close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कर्नाटक: 'जाना था जापान पहुंच गए चीन' तर्ज पर बागी MLA को जाना था गोवा, लेकिन...

कर्नाटक की जेडीएस-कांग्रेस सरकार के खिलाफ बगावत करने वाले सभी 15 विधायक सोमवार को मुंबई से निकले तो थे गोवा जाने के लिए लेकिन उनका रास्ता अचानक बदल दिया गया. इस बदलाव के लिए वजह राजनीतिक नहीं थी यह ज्यादा गौरतलब है.

कर्नाटक: 'जाना था जापान पहुंच गए चीन' तर्ज पर बागी MLA को जाना था गोवा, लेकिन...

मुंबई: कर्नाटक के बागी विधायकों की कहानी बिल्कुल उस हिंदी फिल्म के गाने की तरह हो गई है, जिसके बोल थे, 'जाना था जापान पहुंच गए चीन'. कर्नाटक की जेडीएस-कांग्रेस सरकार के खिलाफ बगावत करने वाले सभी 15 विधायक सोमवार को मुंबई से निकले तो थे गोवा जाने के लिए लेकिन उनका रास्ता अचानक बदल दिया गया. इस बदलाव के लिए वजह राजनीतिक नहीं थी यह ज्यादा गौरतलब है.

सोमवार को बाग़ी विधायकों को नियंत्रित करने वाले हैंडलर का फैसला था कि इन विधायकों को अज्ञात स्थान पर रखा जाए. ताकि उनसे होने वाले सभी संपर्क असफल हो. यहां बता दें कि, बाग़ी विधायकों तक पहुंचने की हर संभव कोशिश कर्नाटक के राजनीतिक हलकों से लगातार हो रही थी. कर्नाटक की जेडीएस-कांग्रेस सरकार के खिलाफ़ बगावत कर विधायक भाजपा शासित राज्य महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई के एक पांचसितारा होटल में पिछले कुछ दिनों से रुके हुए थे.

मीडिया में यह खबर सुर्खियों में आने के बाद बाग़ी विधायकों का ठिकाना सार्वजनिक हो गया. जिससे उन तक पहुंचना आसान था. ऐसे में किसी विधायक के हाथ से छूट जाने का डर देखते हुए सोमवार को इन सभी विधायकों को गोवा ले जाने का प्लान तैयार किया गया. बागी विधायकों को गोवा ले जाने के लिए एक चार्टर्ड फ्लाइट मुंबई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर तैयार रखी गई थी. लेकिन, बिगड़े मौसम ने इसमें खलल डाल दिया. खराब मौसम के चलते सोमवार को मुंबई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर अफरा-तफरी का माहौल था.

करीब आधे घंटे तक विमानों के आने-जाने पर रोक थी. जब मौसम खुला उसके बाद भी विमानों का शेड्यूल बिगड़ा ही रहा. इस चक्कर में बागी विधायकों का चार्टर्ड फ्लाइट गोवा की तरफ उड़ान भर ही नहीं सका. ऐसे में विधायकों के रूट को बदलने का फैसला लिया गया. मौजूदा सूचना के अनुसार, इन विधायकों को सोमवार देर सवेर सड़क के रास्ते पुणे की तरफ निकाला गया और वहां से इन्हें दक्षिण की तरफ सतारा शहर के दिशा में ले जाया गया. मंगलवार सुबह तड़के से यह सभी विधायक सतारा स्थित एक रिसॉर्ट पर रखे गए हैं.

इस पूरी घटनाक्रम में किसी भी और सूचना को सार्वजनिक न होने देने की पूरी कोशिश अब की जा रही है. ताकि इन विधायकों तक कर्नाटक से होने वाले किसी भी राजनीतिक संपर्क की कोशिश सफल ना हो. बाग़ी विधायकों की इस आवाजाही को लेकर शक की सुई महाराष्ट्र भाजपा की तरफ उठती देख पार्टी ने अपना खुलासा मीडिया को दे दिया है. महाराष्ट्र भाजपा के मुख्य प्रवक्ता माधव भांडारी ने ज़ी मीडिया से बातचीत में कहा कि, बाग़ी विधायक अपने बूते पर यहां वहां जा रहे हैं. उनके आवागमन को लेकर कोई भी सूचना या हस्तक्षेप भाजपा द्वारा होने की बात भंडारी ने सिरे से खारिज की है.