कोरोना संकट के बाद भी इस बड़े संस्थान ने प्लेसमेंट के मामले में तोड़ा रिकॉर्ड

कोविड-19 लॉकडाउन के चलते आई आर्थिक मंदी और कई कंपनियों द्वारा नौकरियों की पेशकश वापस लेने के बावजूद संस्थान ने कैंपस प्लेसमेंट में पिछले सालों का रिकार्ड तोड़ दिया.

कोरोना संकट के बाद भी इस बड़े संस्थान ने प्लेसमेंट के मामले में तोड़ा रिकॉर्ड

नई दिल्ली: कोविड-19 लॉकडाउन के चलते आई आर्थिक मंदी और कई कंपनियों द्वारा नौकरियों की पेशकश वापस लेने के बावजूद दिल्ली के भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान ने कैंपस प्लेसमेंट में पिछले सालों का रिकार्ड तोड़ दिया. अधिकारियों के अनुसार संस्थान से स्नातक कर रहे विद्यार्थियों को राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय संगठनों से 1100 से अधिक ऑफर मिले जिनमें प्लसमेंट से पहले के भी ऑफर हैं.

ऑफिस ऑफ करियर सर्विसेज के प्रमुख एस धर्मराजा ने कहा, ‘‘आईआईटी दिल्ली में नौकरी प्लेसमेंट पिछला सारा रिकार्ड तोड़ दिया है. इस साल पाया गया कि प्लेसमेंट ऑफर चार फीसदी बढ़ गया. स्नातक और स्नातोकोत्तर के 85.6 फीसदी विद्यार्थियों ने संस्थान की प्लेसमेंट सेवाएं मांगी थीं उन्हें नौकरी मिली. ’’

उन्होंने कहा, ‘‘ बाकी विद्यार्थियों ने उच्च अध्ययन, शोध, सिविल सेवा परीक्षा, स्टार्टअप जैसे अन्य विकल्प चुने और उन्हें अपने संपर्क और प्रयास से काम मिल गए.’’

आईआईटी को इससे पहले अपने प्लेसमेंट अभियान का दूसरा चरण फिर से आयोजित करना पड़ा क्योंकि कई कंपनियों ने अपने ऑफर निरस्त कर दिये थे. इस महामारी के दौरान प्लेसमेंट का दूसरा चरण ऑनलाइन तरीके से जारी रहा और करीब 100 विद्यार्थियों को नौकरी की पेशकश मिलीं.

इनपुट: भाषा