CAA: ZEE NEWS के अभियान को दिग्गजों ने सराहा, 1 करोड़ से ज्यादा लोगों का मिला समर्थन

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर ZEE NEWS  के जागरूकता अभियान को 1 करोड़ से ज्यादा मिस्ड कॉल दे चुके हैं.

CAA: ZEE NEWS के अभियान को दिग्गजों ने सराहा, 1 करोड़ से ज्यादा लोगों का मिला समर्थन

नई दिल्ली: नागरिकता संशोधन कानून (Citizenshp Amendment Act) पर चल रहे ज़ी न्यूज़ (ZEE NEWS) के जागरूकता अभियान को देश भर से जबरदस्त समर्थन मिल रहा है. हर घंटे 1 लाख से ज्यादा लोग मिस्ड कॉल के जरिए नागरिकता कानून का समर्थन कर रहे हैं. अब तक 1 करोड़ से ज्यादा लोग ज़ी न्यूज पर नागरिकता क़ानून का समर्थन कर चुके हैं. सीएए के समर्थकों में राजनीति और न्यायपालिका जगत की हस्तियां भी शामिल हैं.

1984 के दंगों के मामले में बनी एसआईटी के चेयरमैन रहे हाईकोर्ट के भूतपूर्व जस्टिस एसएन ढींगरा ने कहा कि वह खुद ज़ी न्यूज़ के जागरूकता अभियान का समर्थन कर चुके हैं. उन्होंने कहा कि यह एक बहुत अच्छी पहल है. जो लोग हिंसा में शामिल हैं, उनका लोकतंत्र में विश्वास नहीं है. इस तरह की हिंसा एक अलोकतांत्रिक और प्रायोजित है.

जाने माने वकील उज्जवल निकम ने कहा, ''सरकार के जरिए लाए गए किसी भी बात का कुछ लोग विरोध करते हैं और कुछ लोगा समर्थन करते हैं. आमतौर पर देखा गया है कि विरोध करने वाले लोग सड़कों पर उतर आते हैं और सरकारी संपत्तियों का नुकसान करते हैं. भारत विश्व का सबसे बड़ा गणतंत्र है और यहां अभी तक कोई ऐसा प्लेटफॉर्म लोगों को दिया और इतने लोगों ने इसमें अपना विश्वास जताया. बेहद आसान है आप अपनी बात एक मिस्ड कॉल के जरिए रजिस्टर करा सकते हैं. आप विरोध करें या समर्थन करें, लेकिन सरकारी संपत्तियों को बगैर नुकसान पहुंचाए इस तरह की अगर बात रखते है तो इस बात के लिए ज़ी न्यूज़ की सराहना ही करनी चाहिए.''

 

 

जेडीयू महासचिव केसी त्यागी ने कहा, ''मैं ज़ी न्यूज को धन्यवाद देता हूं. चैनल समय-समय पर जनहित की मुहिम चलाता है, इतने कम समय में इतना वयापक समर्थन ये दिखाता है कि जनमानस क्या चाहता है? मैं उम्मीद करता हूं कि यह समर्थन और बढ़ेगा. जेडीयू ने राज्यसभा और लोकसभा दोनों में इस कानून का समर्थन किया है.''

राज्यसभा सांसद राकेश सिन्हा का कहना है, ''ज़ी न्यूज़ के राष्ट्रवादी अभियान का अभिनंदन किसी देश की लोकतांत्रिक व्यवस्था में मीडिया रोल निभाती है तो जनजागृति आती है. एक करोड़ लोगों का मिस्ड कॉल आना दिखाता है ज़ी न्यूज़ के प्रति लोगों की आस्था और ज़ी न्यूज़ के विषय पर लोगों का अपार जन समर्थन है. मुझे लगता है कि समर्थकों की संख्या एक करोड़ ही नहीं बल्कि ज़्यादा है.''

शाहनवाज़ हुसैन ज़ी न्यूज़ के माध्यम से अमन की अपील करते हुए कहा है, ''मुस्लिम भाई भाईचारे की दुआ करें. नागरिकता देना वाला एक्ट है, लेने वाला नहीं है. किसी भी अफवाह पर ध्यान न दें. एनपीआर और एनआरसी पर डरें नहीं. यह देश के पीएम ने कहा है कि हिंदुस्तान के मुस्लिम को कोई बाहर नहीं कर सकता है.''

बीजेपी सांसद हंसराज हंस का कहना है, ''देश को सीएए से डरने की जरूरत नहीं है. भारत के लोगों की नागरिकता पर कोई खतरा नहीं है. मेरी खुद की नागरिकता पर खतरा नहीं है और लोगों को सीएए का समर्थन करना चाहिए. मैं ज़ी न्यूज़ की मुहिम के साथ हूं और ज़ी न्यूज़ हमेशा सच का साथ देता है और लोगों को जागृत करता है. एक करोड़ समर्थन में से एक समर्थन मेरा भी ज़ी न्यूज़ के नाम.''