close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

चुनावी टेंशन कहें या जुबान का फिसलना? CM सिद्धरमैया करने लगे PM नरेंद्र मोदी की तारीफ

सिद्धरमैया मांड्या जिले में मालावल्ली में कांग्रेस विधायक नरेंद्र स्वामी के लिए चुनाव प्रचार कर रहे थे और वह नरेंद्र स्वामी को दो बार गलती से नरेंद्र मोदी बोल गये.

चुनावी टेंशन कहें या जुबान का फिसलना? CM सिद्धरमैया करने लगे PM नरेंद्र मोदी की तारीफ
कर्नाटक चुनाव प्रचार में कांग्रेस और बीजेपी के नेता एक दूसरे पर हमला करने में गलतियां कर रहे हैं. तस्वीर साभार: IANS/PTI

बेंगलूरू: कर्नाटक में विधानसभा चुनाव प्रचार का अंतिम दौर में पहुंच चुका है. मुख्य पार्टियां कांग्रेस और बीजेपी एक-दूसरे पर जोरदार हमले कर रहे हैं. इसी बीच दोनों तरफ के नेता गलती से विरोधी दलों के नेताओं की तरीफ कर रहे हैं. इस बार मुख्यमंत्री सिद्धरमैया की जुबान फिसल गई और वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ कर बैठे. उन्होंने कहा कि 12 मई को होने वाले कर्नाटक विधानसभा चुनाव में नरेंद्र मोदी को पड़ने वाले हर वोट का मतलब होगा कि ‘यह वोट मुझे दिया गया है.’ इससे पहले बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह अपनी ही पार्टी के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार बीएस येदियुरप्पा की सरकार को सबसे भ्रष्ट बता चुके हैं.

भाषण में नरेंद्र स्वामी की जगह नरेंद्र मोदी बोल गए सिद्धरमैया
यह घटना तब हुई जब सिद्धरमैया मांड्या जिले में मालावल्ली में कांग्रेस विधायक नरेंद्र स्वामी के लिए चुनाव प्रचार कर रहे थे और वह नरेंद्र स्वामी को दो बार गलती से नरेंद्र मोदी बोल गये.

सिद्धरमैया ने कहा , ‘यदि सड़कों का काम हुआ है , पक्की सड़कें, पानी निकासी, पेयजल सुविधाएं वहां हैं, यदि मकानों का निर्माण हुआ है तो यह सब नरेंद्र मोदी और हमारी सरकार की वजह से है.’ 

भूल का अहसास होने पर कही ये बात
उनके पास खड़े लोगों ने जब उन्हें उनकी गलती की तरफ ध्यान दिलाया तो उन्होंने भूल सुधार किया और कहा , ‘माफी चाहता हूं नरेंद्र स्वामी.’ उन्होंने कहा , ‘नरेंद्र महत्वपूर्ण है. यहां स्वामी हैं, मोदी वहां गुजरात के लिए हैं. नरेंद्र मोदी झूठे हैं और नरेंद्र स्वामी सच्चे हैं.’ नरेंद्र स्वामी के लिए प्रचार जारी रखते हुए सिद्धरमैया दूसरी बार फिर गलती कर बैठे.

उन्होंने कहा, ‘हर किसी को यह समझ लेना चाहिए कि नरेंद्र मोदी को पड़ा हर वोट...मुझे वोट करने जैसा है.’ स्वामी सहित उनके पास खड़े लोगों ने फिर उन्हें उनकी गलती की तरफ ध्यान दिलाया. तब उन्होंने फिर से अपनी गलती सुधारी. सिद्धरमैया की जुबान ऐसे समय फिसली जब चुनाव प्रचार के दौरान उनके और मोदी के बीच वाकयुद्ध चल रहा है.

क्या पीएम के भाषण से भूख मिटती है: सोनिया गांधी
यूपी, गुजरात जैसे बड़े राज्यों में चुनाव प्रचार से दूर रहीं कांग्रेस की वरिष्ठ नेता सोनिया गांधी कर्नाटक में अपनी पार्टी के लिए वोट मांगने उतरीं. संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर कांग्रेस मुक्त भारत का ‘भूत सवार हो गया है’ और पिछले चार साल में उनकी एकमात्र उपलब्धि पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकारों के अच्छे कामों पर मिटृी डालने की रही है. 

उन्होंने कहा कि समाज के सभी वर्ग समस्याओं का सामना कर रहे हैं. उन्होंने साथ ही प्रधानमंत्री के भ्रष्टाचार खत्म करने के ‘‘ पसंदीदा वादे ’’ को लेकर उनपर सवाल उठाए. यह पिछले दो सालों में उनकी पहली चुनावी रैली थी. 

सोनिया ने मोदी पर तंज कसते हुए कहा, ‘मोदी जी इस बात को लेकर गर्व महसूस करते हैं कि वह बहुत अच्छे वक्ता हैं. वह एक अभिनेता की तरह बोलते हैं. अगर उनके भाषण से देश की भूख मिटती है तो मैं कामना करती हूं कि वह और भाषण दें.’ 

पीएम मोदी ने सोनिया के चुनाव प्रचार कसने पर कसा तंज
उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव से पहले वाराणसी में एक रोड शो के दौरान एकाएक बीमार पड़ने के बाद से सोनिया चुनाव प्रचार अभियानों से दूर थीं. 

सोनिया की रैली से पहले प्रधानमंत्री ने यहां अपनी रैली में राहुल गांधी पर तंज कसते हुए कहा था कि अब तो उनकी पार्टी के नेताओं ने भी कर्नाटक में कांग्रेस को जीत दिलाने की उनकी क्षमता पर संदेह करना शुरू कर दिया है.