Online Internship: बदल रहे हैं प्रशिक्षण के तरीके, घर बैठे बनें विदेशी कंपनी का हिस्सा

कोविड-19 (COVID-19) के बढ़ते प्रकोप ने जॉब सेक्टर पर काफी गहरा असर डाला है. हाल ही में कॉलेज की पढ़ाई पूरी करने वाले छात्रों के लिए इस साल नौकरी ढूंढ पाना काफी मुश्किल साबित हो रहा है.

Online Internship: बदल रहे हैं प्रशिक्षण के तरीके, घर बैठे बनें विदेशी कंपनी का हिस्सा
ऑनलाइन इंटर्नशिप के फायदे

नई दिल्ली: कोविड-19 (COVID-19) के बढ़ते प्रकोप ने जॉब सेक्टर पर काफी गहरा असर डाला है. हाल ही में कॉलेज की पढ़ाई पूरी करने वाले छात्रों के लिए इस साल नौकरी ढूंढ पाना काफी मुश्किल साबित हो रहा है. किसी भी कंपनी में अब किताबी ज्ञान के साथ ही व्यावहारिक (Practical) ज्ञान को भी प्राथमिकता दी जाने लगी है. आप भले ही एक फ्रेशर (Fresher) ही क्यों न हों, लेकिन इंडस्ट्री में आपसे उम्मीद जताई जाती है कि आपके रिज्यूमे (Resume) में वर्क एक्सपीरियंस (Work Experience) के नाम पर कुछ न कुछ जरूर हो. रिज्यूमे में अपना अनुभव जोड़ने के लिए छात्र इंटर्नशिप (Internship) करते हैं, कहीं छोटी-बड़ी नौकरी कर लेते हैं या कहीं वॉलंटियर (Volunteer) ही बन जाते हैं. आज के समय की गंभीरता और जॉब मार्केट को ध्यान में रखते हुए इंटर्नशिप छात्रों की शिक्षा का मुख्य हिस्सा बन चुकी हैं. एडु ब्रेन ग्रुप (Edu Brain Group) के संस्थापक सोम शर्मा से जानिए अंतर्राष्ट्रीय इंटर्नशिप (International Internship) के फायदे.

बदल रहा है इंटर्नशिप का दौर
जहां पहले छात्र पढ़ाई के दौरान या कॉलेज के आखिरी साल में अपने सेक्टर से जुड़ी कंपनियों में इंटर्नशिप करते थे, वहीं फिलहाल कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी की वजह से ऐसा कर पाना मुमकिन नहीं है. ऐसे में हर सेक्टर में ऑनलाइन इंटर्नशिप (Online Internship) का नया ट्रेंड उभरा है. अभी के लिए सीखने और करियर (Career) में आगे बढ़ने के लिए यही सबसे अच्छा विकल्प भी है. इसमें भी अगर आप अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर इंटर्नशिप करते हैं तो यह आपके रिज्यूमे के लिए काफी सुनहरा अवसर साबित हो सकता है. वर्चुअल इंटरनेशनल इंटर्नशिप (Virtual International Internship) ने सीखने का नया स्कोप विकसित किया है. इससे करियर को एक नई दिशा दी जा सकती है और बिना कहीं यात्रा किए या बिना 9-5 के कठिन शेड्यूल में काम किए आप इंटर-कल्चरल (Inter-Cultural) अनुभव हासिल कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें- इन Grooming Tips के जरिए पहली नौकरी में जमाएं अपना शानदार Impression

वर्चुअल इंटरनेशनल इंटर्नशिप के फायदे
ऑनलाइन इंटरनेशनल इंटर्नशिप के कई फायदे हैं. जानिए उनके बारे में-

1. बजट में सीखें
पहले अंतर्राष्ट्रीय स्तर की इंटर्नशिप के लिए विदेश जाना पड़ता था, जिसके लिए वहां तक आना-जाना और रहना-खाना काफी महंगा पड़ता था. कई मेधावी छात्र बजट के अभाव में सुनहरे मौकों से वंचित रह जाते थे. हालांकि, अब अंतर्राष्ट्रीय इंटर्नशिप के लिए आपके पास बस एक अच्छा इंटरनेट कनेक्शन होना जरूरी है. आज-कल ज्यादातर कंपनियों के एंप्लॉइज वर्क फ्रॉम होम (Work From Home) कर रहे हैं. अब आप भी सीमित संसाधनों के साथ घर बैठे अंतर्राष्ट्रीय कंपनी में इंटर्नशिप कर सकते हैं. 

2. बढ़ेगा वैश्विक नेटवर्क
वर्चुअल इंटर्नशिप से आपके नई चीजें सीखने और नेटवर्क का दायरा बढ़ता है. आप अपने घर में बैठे हुए भी वैश्विक (Global) स्तर पर अपना नेटवर्क मजबूत कर सकते हैं. ग्लोबली काम करते हुए आप अपने जैसे दूसरे इंटर्न्स (Interns), मेंटर्स (Mentors) और सुपरवाइजर्स (Supervisors) के साथ नेटवर्क बढ़ा सकते हैं. किसी विदेशी कंपनी में काम करने से आप अपनी जान-पहचान का दायरा बढ़ा सकते हैं और इससे कभी भी जरूरत पड़ने पर आप अपने विदेशी कलीग्स (Colleagues) और मेंटर्स से मदद मांग सकते हैं. 

यह भी पढ़ें- अब इन खिलाड़ियों को भी सीधे मिलेगी सरकारी नौकरी, सरकार ने बदले नियम

3. अंतर्राष्ट्रीय स्तर की ट्रेनिंग
अपने मन-मुताबिक समय में घर पर रहते हुए ग्लोबल स्टैंडर्ड (Standard) का ज्ञान अर्जित करने से बेहतर क्या होगा भला? वर्चुअल इंटर्नशिप की मदद से छात्र लेटेस्ट और सबसे प्रभावी मार्केट स्किल्स (Market Skills) और तकनीक सीख सकते हैं. इस जानकारी को आप अपनी रिज्यूमे में लिख कर अपना भविष्य सुगम और बेहतर बना सकते हैं. 

4. बनें टेक सैवी (Tech Savvy)
महामारी से पहले छात्र ऑफिस जाकर प्रशिक्षण (Training) हासिल किया करते थे, जबकि अब सब कुछ ऑनलाइन (Online) हो गया है. वर्चुअल इंटर्नशिप की मदद से छात्र तकनीक और संवाद के नए तौर-तरीके सीख और समझ सकते हैं. इससे आप कई तरह के नए सॉफ्टवेयर (Software) और ऐप्स (Apps) पर काम करना सीख सकते हैं. तकनीकी जानकारी हासिल करने से भविष्य में आप जिस भी कंपनी में काम करेंगे, वहां इस तरह के सॉफ्टवेयर व ऐप्स पर काम करना आसान रहेगा. 
 
5. रिज्यूमे में सुधार
घर से काम करने से प्रबंधन और अनुशासन के गुण विकसित होते हैं. सबसे बड़ी बात है कि ऐसी इंटर्नशिप की मदद से आप अपने रिज्यूमे में अंतर्राष्ट्रीय कार्य का अनुभव दर्ज कर सकते हैं. ये इंटर्नशिप छात्रों को खुद पहल करने के लिए जिम्मेदार बनाती हैं. इससे छात्र भविष्य में किसी भी इंटरव्यू (Interview) में अच्छा इंप्रेशन (Impression) जमा सकते हैं. 

करियर संबंधी अन्य लेख पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें