Career Tips: आने वाले समय में होगी इन स्किल्स की डिमांड, एडमिशन से पहले जानिए एक्सपर्ट की राय

Career Tips:  किन क्षेत्रों में आने वाले समय में काफी स्कोप है और छात्र उस तरफ अपना करियर बना सकते हैं.

Career Tips: आने वाले समय में होगी इन स्किल्स की डिमांड, एडमिशन से पहले जानिए एक्सपर्ट की राय

नई दिल्ली: Career Tips: कोरोना वायरस संक्रमण के चलते इस साल बोर्ड की परीक्षाएं नहीं हो सकीं. स्टूडेंट्स को अपने रिजल्ट का इंतजार है. साथ ही साथ उन्हें इस दौरान अपने जीवन का अहम फैसला भी लेना है कि आगे आपना करियर किस तरीके से बनाया जाए.  ऐसे में एक दुनिया स्किल्ड बेस्ड एजुकेशन की भी है. जहां आने वाले समय में बहुत स्कोप की संभावनाएं जताई जा रही हैं. या फिर ये भी कह सकते हैं कि आप चाहे, जो भी पढ़ें, साथ में कुछ स्किल्स का होना काफी जरूरी है. 

इस विषय में जानने के लिए हमने स्किल एजुकेशन के क्षेत्र में काम करने वाली संस्था स्किलइनेबल के संस्थापक Nirpeksh Kumbhat से बात की. उन्होंने बताया कि किन क्षेत्रों में आने वाले समय में काफी स्कोप है और छात्र उस तरफ अपना करियर बना सकते हैं.

ये भी पढ़ें- Current Affairs: आखिर ये क्लबहाउस क्या बला है, क्यों हो रही है इसकी चर्चा? 

डेटा साइंस में जबरदस्त स्कोप
निरपेक्ष कहते हैं कि लिंक्डइन के मुताबिक, 2020 में उद्योग जगत में एनालिटिकल, डेटा-उन्मुख कौशल जैसे आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की मांग सबसे ज्यादा रही है.  डेटा साइन्स तेजी से उभरता क्षेत्र है और इसका उपयोग विभिन्न क्षेत्रों जैसे चिकित्सा, शिक्षा, कृषि कारोबार, फार्मास्युटिकल, मीडिया- एंटरटेनमेन्ट, बैंकिंग- फाइनैंशियल संस्थानों में किया जा रहा है.  परिणामस्वरूप डेटा साइन्टिस्ट की मांग तेज़ी से बढ़ रही है. खास बात यह है कि इसमें सबसे ज्यादा वेतन भी मिलता है. फ्रैशर के लिए डेटा साइन्स में राष्ट्रीय औसत वेतन सालाना 10,00,000 रुपये है.

आने वाले समय में जॉब्स के लिए जरूरी हैं ये स्किल्स
निरपेक्ष  वर्ल्ड इकोनोमिक फोरम की रिपोर्ट का हवाला देते हुए बताते हैं कि 2022 तक 42 फीसदी नौकरियों में बड़े बदलाव आ जाएंगे, इन नौकरियों के लिए एनालिटिक्स, डिज़ाइन थिंकिंग, कॉम्प्लेक्स प्रोब्लम-सॉल्विंग में स्किल्स की जरूरत होगी.  इसके अलावा बिज़नेस कम्युनिकेशन, पर्सनल नेटवर्किंग, क्रिएटिव राइटिंग, ईमेल कम्युनिकेशन, निर्णय निर्धारण, स्पष्ट कम्युनिकेशन जैसे स्किल्स का भी आना काफी जरूरी है. 

बदल गई है कंपनियों की डिमांड
निरपेक्ष बताते हैं कि अब एम्पलॉयर्स सिर्फ डिग्री नहीं देखते. वे अपने लिए ऐसा उम्मीदवार चुनना चाहते हैं, जिसमें उद्योग जगत के लिए जरूरी कौशल हों. एम्पलॉयर्स भी अपनी कंपनी के लिए कुशल कार्यबल चुनना चाहते हैं. ऐसे में सही कौशल के साथ छात्र अपने लिए सही करियर बना सकते हैं. 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.