अब इन खिलाड़ियों को भी सीधे मिलेगी सरकारी नौकरी, सरकार ने बदले नियम

केंद्र सरकार ने अपने मौजूदा नियमों में बदलाव करते हुए स्पोर्ट्स कैटेगरी (Sports Category) को और व्यापक कर दिया है. केंद्रीय कार्मिक मंत्रालय ने मंगलवार को जारी एक आदेश में कहा कि केंद्र ने ‘सी’ स्तर के सरकारी पदों पर बेहतरीन खिलाड़ियों की सीधी भर्ती के लिए खेलों की सूची में 20 और खेलों को शामिल किया है.

अब इन खिलाड़ियों को भी सीधे मिलेगी सरकारी नौकरी, सरकार ने बदले नियम
फाइल फोटो

नई दिल्ली: अलग- अलग स्पोर्ट्स के खिलाड़ियों के लिए भी अब सरकारी नौकरी पाने का रास्ता आसान हो गया है. केंद्र सरकार ने अपने मौजूदा नियमों में बदलाव करते हुए स्पोर्ट्स कैटेगरी को और व्यापक कर दिया है. केंद्रीय कार्मिक मंत्रालय ने मंगलवार को जारी एक आदेश में कहा कि केंद्र ने ‘सी’ स्तर के सरकारी पदों पर बेहतरीन खिलाड़ियों की सीधी भर्ती के लिए खेलों की सूची में 20 और खेलों को शामिल किया है.

रस्साकशी, मल्लखंब और पैरा-खेल भी हुए शामिल
प्राप्त जानकारी के मुताबिक केंद्र सरकार ने रस्साकशी (tug of war), मल्लखंब (Mallakhamb) और पैरा स्पोर्ट्स (पैरा ओलंपिक और पैरा एशियन गेम्स में शामिल खेल) को अपनी सूची में जोड़ा है. इसके अलावा पहली बार बेसबॉल (Baseball), रग्बी (Rugby) और बास्केटबॉल Basketball) के खिलाड़ियों को भी सीधे सरकारी नौकरी मिलेगी. केंद्र के तहत आने वाले खेल विभाग की ओर से भारत सरकार के मंत्रालयों / विभागों में किसी भी ग्रुप सी पद पर खिलाड़ियों की भर्ती के लिए 43 खेलों की सूची में कुछ और खेलों को शामिल करने के प्रस्ताव के बाद यह कदम उठाया गया है.

कार्मिक मंत्रालय के आदेश में कहा गया, 'खेल विभाग की सिफारिश को स्वीकार करने का निर्णय लिया गया है.' आदेश में कहा गया कि भारत सरकार द्वारा खिलाड़ियों की भर्ती के उद्देश्य से खेल / खेलों की सूची को संशोधित किया गया है, इसमें अब 63 खेल शामिल हैं. मौजूदा निर्देशों के अनुसार जिन खिलाड़ियों ने इन 63 खेलों की सूची में से किसी में भी राष्ट्रीय या अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में किसी राज्य या देश का प्रतिनिधित्व किया है वे ग्रुप सी स्तर के पदों के लिए नियुक्ति के पात्र होंगे. ऐसे खिलाड़ी जिन्हें राष्ट्रीय शारीरिक दक्षता अभियान के तहत, शारीरिक दक्षता में राष्ट्रीय पुरस्कारों से सम्मानित किया गया है, वे भी इस तरह के पदों पर नियुक्ति के लिए पात्र हैं.

कार्मिक मंत्रालय के 2013 में जारी निर्देश के मुताबिक, 'ऐसी कोई भी नियुक्ति तब तक नहीं की जा सकती है जब तक कि उम्मीदवार सभी प्रकार से पद के लिए आवेदन करने के लिए पात्र हो और विशेष रूप से, पद के लिए लागू भर्ती नियमों के तहत निर्धारित आयु, शैक्षिक या अनुभव योग्यता के संबंध में छूट दी गई हो.

ये भी पढ़ें: PMAY: 3.50 लाख रुपये में घर खरीदने का मौका, ऐसे कर सकते हैं बुकिंग

पहले की नीति के अनुसार तीरंदाजी, एथलेटिक्स (ट्रैक और फील्ड प्रतियोगिता सहित), आत्या-पात्या, बैडमिंटन, बॉल-बैडमिंटन, बास्केटबॉल, बिलियर्ड्स एवं स्नूकर, मुक्केबाजी, ब्रिज, कैरम, शतरंज, क्रिकेट, साइकिलिंग, घुड़सवारी खेल, फुटबॉल, गोल्फ, जिम्नास्टिक (बॉडी बिल्डिंग सहित), हैंडबॉल, हॉकी, आइस-स्कीइंग, आइस-हॉकी, आइस-स्केटिंग और जूडो के साथ कबड्डी, कराटे-डो, कयाकिंग और कैनोइंग, खो-खो, पोलो, पावरलिफ्टिंग, राइफल निशानेबाजी, रोलर स्केटिंग, नौकायन, सॉफ्ट बॉल, स्क्वाश, तैराकी, टेबल टेनिस, ताइक्वांडो, टेनी-कोइट, टेनिस, वॉलीबॉल, भारोत्तोलन , कुश्ती और याचिंग को भी योजना में शामिल किया गया था.