरण के लिए बेहद घातक है. हमारे देश के कुछ नेता ऐसे बयान दे रहे हैं. जिनका इस्तेमाल पाकिस्तान अंतर राष्ट्रीय स्तर पर देश के खिलाफ करता है.

आज हम देश में चल रही ऐसी ही कुटिल राजनीति का विश्लेषण करेंगे. यूरोपियन यूनियन के सांसदों का प्रतिनिधि मंडल श्रीनगर पहुंच चुका है. इस प्रतिनिधि मंडल में 23 सांसद हैं. अनुच्छेद 370 के खत्म होने के बाद किसी भी अंतर राष्ट्रीय प्रतिनिधिमंडल का ये पहला कश्मीर दौरा है. EU के सांसदों ने आज GoC 15 Corps के लेफ्टिनेंट जनरल के जे एस ढिल्लन से मुलाकात की.

मुलाकात में कश्मीर के मौजूदा हालात और LoC की स्थिति पर चर्चा की गई. इसके साथ ही EU के सांसदों ने डल झील की सैर की. EU सांसदों ने कश्मीर के आम लोगों से वर्तमान हालात पर भी चर्चा की. यूरोपीय यूनियन 28 यूरोपीय देशों का संगठन है. जिसे वर्ष 1957 में 6 देशों बेल्जियम, फ्रांस, इटली..( Luxembourg ) लक्जमबर्ग और नीदरलैंड्स ने स्थापित किया था.

किसी भी देश में राजनीति राष्ट्र केंद्रित होनी चाहिए. कहने का मतलब ये है कि राजनीति का पहला उद्देश्य राष्ट्रहित होता है. अफसोस की बात ये है कि पांच अगस्त से कश्मीर को लेकर देश में एक ऐसी बहस की जा रही है कि जिससे सिर्फ देश का नुकसान हो रहा है.

आज पूरी दुनिया ने कश्मीर की तस्वीरें देखीं. आज पाकिस्तान इन तस्वीरों के देखकर परेशान होगा. ये तस्वीरें बात का सबूत है कि कश्मीर को लेकर UNGA में इमरान खान ने दुनिया से झूठ बोला था. कांग्रेस की नीति कश्मीर को लेकर ऐसी है. जिसकी कल्पना भी नहीं की जा सकती है. कांग्रेस नेताओं के बयान का उल्लेख इमरान खान UNGA में करते हैं.

आज कश्मीर से आई इन तस्वीरों को देखकर देश के ही कुछ नेताओं को अच्छा नहीं लगा. क्योंकि वो नहीं चाहते कि कश्मीर से अच्छे समाचार या तस्वीरें आएं. क्योंकि उनकी राजनीति कश्मीर से आने वाले अशुभ समाचारों के ईंधन से चलती है. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने जो EU सांसदों के कश्मीर दौरे पर जो ट्विट किया है.

उस पर आपको गौर करना चाहिए. राहुल गांधी ने इस ट्वीट के जरिए यूरोपियन यूनियन के सांसदों के कश्मीर दौरे को लेकर गड़बड़ी की आशंका जताई है. और guided tour शब्द का इस्तेमाल किया है. उनका ये ट्वीट देश की अंतर राष्ट्रीय छवि को नुकसान पहुंचा सकता है. जैसे उनके बयान पहले पहुंचा चुके हैं.

राहुल गांधी शायद ये भूल गए हैं कि उनकी पार्टी के नेता गुलाम नबी आजाद कश्मीर का दौरा कर चुके हैं. और पर्यटकों और पत्रकारों के भी कश्मीर जाने पर कोई रोक नहीं है. सवाल ये उठता है कि कब दलहित की बजाए देशहित की राजनीति होगी.

आज EU के प्रतिनिधिमंडल ने कश्मीर के वर्तमान परिस्थितियों को समझने की कोशिश की. उन्हें आज कश्मीर के इतिहास की जानकारी भी दी गई.