UP: इस तरह छात्रवृत्ति लेने वालो छात्रों पर होगी कार्रवाई, जानें योगी सरकार का प्लान

उत्तर प्रदेश में हर साल गरीब परिवारों के 56 लाख से अधिक छात्र-छात्राओं को दशमोत्तर छात्रवृत्ति, शुल्क प्रतिपूर्ति एवं पूर्व दशम छात्रवृत्ति योजना लाभ दिया जाता है. जिसके लिए सरकार करीब 4500 करोड़ रुपए खर्च करती है. चूंकि अगले वर्ष विधानसभा के चुनाव होने हैं, इसलिए सरकार की कोशिश है कि इससे पहले सभी छात्र-छात्राओं को छात्रवृत्ति मिल जाए.

UP: इस तरह छात्रवृत्ति लेने वालो छात्रों पर होगी कार्रवाई, जानें योगी सरकार का प्लान

नई दिल्ली. उत्तर प्रदेश के 56 लाख से अधिक छात्रों को इस बार एक महीने पहले स्कॉलरशिप दी जाएगी. ऐसे में इस बार 27 दिसंबर को ही स्कॉलरशिप मिल जाएगी. इससे पहले राज्य सरकार द्वारा 2 अक्टूबर और 26 जनवरी को स्कॉलरशिप दी जाती थी. इस संबंध में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आदेश जारी कर दिया है. जिसके बाद समाज कल्याण विभाग की तरफ से तैयारियां शुरू कर दी गई हैं. 

यूपी में हर वर्ष 56 लाख छात्रों को मिलता है स्कॉलरशिप
उत्तर प्रदेश में हर साल गरीब परिवारों के 56 लाख से अधिक छात्र-छात्राओं को दशमोत्तर छात्रवृत्ति, शुल्क प्रतिपूर्ति एवं पूर्व दशम छात्रवृत्ति योजना लाभ दिया जाता है. जिसके लिए सरकार करीब 4500 करोड़ रुपए खर्च करती है. चूंकि अगले वर्ष विधानसभा के चुनाव होने हैं, इसलिए सरकार की कोशिश है कि इससे पहले सभी छात्र-छात्राओं को छात्रवृत्ति मिल जाए.

बीते दिनों टीम-9 की बैठक में लिया गया था फैसला
स्कूल-कालेजों में अन्य पिछड़ा वर्ग, अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति संवर्ग के छात्र-छात्राओं को छात्रवृत्ति का भुगतान समयबद्ध ढंग से करने के निर्देश दिए हैं. उन्होंने कहा कि यह छात्रवृत्ति विद्यार्थियों के लिए अत्यंत उपयोगी है. ऐसे में स्कॉलरशिप बितरित करने में देरी न की जाए.

इन छात्रों को किया जाएगा ब्लैकलिस्ट
वहीं, इस बार ऐसे छात्रों को ब्लैकलिस्ट किया जाएगा, जो सरकार से स्कॉलरशिप ले लेते हैं और स्कूलों को फीस नहीं जमा करते हैं. इसको लेकर समाज कल्याण विभाग की तरफ से नियम भी बनाया जा रहा है. 

WATCH LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.